लाफ्टर इस द बेस्ट मेडिसिन: क्यों जरूरी है हँसना

लाफ्टर इज द बेस्ट मेडिसिन: क्यों जरूरी है हँसना

रोजमर्रा की भागदौड़ भरी जिंदगी से खुशियों और चैन का नाता कब टूट गया – पता ही नहीं चला। इसका नतीजा है ढेर सारी बीमारियां। कहीं डिप्रेशन ने डसा है तो कहीं तनाव हावी है। हम ठीक से जीना भी भूलते जा रहे हैं। फिर कैसे याद रहे खुलकर हँसना और मुस्कुराना? हल्की-सी मुस्कराहट किसी की खूबसूरती में चार चांद लगा देती है, ‘लाफ्टर इज द बेस्ट मेडिसिन‘, प्रकृति भी हमें यही संदेश देती है। बारिश के बाद खिली धूप, खिला हुआ फूल, लहलहाते हरे-भरे पेड़ अपनी खुशी का अहसास दिलाते हैं। उनकी इसी खुशी को देख कर हम सबका मन भी खुश होता है।

इसी तरह जब हम सब खुश एवं स्वस्थ रहेंगे तो अपने आसपास का वातावरण भी खुशनुमा बना सकते हैं।

Health Is Above Wealth

हँसने से फायदे (लाफ्टर इज द बेस्ट मेडिसिन):

