The Jungle's Law

जंगल का न्याय

सूअर ने यह भी कहा कि इस मामले में एक गवाह है जो जल्दी ही दरबार में हाजिर होगा। राजा ने उनसे कुछ देर रुकने का आदेश दिया और किन्ही दुसरे राजकीय कार्यों में व्यस्त हो गया।

King's Court & The Bat

तभी दरबार की छत से वही चमगादड़ धड़ाम से नीचे गिरा और मारे ख़ुशी के नाचने लगा। राजा ने उसे दरबार में बदतमीजी न करने की ताकीद की।

चमगादड़ हाथ जोड़कर राजा से क्षमा – याचना करने लगा। “महाराज, दरबार की छत पर इन्तजार करते – करते मेरी आँख लग गई थी। नींद में एक सपना आया, पर बताते हुए डरता हूँ,” चमगादड़ भयभीत होकर बोला।

“घबराओ नही, बेखौफ होकर अपना सपना सुनाओ,” राजा ने कहा।

चमगादड़ बोलने लगा, “सपने में मैंने देखा कि मेरा विवाह राजकुमारी से हो रहा है।” फिर वह राजा से प्रार्थना करने लगा कि उसका सपना सच करने के लिए राजकुमारी की शादी उससे कर दी जाए।

जाहिर है, राजा सुनकर बहुत क्रोधित हुआ और चमगादड़ से बोला कि ऐसी वाहियात मांग न करे। “एक सपने के आधार पर ऐसी मांग करना तो सरासर बेवकूफी है। सपना सपना है, यथार्थ से उसका कोई लेना – देना नही है।”

सुनते ही चमगादड़ झट से बोला, “अगर यह सच है तो सपने के आधार पर बाघ सूअर को मारकर उसका मांस खाने की मांग कैसे कर सकता है?”

राजा ने चमगादड़ के तर्क को स्वीकार कर लिया और बाघ के प्रस्ताव को पूरी तरह ठुकरा दिया। उसने बाघ और सूअर को अलग – अलग रहने का भी आदेश दिया।

भारत की लोक कथाएं ~ जे. मलिक

Check Also

Rashifal - राशिफल

साप्ताहिक लव राशिफल अगस्त 2022

साप्ताहिक लव राशिफल: 08 – 14 अगस्त, 2022 शुक्र के राशि परिवर्तन से इनकी लव …