तंत्र शास्त्र और वशीकरण कला - Law Of Attraction & Vashikaran

तंत्र शास्त्र और वशीकरण कला – Law Of Attraction & Vashikaran

परमेश्वर ने अपने प्रकृति स्वरूप में लिंग भेद कर स्त्री व पुरुष की उत्पत्ति करी ताकि संसार में प्रणय के आधार पर सृजन व प्रजनन हो पाए। परमेश्वर ने स्त्री-पुरुष को एक-दूसरे का पूरक बनाया है, जिसके चलते उनके बीच आत्मिक, मानसिक व शारीरिक आकर्षण विकसित होता है। वैज्ञानिक आधार पर भी विपरीत लिंग के प्रति आकर्षण उत्पन्न होना स्वाभाविक है। विज्ञान के अंतर्गत आकर्षण के सिद्धांत को (Law Of Attraction) कहा गया है। आकर्षण का सिद्धांत नया नहीं है। आदिकाल से आकर्षण के सिद्धांत को हमारे ऋषि-मुनियों ने समझाया है। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार ग्रह-नक्षत्रों के चुम्बकीय प्रभाव ही विचारों की आवृति को बदलते हैं क्योंकि हम सभी जीव प्रकृति के ही अंश हैं। हमारे अंदर भी प्रकृति के कई खनिज मौजूद हैं।

तंत्र शास्त्र में आकर्षण के अनेक प्रयोग बताए गए हैं। आकर्षण के प्रयोग मानव की मनोवैज्ञानिक स्थितियों को ध्यान में रखकर बनाये गए थे। तंत्र शास्त्र में वर्णित आकर्षण के प्रयोग सफल विवाहित जीवन की नींव भी साबित होते है। आकाश में बिखरी हुई अच्छी और बुरी शक्तियों को एकत्रित कर उस बढ़ी हुई शक्ति से किसी व्यक्ति को प्रभावित करने की कला वशीकरण कहलाता है, यह कोई बुरा कार्य नहीं है परन्तु इसे बुरी नजर से देखा जाता है, क्योंकि इसका नाम तंत्र से जुड़ा है। किसी भी स्त्री या पुरुष के मन और शरीर को अपने वश में करने की अदभुद शक्ति वशीकरण कहलाती है। वशीकरण एक असामान्य तंत्र के साथ-साथ एक विज्ञान है। वशीकरण तंत्र को पाना मुश्किल है परंतु असंभव नहीं है।

जीवन की कठिन से कठिन समास्याओं का तुरंत समाधान वशीकरण द्वारा संभव व आसन है जैसे प्यार, प्रेम विवाह, जीवन उदाहरण के रूप में कठिन समस्या के लिए, ग्रहक्लेश, पति-पत्नि अनबन, दुश्मन से छुटकारा, पति-पत्नी का रिश्ता, अदालत के मामले, प्रेम विवाह, नि:संतान के रूप में समस्या, शारीरिक समस्या, परिवार में समस्या, विवाह में रुकावट, ऋण होना, प्रेम में असफलता के लिए वशीकरण का प्रयोग किया जाता है। इस लेख के माध्यम से हम अपने पाठकों को बता रहे हैं की जीवन में सकारात्मकता हेतु किसी को अपने वश में कैसे किया जाए। इस उद्देश हेतु आपको शास्त्रीय उपाय बताने जा रहे हैं, जिससे आप अपने इर्द-गिर्द के लोगों को विशिष्ट सामाग्री गुंजा (चिरमी बीज) के प्रयोग से अपने प्रति आकर्षित कर सकते हैं।

गुंजा एक प्रकार की लता का बीज है जिसका प्रयोग तांत्रिक क्रियाओं हेतु होता है। यह लाल व काले रंग का मिलता है। काले रंग की गुंजा बहुत खास मानी गई है। जिस भी व्यक्ति के पास यह गुंजा होती है, अगर उस पर कोई मुसीबत आने वाली होती है तो इसका रंग स्वत: ही बदल जाता है। जीवनसाथी को आकर्षित करने हेतु उनका नाम नाम स्मरण करते हुए, मिट्टी के एक दीपक में शहद डालकर उसमें गुंजा के पांच दाने डालकर रख दें। आप जिस भी व्यक्ति को वशीभूत करना चाहते हैं उसके कपड़ों में गुंजा के दाने अभिमंत्रित करके रख दें। जब तक वे दाने उस व्यक्ति के कपड़े से बंधे रहेंगे वह वशीकरण के प्रभाव में रहेगा। सामूहिक वशीकरण के लिए गुंजा की माला धारण करनी चाहिए। यह दूसरों पर अच्छा प्रभाव डालता है।

~ आचार्य कमल नंदलाल

Check Also

Anti Terrorism Day - 21 May

Anti Terrorism Day Information For Students

The death anniversary of ex-prime minister of India, Shri Rajiv Gandhi is also observed as …

One comment

  1. Kya gunja such mai effective hai? Mtlb acche kamo ke liye.