Tag Archives: Top 10 Hindi Stories of Manjari Shukla

क्रिसमस और सांता क्लॉज़ का तोहफा: मंजरी शुक्ला

Heart Touching Hindi Christmas Story क्रिसमस और सांता क्लॉज़ का तोहफा

बहुत समय पहले की बात हैं। एक गाँव में एक बूढ़ी औरत मारिया अपने दस वर्ष के पोते जॉर्ज के साथ रहती थी। उसने अपने बाग़ में ढेर सारे फूल जैसे चंपा, जूही, गुलाब, गेंदा, आईरिस, गुलमोहर और आर्किड लगा रखे थे और एक छोटा सा तालाब भी बनाया था जिसमें हल्के लाल और सफ़ेद रंग के कमल के फूल खिले रहते थे।वह दिन …

Read More »

नन्हें फ़रिश्ते: क्रिसमस के त्यौहार की दिल छू लेने वाली कहानी

Heart Touching Hindi Christmas Story Little Angels नन्हें फ़रिश्ते

क्रिसमस आने में सिर्फ़ दो दिन बाकी थे और हर साल की तरह पूरा शहर रौशनी में नहाया हुआ था। केक, पेस्ट्री और ताजे बिस्कुट की भीनी-भीनी महक से सबके कदम खुद ब खुद बेकरी की ओर खिंचे चले जा रहे थे। दर्ज़ी की दुकान में तो तिल रखने की भी जगह नहीं बची थी। बच्चे हो या बड़े, नए …

Read More »

क्रिसमस गिफ्ट: गरीबी में खुशी का त्यौहार

क्रिसमस गिफ्ट Inspirational Hindi Story about Christmas Gift

आज क्रिसमस का दिन था और मारिया अपनी बड़ी-बड़ी नीली आँखों से खिड़की के बाहर झाँक रही थी। उसकी आँखों में बार-बार आँसूं आ रहे थे, जिन्हें वह अपनी माँ से छिपाकर फ्राक से पोंछ रही थी। वह अभी केवल तेरह वर्ष की ही थी पर चेहरे की गंभीरता से वह बहुत बड़ी लग रही थी। उसे खिड़की पर खड़े …

Read More »

रॉबिन का क्रिसमस: नैतिक मूल्य से जुड़ी एक कहानी

रॉबिन का क्रिसमस: नैतिक मूल्य से जुड़ी एक कहानी

पड़ोस वाले अंकल अपने माली को डाँट रहे थे और रॉबिन उनके बगीचे के गुलाब हाथ में पकड़े हुए आज फ़िर अपने लॉन में बैठ कर कोई नई शरारत करने के लिए सोच रहा था।मोहल्ले की गली से लेकर नुक्कड़ तक कोई भी ऐसी जगह नहीं बची थी, जहाँ पर क्रिकेट के साथ-साथ रॉबिन की शैतानियों की चर्चा ना होती …

Read More »

सोनू और नंदनी गाय की दिल छू लेने वाली बाल-कहानी

सोनू और नंदनी

नटखट सोनू एक बहुत ही शरारती बच्चा था और रात दिन सिर्फ़ शैतानियाँ करने के बारे में ही सोचता रहता था।उसके घर में एक सफ़ेद रंग गाय थी नंदनी, जो बहुत ही सुन्दर और सीधी थी। वह सोनू को बहुत प्यार करती थी पर जब भी सोनू अपने पापा के साथ गौ शाला में जाता तो उसकी घास छुपा देता …

Read More »

छोटे बच्चों की हास्यप्रद कहानी: बरगद का चश्मा

छोटे बच्चों की हास्यप्रद कहानी: बरगद का चश्मा

फूलों से लदे हुए जंगल में चारों तरफ़ रंगबिरंगी तितलियाँ उड़ रही थी। भौरें गुनगुना रहे थे और चारों तरफ़ ठंडी ठंडी हवा बह रही थी। सभी बहुत खुश थे पर अगर कोई उदास था तो वह था बरगद का पेड़। और उसकी इस उदासी का कारण था उसका सबसे अच्छा दोस्त बादल। अब ये भी सोचने की बात है …

Read More »

दिवाली की रात: दिवाली पर हिंदी जासूसी कहानी

Hindi Detective Story about Diwali and Thieves दीवाली की रात

चन्दन चौदह वर्षीय एक चंचल और चतुर लड़का था। घर से लेकर स्कूल तक सभी उसकी बुद्धिमानी का लोहा मानते थे। जितना वह पढ़ाई लिखाई में अच्छा था उतना ही खेल कूद में भी। हर साल की तरह इस बार भी उसने और उसके दोस्तों ने दिवाली को बड़े ही धूम-धाम से मनाने का निश्चय किया। बच्चों की टोली जब …

Read More »

दिवाली के पटाखों की बाल-कहानी: दिवाली

Children's Hindi Story about Diwali Festival दिवाली

एक दुकान में ढेर सारे पटाखे सजे हुए रखे थे, जो दुकानदार ने दिवाली पर बेचने के लिए रखे हुए थे। पटाखों को यह देखकर बहुत दुःख होता था की जो बच्चे अच्छे कपड़े पहनकर अपने मम्मी पापा के साथ पटाखे लेने आते, उन्हें तो दुकानदार बड़े ही प्यार से पटाखे दिखता और बेचता पर जो बच्चे नंगे पैर और …

Read More »

चुन्नू की इको फ्रेंडली दिवाली: जन जागरूकता पर कहानी

इको फ्रेंडली दिवाली

सात साल का चुन्नू सुबह से ही पटाखे खरीदने की जिद कर रहा था। वह पापा के पास आते हुए बोला – “पटाखे लेने चलो, मेरे सब दोस्त ले आये है”। “अरे, बेटा, तुम पहले अपना होमवर्क तो खत्म कर लो फ़िर समय नहीं मिलेगा”। “अभी तो स्कूल खुलने में चार दिन है, आप पहले पटाखे लेने चलो”। हारकर पापा …

Read More »

प्रेरणादायक हिंदी बाल-कहानी: बिट्टू की दिवाली

आई रे आई दिवाली - टीना जिंदल

बहुत सारे पटाखे, मिठाई और नए नए कपड़े चाहिए मुझे इस दिवाली पर… कहता हुआ नन्हा बिट्टू पैर पटककर माँ के सामने जमीन पर ही लोट गया। उसकी मम्मी ने अपनी हँसी को दबाते हुए कहा – “हाँ – हाँ, सब ले आयेंगे”। यह सुनकर बिट्टू बड़े ही लाड़ से माँ के गले में हाथ डालता हुआ फुसफुसाया, मानों किसी खजाने …

Read More »