  1. हँसने से हार्ट अटैक और दिल से जुड़ी अन्य बीमारियों से बचाव: खुलकर हँसने से हमारे शरीर में ब्लड सर्कुलेशन सही बना रहता है। जब हम हँसते हैं तो हमारे शरीर में ज्यादा मात्रा में ऑक्सीजन पहुंचती है, जो हार्ट पंपिग रेट को ठीक रखने में मदद करती है। हँसने हमारा दिल बेहतर तरीके से काम करने लगता है। साथ ही, नियमित रूप से हँसने से हार्ट अटैक और दिल से जुड़ी अन्य बिमारियों से बचा जा सकता है। हँसने से हृदय की एक्सरसाइज हो जाती है, रक्त का संचार अच्छी तरह होता है। हँसने पर शरीर से एंडोफिन रसायन निकलता है, जो हृदय को मजबूत बनाता है। अतः हँसने से हार्टअटैक की संभावना कम हो जाती है।
  2. हँसने से तनाव मुक्ति और सामाजिक खुशहाली: हँसी में तनाव, दर्द और झगड़े आदि को खत्म करने की कमाल की शक्ति होती है। दिमाग और शरीर पर प्रभावी रूप से जो काम हँसी कर सकती है, वह दुनिया की कोई दवा नहीं कर सकती। इससे हम ज्यादा सामाजिक बनते हैं और लोगों के साथ बेहतर तरीके से जुड़े रहने पर हम तनाव या अवसाद जैसी समस्या से निजात पाते हैं। साथ ही खुलकर हँसने से सारा तनाव बहार निकल जाता है और हम बिलकुल तनाव मुक्त रहते हैं। ऐसे में तनाव से होने वाली मानसिक व शारीरिक समस्याओं से बचाव होता है तथा सामाजिक खुशहाली बहाल होती है।
  3. बीपी कंट्रोल: हँसने से ब्लड वैसल्स में हुए फैलाव से खून का बहाव तेज होता है। हार्ट चैंबर में खून का दौरा ठीक होने से कार्डियो वेस्क्युलर समस्याओं से बचाव होता है। खुलकर हँसने से व्यक्ति के फालतू विचार छूट जाते हैं तथा वह सब भूलकर फिल गुड़ फैक्टर में खो जाता है। इससे भी ब्लड प्रेशर नियंत्रित होता है।
  4. इम्यून सिस्टम पर असर: इम्यून सिस्टम का सभी बीमारियों से लड़ने में महत्वपूर्ण रोल है। हमारे शरीर को ठीक रखने में नेगेटिव थिंकिंग यानी नकारात्मक भाव हमारे अंदर तनाव, अवसाद और गुस्से को जन्म देते हैं। इनसे हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता तो कमजोर होती ही है, साथ ही बाहरी रोगों से लड़ने और उन्हें झेलने की ताकत कको भी कम कर देती है। हँसने और खुश रहने से हमारे शरीर के प्राकृतिक किलर सेल्स यानी एंटीबॉडीज मजबूत होते हैं।
  5. दर्द से छुटकारा: लोरिडा के अस्पताल में सर्जरी के बाद के कुछ रोगियों पर किए गए प्रयोगों ने यह स्पष्ट दिखाया है कि हँसी-खुशी की क्लास ने बिना दर्द निवारक दवाओं के उनको दर्द से राहत दिलाई और कुछ देर के लिए वे अपना दुख-दर्द भूल गए।
  6. सुकून की नींद: अगर रात में आसानी से नींद नहीं आती तो हँसने की आदत डाल लें। हँसने से शरीर में मेलाटॉनिन (Melatonin) नाम का हार्मोन बनता है, जो हमें सुकून की नींद देने में मदद करता है।
  7. यंग और खूबसूरत: यंग और खुबसूरत दिखने की हर किसी की चाहत होती है। अगर आप भी उनमें से एक हैं, तो खुलकर हँसना शुरू कर दें। क्योंकि जब हम हँसते हैं तो हमारे चेहरे में मौजूद मांसपेशियां अच्छी तरह से काम करने लगती हैं, जिससे चेहरे के चारों तरफ ब्लड सर्कुलेशन अच्छी तरह से होता है, जो हमें यंग और खूबसूरत दिखाता है।
  8. हँसने कसे कैंसर दूर: शरीर में ऑक्सीजन की कमी से कैंसर कोशिका और कई प्रकार के हानिकारक बैक्टीरिया और वायरस जन्म लेते हैं। लेकिन हँसने से हमारे शरीर के हानिकारक बैक्टरिया नष्ट हो जाते हैं। साथ ही इससे शरीर का प्रतिरक्षा तंत्र भी मजबूत होता है।
  9. हँस कर पाएं सकारात्मक ऊर्जा: हँसी से हम अपने दिल व दिमाग के बोझ को तो कम कर पाते ही हैं, साथ ही खुश रहने से हमारे अंदर सकारात्मक ऊर्जा का संचार भी होता है। सकारात्मक रह कर हम जो काम करते हैं, उस पर बेहतर से फोकस कर पाते हैं। हँसने से हमारी बॉडी रिलेक्स होती है। कुछ देर खुलकर हँसने से मांसपेशियां कम से कम 45 मिनट तक रिलेक्स हो जाती है। इसके अलावा, हँसने से हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढती है। कहते हैं कि एक सकारात्मक व्यक्ति अपने इर्द-गिर्द भी खुशी और आनन्द फैलाता है। तो खूब हँसिये और इर्द-गिर्द भी खुशियां फैलाइए।
  10. हँसने से मोटापा दूर: हँसने से मोटापा दूर होता है और सामान्य मोटापे को भी हंसी नियंत्रित रखती है। दरअसल प्रतिदिन हँसने से करीब 400 कैलोरी ऊर्जा की खपत होती है।
  11. सुबह के समय हास्य योग: सुबह के समय ताजी हवा के बीच हास्य योग करना बेहद फायदेमंद होता है। इससे दिन भर प्रसन्नता बनी रहती है। अगर हास्य योग रात में किया जाए तो नींद बेहतर आती है। मधुमेह, पीठ दर्द और तनाव से पीड़ित लोगों के लिए हास्य योग-बेहद फायदेमंद होता है क्योंकि इससे हमारे शरीर से कई तरह के हौर्मोंस का स्राव होता है, जो इन रोगों में काफी फायदेमंद होता है।

~ विनोद पाण्डेय [Mobile: 7835890063]

Check Also

पेट कम करने के लिए आसान योग आसन

पेट कम करने के लिए आसान योग आसन

पेट कम करने के आसन: ज्यादा फैटी खाना, खराब लाइफस्टाइल, पूरी नींद न लेना, एक्सर्साइज …