मुबारक ईद मुबारक - जलीस शेरवानी

मुबारक ईद मुबारक Eid Special Bollywood Song

मुबारक ईद मुबारक: जलीस शेरवानी

अस्सलाम अलैकुम अस्सलाम,
ईद का है यारो यह पयाम…
यह ईद का त्यौहार है, खुशियो का है त्यौहार…

ना तेरा है ना मेरा है यह सब का है त्यौहार
यह प्यार का पैगाम है यह प्यार का पैगाम
मुबारक ईद मुबारक…

चाहे वोह रहमान हो या भाई अपना राम,
हिन्दू मुस्लिम सिख इसाई, सब को है सलाम…

बस प्यार ही आघाज़ हो और प्यार ही अंजाम
खुशियो के इस मौसम की कभी ना आये श्याम

यह ईद का त्यौहार है, खुशियो का है त्यौहार
ना तेरा है ना मेरा है यह सब का है त्यौहार
यह प्यार का पैगाम है यह प्यार का पैगाम
होए, मुबारक ईद मुबारक, मुबारक ईद मुबारक

मुबारक ईद मुबारक…

हो, जो भी समझे प्यार को
वोह है सब का यार
प्यार नही तो कुछ भी नही
प्यार से है संसार

ओये ईद दा जप्पी पाके यारो,
रब दा शुकर मनाये…
अरे तेरा मेरा छड्के यारो सब्नो गले लगाए
के मै झूठ बोलिया, ओ के मै कुफेर तोलिया
ओ के मै झूठ बोलिया, के मै कुफेर तोलिया…

यह ईद का त्यौहार है, खुशियो का है त्यौहार
ना तेरा है ना मेरा है यह सब का है त्यौहार

यह प्यार का पैगाम है यह प्यार का पैगाम
मुबारक ईद मुबारक…

अस्सलाम अलैकुम अस्सलाम
ईद का है यारो यह पयाम
यह ईद का त्यौहार है, खुशियो का है त्यौहार
ना तेरा है ना मेरा है यह सब का है त्यौहार
यह प्यार का पैगाम है यह प्यार का पैगाम…

∼ जलीस शेरवानी

चित्रपट : तुमको ना भूल पाएंगे (2002)
निर्माता : गोरधन तनवानी
निर्देशक : पंकज पराशर
लेखक : रूमी जाफरी
गीतकार : जलीस शेरवानी
संगीतकार : साजिद वाजिद
गायक : सोनू निगम, स्नेहा पंत, अरविंदर सिंह
सितारे : सलमान खान, सुष्मिता सेन, दिया मिर्ज़ा, इन्दर कुमार

Tumko Na Bhool Paayenge” is a 2002 Bollywood romantic action thriller film directed by Pankaj Parashar. The films stars Salman Khan, Sushmita Sen and Dia Mirza in the lead roles. It was remade in Bengali as It Was Raining That Night (2005).

वीर ठाकुर (सलमान खान) अपने पिता कुणाल सिंह (शरत सक्सेना) और माँ ठकुराइन गीता (निशिगंधा वद) के साथ एक छोटे से गाँव में रहता है। वो और उसकी दोस्त मुस्कान (दीया मिर्ज़ा) एक दूसरे से प्यार करते रहते हैं। उन दोनों के परिवार वाले भी शादी के लिए अपनी सहमति दे देते हैं। लेकिन एक दिन अचानक वीर को कुछ दृश्य दिखने लगते हैं, जो उसे याद भी नहीं कि कभी उसके साथ हुए भी थे। उसे पता चलता है कि वो लड़ाई की काफी सारी तकनीक जानता है। पर कोई भी इस बारे में उसे कुछ नहीं बता पाता है।

Check Also

क्यों मो पे रंग की मारी पिचकारी: बहादुर शाह जफर

क्यों मो पे रंग की मारी पिचकारी: बहादुर शाह जफर

वैसे तो होली पूरे भारत में मनाई जाती है पर अलग-अलग सांस्कृतिक अंचलों की होली …