Home » Poems For Kids » Poems In Hindi » मेरी किताब – सारिका अग्रवाल

मेरी किताब – सारिका अग्रवाल

मेरी किताब एक अनोठी किताब,
रहना चाहती हरदम मेरे पास।
बातें अनेक करती जुबानी
सिखलाती ढंग जीने का॥

मेरे प्रश्नों के उत्तर इसके पास,
हल करती तुरंत बार-बार।
हर एक पन्ने का नया अंदाज़,
मजबूर करता मुझे समझने को बार-बार॥

नया रंग नया ढंग,
मिलेगा भला ऐसा किस के पास।
मेरी किताब एक अनोठी किताब,
रहना चाहती हरदम मेरे पास॥

∼ सारिका अग्रवाल

Check Also

Mark Twain Quotes in Hindi मार्क ट्वेन के अनमोल विचार

Mark Twain Quotes in Hindi मार्क ट्वेन के अनमोल विचार

मार्क ट्वेन का जीवन परिचय नाम Mark Twain / मार्क ट्वेन (Real Name: Samuel Langhorne …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *