Tag Archives: Popular Hindi Songs of Anand Bakshi

अंग से अंग लगाना: आनंद बख्शी का होली फ़िल्मी गीत

अंग से अंग लगाना सजन - डर

अंग से अंग लगाना: आनंद बख्शी अरे जो जी में आए, तुम आज कर लो चाहो जिसे इन बाँहो में भर लो अंग से अंग लगाना सजन हमें ऐसे रंग लगाना गालों से ये गाल लगा के, नैनों से ये नैन मिला के होली आज मनाना सजन हमें ऐसे रंग लगाना अंग से अंग लगाना… ऊपर ऊपर रंग लगय्यो, ना …

Read More »

चंदा है तू, मेरा सूरज है तू: आनंद बक्षी

चंदा है तू, मेरा सूरज है तू: आनंद बक्षी

चंदा है तू, मेरा सूरज है तू: आराधना 1969 में बनी हिन्दी भाषा की फ़िल्म है जिसके निर्माता एवं निर्देशक शक्ति सामंत थे। इस फ़िल्म को 1969 में फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ फ़िल्म पुरस्कार के साथ दो अन्य फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कारों से नवाज़ा गया था। फ़िल्म में संगीत दिया है ऍस. डी. बर्मन ने और गीतकार हैं आनन्द बख़्शी। DO YOU KNOW: शर्मिला …

Read More »

चिट्ठी आई है: Anand Bakshi Nostalgic Hindi Song

Anand Bakshi Heart Rendering Desh Prem Geet चिट्ठी आई है

चिट्ठी आई है: आप सभी को दिवाली की ढेर सारी बधाईयाँ। आज के दौर में दिवाली को लोग बम पटाखों से मनाते है, अपने रिश्तेदारों के यहां मिठाइयाँ पहुंचाते है। लेकिन पुराने जमाने में ऐसा नहीं होता था। लोग अपनी दिवाली मनाने के लिए बम पटाखों के इस्तेमाल की बजाय आपस के लोगों को दिवाली पर कविता भेजते थे। लोगों …

Read More »

गणपति अपने गाँव चले: आनंद बक्षी

Ganapati Visarjan Bollywood Song गणपति अपने गाँव चले - आनंद बक्षी

गणपति अपने गाँव चले: The cult movie of 1990, Agneepath, starring the legendary actor Amitabh Bachchan is still etched in the minds of his fans. Agneepath Amitabh Bachchan movie showcases the rise of Vijay Dinanath Chauhan played by Amitabh Bachchan in the world of crime in Bombay. Vijay, is the son of Master Dinanath Chauhan (Alok Nath) who is a …

Read More »

आनंद बक्षी का देश भक्ति गीत: वतन पे जो फ़िदा होगा

वतन पे जो फ़िदा होगा - आनंद बक्शी

Here is an immortal poem of Anand Bakshi that was written for the 1963 movie “Phool Bane Angaare”. Such powerful and moving words never fail to moisten eyes. It is appropriate to refresh the memory of this song on this 15th of August. वतन पे जो फ़िदा होगा: आनंद बक्षी हिमाला की बुलंदी से, सुनो आवाज है आयी कहो माओं से …

Read More »