तम्बाकू पर उद्धरण

धूम्रपान निषेध नारे विद्यार्थियों और बच्चों के लिए

धूम्रपान निषेध नारे विद्यार्थियों और बच्चों के लिए: तंबाकू से लाखों लोग कई गंभीर बीमारियों का शिकार हो जाते हैं और समय से पहले ही बीमारियों का शिकार होने के साथ-साथ मौत के मुंह में चले जाते हैं। इसके बावजूद लाखों लोग यहां तक की किशोर भी तंबाकू खाने के आदी हैं। आज तंबाकू न सिर्फ किशोरों के दिमाग को प्रभावित कर रहा है बल्कि नई पीढ़ी को खासा नुकसान पहुंचा रहा है। तंबाकू और धूम्रपान करने वालों को जागरूक करने और उनकी नशे की इस आदत को छुड़ाने के लिए कई अभियान चलाए गए, जिनमें से एक है विश्व तंबाकू निषेध दिवस। आइए जानें कुछ और बातें विश्व तंबाकू निषेध दिवस के अवसर पर।

धूम्रपान निषेध नारे विद्यार्थियों और बच्चों के लिए

  • शरीर का रखना हो ध्यान, तो बंद करें धूम्रपान।
  • आओ ये संकल्प करें, धूम्रपान को बंद करें।
  • एक दो, एक दो, बीडी सिगरेट छोड दो।
  • जलती बीड़ी फेंक दीं, लगी कहीं पर आग, लाखों की संपदा जली, फूटे जम के भाग।
  • बच्चों का सुख नहीं पाएगा दुआ बनकर रह जाएगा।
  • आप सिगरेट को नहीं, सिगरेट आपको पीती है। इसका नतीजा सिर्फ मौत है।
  • धुम्रपान से जो जुड़ जायेगा,वो बाप से पहले जायेगा।
  • सिगरेट ऐसा एक पाइप है जिसके एक छोर पर आग है दूसरे छोर पर मुर्ख।
  • सिगरेट वो हत्यारे है जो पैक्स में यात्रा करते है।
  • क्यों सिगरेट पीते हो, बने घर को खोते हो।
  • स्वस्थ्य साँस ले, खुशी से रहें।
  • पर्यावण को पहुँचाये हानि, यह है धूम्रपान की खामी।
  • आप सिगरेट को नहीं पीते बल्कि सिगरेट आपको पीती है इसका नतीजा सिर्फ और सिर्फ मौत है।
  • धूम्रपान है दुर्व्यसन, मुँह में लगती आग, स्वास्थ्य, सभ्यता, धन घटे, कर दो इसका त्याग।
  • शरीर के लिए हानिकारक, धूम्रपान है रोग कारक।
  • जीते जी क्यों दे रहे हो अपने मुंह में आग, करों स्व-पर हित के लिए; धुम्रपान का त्याग
  • बीड़ी-सिगरेट पीने से, दूषित होती वायु, छाती छननी सी बने, घट जाती है आयु।
  • धूम्रपान जो करे आज, हो सकते हैं रोग लाइलाज।
  • जीते जी क्यों दे रहे, अपने मुँह में आग, करो स्व-पर हित के लिए, धूम्रपान का त्याग।
  • धूम्रपान का न करें उपयोग, उससे होते अनेक रोग।
  • ऐसा कभी न हो शौक, जिससे हो गंभीर रोग।
  • छोडो सिगरेट, शराब, धूम्रपान इनसे बर्बाद होता इंसान।
  • शरीर का रखना हो ध्यान, तो बंद करें धूम्रपान।

Check Also

Hindi Diwas - 14 September

Hindi Diwas Slogans For Students And Children

Hindi Divas is celebrated annually on 14th of September all over India to give importance …

One comment

  1. Bahut hi acche slogan hai