रविवार की छुट्टी पर हिंदी बाल-कविता - आज हमारी छुट्टी है

रविवार की छुट्टी पर हिंदी बाल-कविता – आज हमारी छुट्टी है

रविवार का प्यारा दिन है,
आज हमारी छुट्टी है।

उठ जायेंगे क्या जल्दी है,
नींद तो पूरी करने दो।
बड़ी थकावट हफ्ते भर की,
आराम ज़रूरी करने दो।

नहीं घड़ी की ओर देखना,
न करनी कोई भागम- भाग।
मनपसंद वस्त्र पहनेंगे,
आज नहीं वर्दी का राग।

खायेंगे आज गर्म पराँठे,
और खेलेंगे मित्रों संग।
टीचर जी का डर न हो तो,
उठती मन में खूब उमंग।

होम-वर्क को नमस्कार,
और बस्ते के संग कुट्टी है।
मम्मी कोई काम न कहना,
आज हमारी छुट्टी है।

श्याम सुन्दर अग्रवाल

आपको श्याम सुन्दर अग्रवाल जी की यह कविता “आज हमारी छुट्टी है” कैसी लगी – आप से अनुरोध है की अपने विचार comments के जरिये प्रस्तुत करें। अगर आप को यह कविता अच्छी लगी है तो Share या Like अवश्य करें।

यदि आपके पास Hindi / English में कोई poem, article, story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें। हमारी Id है: submission@4to40.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ publish करेंगे। धन्यवाद!

Check Also

पिंगली वेंकैया: राष्ट्रध्वज तिरंगे के शिल्पकार

पिंगली वेंकैया: राष्ट्रध्वज तिरंगे के शिल्पकार

जिन्होंने डिजाइन किया भारत का राष्ट्रध्वज, गरीबी में हुई उनकी मौत: नेहरू के भारत में …