तारे - ओम प्रकाश बजाज

तारे – ओम प्रकाश बजाज

टिम – टिम टिमटिमाते तारे,
जगमग-जगमग जगमगाते तारे।

नीली सी चादर पर लेटे जैसे,
मुस्कुराते खिलखिलाते तारे।

तारों से है आकाश की शोभा,
चाँद का साथ निभाते तारे।

ध्रुव तारे का विशेष नाम हैं,
अनेक नामों से जाते पुकारे तारे।

चिंता में जिन्हे नींद न आती,
रात काटते गिन-गिन तारे।

सितारा तर्क भी कहलाते,
हमेशा से साथ हमारे तारे।

~ ओम प्रकाश बजाज

Check Also

वीर सावरकर के अनमोल विचार विद्यार्थियों के लिए

वीर सावरकर के अनमोल विचार विद्यार्थियों के लिए

वीर सावरकर के अनमोल विचार: वीर सावरकर हिंदुस्तान की आजादी के संघर्ष में एक महान …