Origami Art of Paper Folding कागज की अद्भुत कला ओरीगैमी

Origami Art of Paper Folding कागज की अद्भुत कला ओरीगैमी

बच्चों के अंदर बचपन से ही कई तरह के शौक पैदा हो जाते हैं। यदि ये शौक अच्छे हों तथा इन्हें पूरा करने के लिए माता-पिता का पूर्ण सहयोग मिल जाए तो यह जिंदगी का अहम हिस्सा बन जाते हैं। ऐसा ही शौक पाल रखा है लुधियाना जिले के कस्बा दोराहा के 13 वर्षिय राहुल विनायक ने जिसे ओरीगैमी के नाम से जाना जाता है। ओरीगैमी रंग-बिरंगे कागजों को अलग-अलग ढंग से मोड़ कर उन पर अलग-अलग रूपों से कलाकृतियां बनाने का ढंग है। इसमें विशेष रूप से दिलचस्प बात यह है कि इसके लिए कैंची तथा गूंद तक का इस्तेमाल नहीं होता बल्कि कागज के हवाई जहाज बना कर हवा में उड़ाने और बरसात में कागज की किश्तियां बनाकर पानी में छोड़ना ओरीगैमी का ही हिस्सा है। राहुल को बचपन से ही इस कला से प्यार हो गया। जैसे-जैसे उसकी उम्र बढ़ती गई यह प्यार और गहरा होता गया।

इसका अनुमान उस द्वारा बनाई गई कलाकृतियों से लगाया जा सकता है। यही नहीं, राहुल ने ओरीगैमी के साथ कुइलिंग के माध्यम से भी तरह-तरह के मॉडल बनाने शुरू कर दिए हैं। यह उल्लेखनीय है कि कुइलिंग बहुत बारीकी तथा सफाई वाला काम है जिसमें गूंद तथा कागज की बनी मोटी और बारीक रंग-बिरंगी पट्टियों का इस्तमाल किया जाता है। इस कला का माहिर राहुल इन कलाकृतियों को इतनी सफाई से बनाता है कि देखने वाला दंग रह जाता है। राहुल ने अब तक ट्रैफिक लाइट, कप, कैटल, कम्प्यूटर, ट्रक, तितलियां तथा गणपति जी समेत कई डिजाइन बनाए हैं। आज उस द्वारा बनाई गई चीजें प्रत्येक व्यक्ति को आकर्षित करती हैं। उसके माता-पिता उसे इस कला में अधिक निपुणता लाने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। कुइलिंग तथा पेपर फोल्डिंग का बाजार में आया हुआ हर एडिशन उसे खुद लाकर देते हैं।

Check Also

A Father And A Patriot: Ramendra Kumar

A Father And A Patriot: Ramendra Kumar

A Father And A Patriot: “Abba, how come Nanaji does Puja while Ammi and you …

One comment

  1. बहुत सुंदर है यह ऑरेगामी