प्यारी मां: माँ की ममता पर बाल-कविता

प्यारी मां: माँ की ममता पर बाल-कविता

मेरी भोली प्यारी मां
दुनिया से है न्यारी मां,
तुमसे मैंने जीवन पाया
तुमने चलना मुझे सिखाया।

हर संकट से मुझे उबारा
तूने हरदम दिया सहारा,
तू सबसे उपकारी मां
मेरी भोली प्यारी मां।

करुणामयी स्वरूप तुम्हारा
अंधियारे में करे उजाला,
महिमा तेरी मां है पावन
ममता तेरी है मनभावन।

तू है मेरी दुलारी मां
मेरी भोली प्यारी मां,
मीठी है मां तेरी बोली
ममता से भर देती झोली।

खुश होकर पकवान बनाती
बड़े प्यारे से मुझे खिलाती,
हो जाऊं तुझपे बलिहारी मां
मेरी भोली प्यारी मां।

~ अविनाश मिश्र ‘अवि’

आपको अविनाश मिश्र ‘अवि’ जी की यह कविता “प्यारी मां: माँ की ममता पर बाल-कविता” कैसी लगी – आप से अनुरोध है की अपने विचार comments के जरिये प्रस्तुत करें। अगर आप को यह कविता अच्छी लगी है तो Share या Like अवश्य करें।

यदि आपके पास Hindi / English में कोई poem, article, story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें। हमारी Id है: submission@4to40.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ publish करेंगे। धन्यवाद!

Check Also

Digging: Gopi Krishnan Kottoor

Digging: Gopi Krishnan Kottoor

Digging: Gopi Krishnan Kottoor is the pen name of Raghav G. Nair (born 1956, Thiruvananthapuram, …