Home » Tag Archives: Hindi Poems on Public Awareness

Tag Archives: Hindi Poems on Public Awareness

Motivational Hindi Poem on Blood Donation रक्तदान है महादान

Motivational Hindi Poem on Blood Donation रक्तदान है महादान

रक्तदान है महादान नही कोई आम दान रक्तदान है महादान।। मिलता इससे नर को नव जीवन दान मिलती उसके स्वप्नो को नव उमंग देखे थे स्वप्न नर ने मातृभूमि की सेवा के परन्तु दुर्घटनावश अधर में अटके हैं उसके प्राण रक्त ने दिया उसे नव जीवन दान रक्तदान है महादान नहीं कोई आम दान रक्तदान है महादान |1| पूज्य स्वामी विवेकानन्द …

Read More »

स्वामी विवेकानंद के भाषण पर प्रेरणादायक कविता

Swami Vivekananda

शिकागो धर्म सम्मेलन,1893 में दिया गया भाषण अमरीकी भाई बहनो कह, शुरू किये जब उद्बोधन। धर्म सभा स्तब्ध हुई थी, सुनकर उनका सम्बोधन॥आया उस प्राचीन देश से, जो संतो की है नगरी। पाया हूँ सम्मान यहाँ जो, भरी हर्ष से मन गगरी॥मेरा है वो धर्म जिसे सब, कहते धर्मो की माता। धरा गगन में होने वाली, हर हलचल की वो ज्ञाता॥करता हूँ नत …

Read More »

होगा तभी दशहरा: विजय दशमी पर हिंदी कविता

होगा तभी दशहरा (विजय दशमी) - प्रकाश मनु

दशहरा के त्यौहार पर हिंदी कविता – होगा तभी दशहरा किस्सा एक पुराना बच्चों, लंका में था रावण, राजा एक महा-अभिमानी, काँपता जिससे कण-कण। उस अभिमानी रावण ने था, सबको खूब सताया, रामचन्द्र जब आये वन में, सीता को हर लाया। झिलमिल झिलमिल सोने की, लंका पैरो पे झुकती, और काल की गति भी भाई, उसके आगे रूकती। सुन्दर थी लंका, लंका …

Read More »

आ गया पावन दशहरा: दशहरा पर हिंदी कविता

Inspirational Hindi Poem about Dussehra आ गया पावन दशहरा (विजय दशमी)

आ गया पावन दशहरा फिर हमे सन्देश देने आ गया पावन दशहरा। तुम संकटों का हो घनेरा हो न आकुल मन ये तेरा संकटो के तम छटेंगे होगा फिर सुन्दर सवेरा धैर्य का तू ले सहारा। द्वेष कितना भी हो गहरा हो न कलुषित मन ये तेरा फिर ये टूटे दिल मिलेंगे होगा जब प्रेमी चितेरा बन शमी का पात …

Read More »

विद्यालय मैगजीन से हिंदी बाल-कविताएँ

गुरु: प्रभलीन कौर गुरु अनहद का नाद है, गुरु बोध का स्वाद है। गुरु शरणागत की शक्ति है, गुरु स्नेह की पवित्र धारा है।। गुरु बेसहारों का सहारा है, गुरु अनंत कृपाओं का सागर है। गुरु अनुभव की छलकती गागर है, गुरु नवजीवन की भोर है।। गुरु प्रेम की सुंदर डोर है, गुरु सत्य का सुखद स्पर्श है। गुरुदेव है, …

Read More »

छोटी कक्षा के विद्यार्थियों के लिए बाल-कविताएँ

छोटी कक्षा के विद्यार्थियों के लिए बाल-कवितायेँ

बाल-कविता – इम्तिहान: नितिन शर्मा इम्तिहान चालू हो गए बच्चों के अब देर रात तक पढ़ते हैं, भारी टैंशन पड़ गई सिर पर न ही खेलते हैं न ही लड़ते हैं, न खेलते हैं गेम फोन पर न ही टी.वी. पर देखें डोरेमोन, किताबों संग मारें माथा रातों को लाइटें ऑन कर, जो पढ़ा है पेपर में आए वही बस यही …

Read More »

Hindi Poem about Over Population जनसंख्या

Hindi Poem about Over Population जनसंख्या

जनसंख्या जो ये तेजी से बढ़ रही बहुत से समस्याए पैदा कर रही खाद्द्यान्न संकट खड़ा हो गया उर्जा संकट बड़ा हो गया भुखमरी चारो ओर बढ़ी गरीबी की समस्या सामने खड़ी जनसंख्या जो ये तेजी से बढ़ रही बहुत से समस्याए पैदा कर रही बेरोजगारी हताशा ला रही आर्थिक संकट की चिंता खाए जा रही महंगाई तेजी से बढ़ …

Read More »

स्कूल मैगज़ीन से ली गयी बाल-कविताएँ

अलगाव में लगाव: सुजाता भट्टाचार्या एक थे बापू, एक थे नेताजी ‘सुभाष’ विचारों ने जिनके हलचल मचा दी। एक ने कहा ‘अहिंसा’ परमोधर्म, दूजा बोला स्वराज पाकर लेंगे दम।। एक करता आंदोलन सारी, दूजा बनता फौज भारी। दोनों ने देखा एक ही सपना, पर ढंग था, दोनों का अपना-अपना।। मंजिल एक, रास्ते अलग, ना रुके पहुँचे फलक। बापू बोले तुम …

Read More »

आरक्षण की तलवार: आरक्षण के मुद्दे पर हिंदी कविता

आरक्षण की तलवार

आरक्षण एक ऐसा शब्द है, जिसका नाम हर दूसरे व्यक्ति के मुह पर है, अर्थात् आरक्षण भारत मे, बहुत चर्चा मे है। वैसे तो हम, इक्कीसवी सदी मे जी रहे है और अब तक आरक्षण कि ही, लड़ाई लड़ रहे है। युवाओ और देश के नेताओ के लिये, आज की तारीख मे सबसे अहम सवाल यह है कि, आरक्षण किस …

Read More »

भई भाषण दो: गोपाल प्रसाद व्यास – भारतीय राजनीति पर व्यंग्य पूर्ण हिंदी कविता

भई भाषण दो: गोपाल प्रसाद व्यास

यदि दर्द पेट में होता हो या नन्हा–मुन्ना रोता हो या आंखों की बीमारी हो अथवा चढ़ रही तिजारी हो तो नहीं डाक्टरों पर जाओ वैद्यों से अरे न टकराओ है सब रोगों की एक दवा भई, भाषण दो, भई, भाषण दो हर गली, सड़क, चौराहे पर भाषण की गंगा बहती है, हर समझदार नर–नारी के कानों में कहती रहती …

Read More »