स्कूल मैगज़ीन से ली गयी बाल-कविताएँ

क्लास-मॉनिटर: सिया मग्गो

जो क्लास में बने मॉनिटर, कोरी शान दिखाते हैं।
आता-जाता कुछ भी नहीं, पर हम पर रॉब जमाते हैं।

जब क्लास में टीचर नहीं, तो खुद टीचर बन जाते हैं।
कॉपी-पेंसिल लेकर, बस नाम लिखने लग जाते हैं।

खुद तो हमेशा बातें करें, हमें चुप करवाते हैं।
अपनी तो सब गलती माफ, हमें बलि चढाते हैं।

क्लास तो संभाल पाते नहीं, बस चीखते और चिल्लाते हैं।
भगवान बचाए इन मॉनिटर से, इन्हे हम नहीं चाहते हैं।

~ सिया मग्गो (पाँचवीं-बी) St. Gregorios School, Sector 11, Dwarka, New Delhi

GST आया: जयन्त सैनी

अब है नया टैक्स आया, जी.एस.टी. है जो कहलाया।
वैस्ट सेल्स टैक्स सब निपटाया, अकेले जी.एस.टी. ने बवाल मचाया।

कुछ हुआ सस्ता, कुछ हुआ महँगा। हिसाब लगाते सर चकराया।
आया भाई आया, जी.एस.टी. आया।

आशा है जो नये टैक्स से, जीवन होगा आसान।
खूब बढ़ेगा समृद्ध बनेगा, मेरा भारत देश महान।

~ जयन्त सैनी (नवमीं-सी) St. Gregorios School, Sector 11, Dwarka, New Delhi

स्वच्छ भारत:

शहर गली में चर्चा है,
स्वच्छ भारत अभियान की।
आओ बच्चों तुम्हें बताएँ,
महत्ता कचरा दान की।

बिना प्रबंधन बीमारी,
फैले जो दुश्मन जान की।
शहर गली में चर्चा है,
स्वच्छ भारत अभियान की।

कपड़े की झोली विकल्प है,
पॉलीथीन की थैली की।
लहर चल रही सभी ओर अब,
मोदी के अभियान की।

शहर गली में चर्चा है,
स्वच्छ भारत अभियान की।
शौचालय के लाभ समझना,
जरूरत हर इंसान की।

तुम्हारे कंधों पर निर्भर है,
सफलता इस अभियान की।
शहर गली में चर्चा है,
स्वच्छ भारत अभियान की।

~ हार्दिक चौहान (तीसरी-ए) St. Gregorios School, Sector 11, Dwarka, New Delhi

Check Also

This Is My Father: Father's Day Nursery Rhyme

This Is My Father: Father’s Day Nursery Rhyme

This Is My Father – Nursery Rhyme: A nursery rhyme is a traditional poem or …