Tag Archives: Hinduism folktales For Kids

हनुमान और सुरसा का शिक्षाप्रद प्रंसग

हनुमान जी भगवान राम के परम् भक्त थे। जब लंका का राजा रावण सीता को हर कर ले गया तो राम और लक्ष्मण वन वन सीता को खोजने लगे। एक दिन वे घूमते हुए किष्कंधा पहुचे। वहाँ उनकी उनकी भेंट हनुमान से हुई। हनुमान सुग्रीव के मंत्री थे। उन्होंने सुग्रीव के साथ राम लक्ष्मण की मित्रता कराई। सुग्रीव ने सीता …

Read More »

Krishna & Syamantaka Gem: Lord Krishna Story

Krishna and Syamantaka Gem - Story of Lord krishna youth days

Satrajit, a nobleman of Dwarka, was a devotee of Surya, the Sun God. Surya being pleased with Satrajit’s devotion appeared before him and gifted him the Syamantaka gem. The Syamantaka gem’s specialty was that it could magically produce eight measures of gold a day. Satrajit became a really wealthy man. Krishna then approached Satrajit and told him that he should …

Read More »

King Shibi: Old Classic Indian Folktales

King Shibi

King Shibi was a great ruler. Everything he did was right and noble. He was very kind-hearted. He loved his subjects like his children. He loved animals too and looked after their welfare. He was very charitable and no needy man went away from him without help. He protected the weak against the strong. If anybody sought asylum with him, …

Read More »

Kacha and Devayani: Tales From Indian Classics

Kacha and Devayani: Tales From Indian Classics

The Devas and Asuras were always fighting each other. The Devas were from amongst the Gods. The Asuras were demons. The Asuras were powerful, capable of all kinds of wickedness. Some of them were great rulers and mighty kings. In their fight with the Devas the Asuras had an advantage. They had on their side a great saint and teacher, …

Read More »

शिलाद पत्नी दुर्गावती: वीर राजपूत नारी की लोक कथा

शिलाद पत्नी दुर्गावती

‘हम लोगों ने खुन की नदी बहा दी थी, महाराज!’ खिन्न सैनिक ने कहा। ‘पर महाराज को बहादुरशाह के क्रूर सैनिकों ने बंदी बना लिया।’ सैनिक ने सिर निचा कर लिया। ‘बहादुरशाह तो हुमायूँ का एक छोटा सरदार है’ राय ने दुर्ग की अधिपति शिलाद के छोटे भाई लक्ष्मण ने रोष के साथ उत्तर दिया। ‘यदि स्वयं हुमायूँ भी आ …

Read More »

बीकानेर की वीरांगना: वीर राजपूत नारी की लोक कथा

बीकानेर की वीरांगना: वीर राजपूत नारी की लोक कथा

अपने सतीत्व और पतिव्रता – धर्म की रक्षा करना ही भारतीय स्त्रियों के जीवन का एक अनुपम और पवित्र आदर्श रहा है। उनके सतीत्व के वज्राघात से बड़े-बड़े साम्राज्यों की नींव हिल उठी, राजमुकुट धूलि में लोटने लगे, मानव – वेषधारी दानवों की दानवता और व्यभिचारमूल्क अत्याचार का अन्त हो गया। किरण देवी या राजरानी किरण देवी मेवाड़ सूर्य महाराणा …

Read More »

छत्रपति शिवाजी महाराज के प्रेरक प्रसंग

छत्रपति शिवाजी महाराज के प्रेरक प्रसंग

एक बार छत्रपति शिवाजी महाराज जंगल में शिकार करने जा रहे थे। अभी वे कुछ दूर ही आगे बढे थे कि एक पत्थर आकर उनके सर पे लगा। शिवाजी क्रोधित हो उठे और इधर-उधर देखने लगे, पर उन्हें कोई भी दिखाई नहीं दे रहा था, तभी पेड़ों के पीछे से एक बुढ़िया सामने आई और बोली, “ये पत्थर मैंने फेंका …

Read More »