Tag Archives: Devotional Poems for Students

कबीर के दोहे: Couplets of Kabir Das

Famous Kabir Das Ke Dohe कबीर के दोहे

Name Kabir Das / कबीर दास Born लगभग (1398 या 1440) लहरतारा, निकट वाराणसी Died लगभग (1448 या 1518) मगहर Occupation कवि, भक्त, सूत कातकर कपड़ा बनाना Nationality भारतीय कबीरदास भारत के महानतम कवी थे, इन्होने जीवन और उसके भीतर भावनाओ को अहम् बताया और मनुष्य को मार्गदर्शन दिया। इनके काव्य में कहीं भी धर्म का विषय नहीं था, ये …

Read More »

The Buddha At Kamakura: Rudyard Kipling Poem

The Buddha At Kamakura - Rudyard Kipling English Poem

Rudyard Kipling was born on December 30, 1865, in Bombay, India. He was educated in England but returned to India in 1882. A decade later, Kipling married Caroline Balestier and settled in Brattleboro, Vermont, where he wrote The Jungle Book (1894), among a host of other works that made him hugely successful. Kipling was the recipient of the 1907 Nobel Prize in …

Read More »

बुद्ध और नाचघर: हरिवंशराय बच्चन

बुद्ध और नाचघर - हरिवंशराय बच्चन

हरिवंश राय श्रीवास्तव “बच्चन” हिन्दी भाषा के एक कवि और लेखक थे। इलाहाबाद के प्रवर्तक बच्चन हिन्दी कविता के उत्तर छायावाद काल के प्रमुख कवियों मे से एक हैं। उनकी सबसे प्रसिद्ध कृति मधुशाला है। भारतीय फिल्म उद्योग के प्रख्यात अभिनेता अमिताभ बच्चन उनके सुपुत्र हैं। उन्होने इलाहाबाद विश्वविद्यालय में अध्यापन किया। बाद में भारत सरकार के विदेश मंत्रालय में …

Read More »

जसोदा हरि पालनैं झुलावै: सूरदास

जसोदा हरि पालनैं झुलावै - सूरदास

जसोदा हरि पालनैं झुलावै: सूरदास – गोस्वामी हरिराय के ‘भाव प्रकाश’ के अनुसार सूरदास का जन्म दिल्ली के पास सीही नाम के गाँव में एक अत्यन्त निर्धन सारस्वत ब्राह्मण परिवार में हुआ था। उनके तीन बड़े भाई थे। सूरदास जन्म से ही अन्धे थे, किन्तु सगुन बताने की उनमें अद्भुत शक्ति थी। 6 वर्ष की अवस्था में ही उन्होंने अपनी …

Read More »

मैया मोरी मैं नहिं माखन खायो: सूरदास

मैया मोरी मैं नहिं माखन खायो: सूरदास

मैया मोरी मैं नहिं माखन खायो: सूरदास हिन्दी साहित्य में भक्तिकाल में कृष्ण भक्ति के भक्त कवियों में अग्रणी है। महाकवि सूरदास जी वात्सल्य रस के सम्राट माने जाते हैं। उन्होंने श्रृंगार और शान्त रसों का भी बड़ा मर्मस्पर्शी वर्णन किया है। उनका जन्म मथुरा-आगरा (Uttar Pradesh, India) मार्ग पर स्थित रुनकता नामक गांव में हुआ था। कुछ लोगों का …

Read More »

Happy Eid-Ul-Fitr: Eid Festival Kids Poetry

Happy Eid-Ul-Fitr: Eid Festival Kids Poetry

Eid-Ul-Fitr is a very important festival in the Islamic calendar and was started by the Prophet Muhammad himself. It is also known as ‘The Feast of Breaking the Fast’ and is celebrated by Muslims worldwide to mark the end of Ramadan. Eid-Ul-Fitr takes place on the first day of the tenth month of the Islamic lunar calendar, and Muslims are …

Read More »

Eid-ul-Fitr Prayers for Students And Children

Eid-ul-Fitr Prayers: Islamic Culture & Traditions

Eid-ul-Fitr prayers are obligatory for every Muslim and are meant to be offered in congregation. However, in the contemporary celebrations of the festival, many Muslims also pray individually. After the moon of Shawwal is sighted on the last day of Ramadan, the Takbir is recited. The time for Eid prayers is from sunrise till Zuhr. It is also recommended to …

Read More »

Eid-ul-Fitr: Eid Poetry For Students And Children

Eid-Ul-Fitr – Obaid Ahmed

Eid-ul-Fitr is an important religious holiday celebrated by Muslims worldwide as well as in India that marks the end of Ramadan, the Islamic holy month of fasting. Now that we fasted and did extra good deeds, We celebrate Eid-ul-Fitr, one of the two Eids! Allah prescribed two Eids and forbid all other festivals, He told us to worship Him and …

Read More »

Hindi Poem on Eid-Ul-Fitr ईद हो हर दिन

Hindi Poem on Eid-Ul-Fitr ईद हो हर दिन

रमज़ान का पाक महीना बस अलविदा कहने को तैयार है।  रमज़ान के ख़त्म होते ही जो ईद मनाई जाती है, उसे ईद-उल-फितर कहा जाता है। इस्लाम समुदाय में इस त्योहार को बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। मस्जिदों को सजाया जाता है, लोग नए कपड़े पहनते हैं, घरों में एक से बढ़कर एक पकवान बनते हैं, छोटों को ईदी दी जाती है …

Read More »