Poems For Kids

Poetry for children: Our large assortment of poems for children include evergreen classics as well as new poems on a variety of themes. You will find original juvenile poetry about trees, animals, parties, school, friendship and many more subjects. We have short poems, long poems, funny poems, inspirational poems, poems about environment, poems you can recite

भारत का आधार हिंदी Short Poem on Hindi Divas

भारत का आधार हिंदी Short Poem on Hindi Divas

भारत का आधार हिंदी Short Poem on Hindi Divas भारत का आधार है हिंदी, भारतीय का संस्कार है हिंदी। भारत माँ का प्यार है हिंदी, जय हिन्द का प्रचार है हिंदी।। हिन्द का अभियान है हिंदी, मुस्लिम का ईमान है हिंदी। सिक्खों का गर्व है हिंदी, भारत में एक पर्व है हिंदी।। कविता का उद्गार है हिंदी, अंधकार में प्रकाश …

Read More »

शिक्षक – विनीता सैमुअल

Short Hindi Poetry About Class Teacher शिक्षक

जीवन में जो राह दिखाए, सही तरह चलना सिखाए। मात-पिता से पहले आता, जीवन में सदा आदर पाता। सबको मान प्रतिष्ठा जिससे, सीखी कर्तव्यनिष्ठा। कभी रहा न दूर मैं जिससे, वह मेरा पथदर्शक है जो। मेरे मन को भाता, वह मेरा शिक्षक कहलाता। कभी है शांत, कभी है धीर, स्वभाव में सदा गंभीर, मन में दबी रहे ये इच्छा, काश …

Read More »

ये शिक्षक कहलाते हैं: हिंदी कविता

Teacher's Day Special Hindi Poem ये शिक्षक कहलाते हैं

रोज सुबह मिलते है इनसे, क्या हमको करना है, ये बतलाते हैं। ले के तस्वीरें इन्सानों की, सही गलत का भेद हमें, ये बतलाते हैं। कभी ड़ांट तो कभी प्यार से, कितना कुछ हमको, ये समझाते हैं। है भविष्य देश का जिन में, उनका सबका भविष्य, ये बनाते हैं। है रगं कई इस जीवन में, रगों की दुनिया से पहचान, …

Read More »

साइंस टीचर – आयुष डांगी

Hindi Bal Kavita about Science Teacher साइंस टीचर

ये हैं हमारे साइंस के टीचर, जिनमें हैं कई मेन फीचर। ताकत उनकी इतनी सुपर, चाहें तो उठा दें स्कूटर। पढ़ना उनका है एक गुण, न है उनमे कोई अवगुण। साइंस में हैं वो हमारे लीडर, प्रॉब्लम सोल्वे करें जैसे कम्प्यूटर। हम न करें कभी उनकी निंदा, दिखने में एकदम हैं गोविंदा। ∼ आयुष डांगी [Class – 7th (B), Maria Assamvata …

Read More »

देवा श्री गणेशा – अमिताभ भट्टाचार्य

Ajay-Atul Gogavale Ganesh Chaturthi Devotional Bollywood Song देवा श्री गणेशा

देवा श्री गणेशा, देवा श्री गणेशा ज्वाला सी जलती है आँखो मे जिसके भी दिल मे तेरा नाम है पर्वा ही क्या उसका आरंभ कैसा है और कैसा परिणाम है धरती अंबर सितारे, उसकी नज़रे उतारे डर भी उससे डरा रे, जिसकी रखवालिया रे करता साया तेरा हे देवा श्री गणेशा देवा श्री गणेशा, देवा श्री गणेशा तेरी भक्ति तो …

Read More »

मोरया रे – जावेद अख्तर

Shankar Mahadevan's Ganesh Chaturthi Devotional Song मोरया रे

मेरे सारे पलछिन सारे दिन तरसेंगे सुन ले तेरे बिन तुझको फिर से जलवा दिखाना ही होगा अगले बरस आना है आना ही होगा देखेंगी तेरी राहें, प्यासी प्यासी निगाहें तो मान ले तू मान भी ले कहना मेरा लौट के तुझको आना है सुन ले कहता दीवाना है जब तेरा दर्सन पाएंगे चैन तब हमको पाना है मोरया मोरया …

Read More »

इसी देश में – प्रभुदयाल श्रीवास्तव

Inspirational Desh Prem Poetry इसी देश में

इसी देश में कृष्ण हुये हैं, इसी देश में राम। सबसे पहिले जाना जग ने, इसी देश का नाम। इसी देश में भीष्म सरीखे, दृढ़ प्रतिज्ञ भी आये। इसी देश में भागीरथजी, भू पर‌ गंगा लाये। इसी देश में हुये कर्ण से, धीर वीर धन‌ दानी। इसी देश में हुये विदुर से, वेद ब्यास से ज्ञानी। सत्य अहिंसा प्रेम सिखाना, …

Read More »

हे गोबिंद हे गोपाल – जगजीत सिंह

Hey Govinda Hey Gopala

ਮਲਾਰ ਮਹਲਾ ੫ ॥ मलार महला ५ ॥ ਹੇ ਗੋਬਿੰਦ ਹੇ ਗੋਪਾਲ ਹੇ ਦਇਆਲ ਲਾਲ ॥੧॥ ਰਹਾਉ ॥ हे गोबिंद हे गोपाल हे दइआल लाल ॥१॥ रहाउ ॥ O Lord of the Universe, O Lord of the World, O Dear Merciful Beloved. ||1||Pause|| ਪ੍ਰਾਨ ਨਾਥ ਅਨਾਥ ਸਖੇ ਦੀਨ ਦਰਦ ਨਿਵਾਰ ॥੧॥ प्रान नाथ अनाथ सखे दीन दरद निवार ॥१॥ You …

Read More »

कदम कदम बढ़ाये जा – राम सिंह ठाकुर

कदम कदम बढ़ाये जा - राम सिंह ठाकुर

कदम कदम बढ़ाये जा खुशी के गीत गाये जा, ये जिंदगी है क़ौम की तू क़ौम पे लुटाये जा… तू शेर-ए-हिन्द आगे बढ़ मरने से तू कभी न डर, उड़ा के दुश्मनों का सर जोश-ए-वतन बढ़ाये जा… कदम कदम बढ़ाये जा खुशी के गीत गाये जा, ये जिंदगी है क़ौम की तू क़ौम पे लुटाये जा… हिम्मत तेरी बढ़ती रहे …

Read More »

जब जीरो दिया मेरे भारत ने – इन्दीवर

जब जीरो दिया मेरे भारत ने - इन्दीवर

जब जीरो दिया मेरे भारत ने, दुनिया को तब गिनती आयी, तारो की भाषा भारत ने, दुनिया को पहले सिखलाई, देता ना दशमलव भारत तो, यू चांद पे जाना मुश्किल था, धरती और चांद की दूरी का अंदाजा लगाना मुश्किल था, सभ्यता जहाँ पहले आयी, पहले जन्मी है जहाँ पे कला, अपना भारत वो भारत है, जिस के पीछे संसार …

Read More »