Tag Archives: India Songs for Students

मैं रहूं या ना रहूं भारत ये रहना चाहिए: प्रसून जोशी

मैं रहूं या ना रहूं भारत ये रहना चाहिए: प्रसून जोशी

मैं रहूं या ना रहूं भारत ये रहना चाहिए: प्रसून जोशी (जन्म: 16 सितम्बर 1968) हिन्दी कवि, लेखक, पटकथा लेखक और भारतीय सिनेमा के गीतकार हैं। वे विज्ञापन जगत की गतिविधियों से भी जुड़े हैं और अन्तर्राष्ट्रीय विज्ञापन कंपनी ‘मैकऐन इरिक्सन’ में कार्यकारी अध्यक्ष हैं। फ़िल्म ‘तारे ज़मीन पर’ के गाने ‘मां…‘ के लिए उन्हें ‘राष्ट्रीय पुरस्कार’ भी मिल चुका …

Read More »

डू मी अ फेवर लेट्स प्ले होली: समीर

डू मी अ फेवर लेट्स प्ले होली - समीर

Waqt: The Race Against Time is a 2005 Indian Hindi-language comedy-drama film that was directed and produced by Vipul Amrutlal Shah. The film stars Amitabh Bachchan, Akshay Kumar, Priyanka Chopra, Shefali Shah, Rajpal Yadav and Boman Irani in the principal roles. The film, based on a Gujarati play by Aatish Kapadia, follows the journey of rich businessman who unexpectedly becomes …

Read More »

चिट्ठी आई है: Anand Bakshi Heart Rendering Desh Prem Geet

Anand Bakshi Heart Rendering Desh Prem Geet चिट्ठी आई है

चिट्ठी आई है: आनंद बक्षी का दिल को छु लेने वाला फ़िल्मी गीत चिट्ठी आई है आयी है, चिट्ठी आयी है, चिट्ठी आई है, वतन से चिट्ठी आयी है, बड़े दिनों के बात, हम बे-वतनों को याद, वतन की मिट्टी आयी है… उपर मेरा नाम लिखा है, अंदर ये पैगाम लिखा है, ओ परदेस को जानेवाले, लौट के फिर ना …

Read More »

जागे हैं अब सारे लोग: जावेद अख्तर देश भक्ति गीत

Acclaimed Indian director Shyam Benegal is best known for his intimate portraits of Indian women, so it comes as some surprise that his latest offering is a biopic of one of India’s most famous male icons, Netaji Subhas Chandra Bose. Sachin Khedekar plays Bose, a revolutionary whose mission is to rid India of the British Empire, even if it means …

Read More »

Diwali Diya: Earthen Lamps For Diwali Decoration

Diwali Diya: Hindu Culture & Tradition

Diwali Diya: Diya is a small earthen lamp primarily lit during Diwali, the festival of lights. Also, known as ‘deep’, diya is traditionally made of clay. Lighting a deep during aarti is a custom in the Hindu culture. During Diwali, the earthen lamps are used for illuminating the entire home and premises, apart from aarti. The diya is filled with …

Read More »

Diwali Songs: Popular Bollywood Diwali Songs

Diwali Songs: Hindu Culture & Tradition

Diwali Songs: Popular Bollywood Diwali Songs – Diwali is a five-day extravaganza in India, the land of colorful festival. On the occasion of Diwali, people spread good cheer and indulge themselves in a number of activities, one of them being throwing parties and get together. While partying during the festive season, people would dance to the tune of peppy Diwali …

Read More »

कर चले हम फ़िदा जानो तन साथियो: कैफी आज़मी

देश प्रेम और देश के लिए कुछ कर गुज़रने का जज़्बा हर नागरिक में होता है। हिंदी सिनेमा ने भी इस मोहब्बत और जज़्बे को बख़ूबी अभिव्यक्त किया है। आज भी देशभक्ति के कई ऐसे गाने हैं जो लोकप्रिय हैं। बदलते वक़्त के साथ इनकी लोकप्रियता में इज़ाफ़ा ही हुआ है। कुछ ऐसे बेशक़ीमती गीत  है जो हर नागरिक को …

Read More »

इन्साफ़ की डगर पे बच्चों दिखाओ चल के: शकील बदायूंनी

Shakeel Badayuni Inspirational Teacher's Day Song इन्साफ़ की डगर पे

आसान अल्‍फाज के जरिए सीधे दिल में उतरने वाले मशहूर शायर और गीतकार शकील बदायूंनी के बगैर रूमानी फिल्‍मों की कहानियां अधूरी हैं। मगर, मकबूल शायर होने के बावजूद उन्‍हें वह जगह नहीं मिली जिसके वह हकदार थे। ‘मुगल-ए-आजम’ और ‘मदर इंडिया‘ जैसी कालजयी फिल्‍मों और ‘मेरे महबूब’, ‘गंगा-जमुना’ और ‘घराना’ जैसी अपने दौर की सुपरहिट फिल्‍मों को अपने नग्‍मों …

Read More »

आओ बच्चों तुम्हें दिखाये झाँकी हिंदुस्तान की: कवि प्रदीप

आओ बच्चों तुम्हें दिखाये झाँकी हिंदुस्तान की - कवि प्रदीप

देश प्रेम और देश के लिए कुछ कर गुज़रने का जज़्बा हर नागरिक में होता है। हिंदी सिनेमा ने भी इस मोहब्बत और जज़्बे को बख़ूबी अभिव्यक्त किया है। आज भी देशभक्ति के कई ऐसे गाने हैं जो लोकप्रिय हैं। बदलते वक़्त के साथ इनकी लोकप्रियता में इज़ाफ़ा ही हुआ है। कुछ ऐसे बेशक़ीमती गीत हैं जो हर नागरिक को वतन के प्रति …

Read More »

आनंद बक्षी का देश भक्ति गीत: वतन पे जो फ़िदा होगा

वतन पे जो फ़िदा होगा - आनंद बक्शी

Here is an immortal poem of Anand Bakshi that was written for the 1963 movie “Phool Bane Angaare”. Such powerful and moving words never fail to moisten eyes. It is appropriate to refresh the memory of this song on this 15th of August. वतन पे जो फ़िदा होगा: आनंद बक्षी हिमाला की बुलंदी से, सुनो आवाज है आयी कहो माओं से …

Read More »