Home » Indian Festivals » बच्चों को समर्पित है बाल दिवस
Children's Day is dedicated to Children बच्चों को समर्पित है बाल दिवस

बच्चों को समर्पित है बाल दिवस

भारत में बाल दिवस देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिन यानी 14 नवम्बर को मनाया जाता है। पं. नेहरू महान स्वतंत्रता सेनानी थे जिनका जन्म 14 नवम्बर, 1889 को इलाहबाद में हुआ था। 15 अगस्त, 1947 को जब भारत स्वतंत्र हुआ तो नेहरू जी भारत के प्रथम प्रधानमंत्री बने। उन्होंने देश को उन्नतिशील बनाया। उन्हें बच्चों से गहरा लगाव था। वह बच्चों में देश का भविष्य देखते थे। बच्चे भी उनसे अपार सनेह रखते थे। अतः उनके जन्मदिवस 14 नवम्बर को बाल दिवस के रूप में मनाया जाने लगा।

बाल दिवस का उद्देश्य

यह दिन इस बात की याद दिलाता है कि हर बच्चा खास है और बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए उनकी मूल जरूरतों और पढ़ाई-लिखाई की जरूरतों का पूरा होना बेहद जरूरी है। यह दिन बच्चों को उचित जीवन दिए जाने की भी याद दिलाता है।

बाल दिवस देश के बच्चों को समर्पित है। बच्चे देश के भविष्य हैं, अतः इनके विकास के बारे में चिंतन करना तथा कुछ ठोस प्रयास करना देश की जिम्मेदारी है।

देश का समुचित विकास बच्चों के विकास के बिना संभव नहीं है। बच्चों को शिक्षित बनाने, बाल श्रम पर अंकुश लगाने, उनके पोषण का उचित ध्यान रखने तथा उनके चारित्रिक विकास के लिए प्रयासरत रहने से बच्चों का भविष्य संवारा जा सकता है। बाल दिवस बच्चों के कल्याण की दिशा में उचित प्रयास करने का सुनहरा अवसर प्रदान करता है।

बच्चे बाल दिवस की तैयारियों में हफ्तों से जुटे होते हैं। वे नाटक खेलने तथा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की तैयारियां करते हैं। स्कूलों में इसके लिए बच्चों से अभ्यास कराया जाता है। वे स्कूल को सजाते है क्योंकि स्कूल उनके लिए विद्या का मंदिर होता है।

इस तरह बाल दिवस विभिन्न प्रकार की हलचलों से परिपूर्ण होता है। इस दिन बच्चे अपने अपने प्यारे चाचा नेहरू को श्रद्धासुमन अर्पित करते हैं। पं. नेहरू की समाधि ‘शांतिवन’ पर जाकर नेतागण और बच्चे उन्हें श्रधांजलि देते हैं। वे नेहरू जी के आदर्शों का स्मरण करते हैं।

अलग-अलग देशों अलग दिन मनाया जाता है बाल दिवस

14 नवम्बर भारत में बाल दिवस रूप में मनाया जाता है लेकिन बाल दिवस दुनिया भर में अलग-अलग तारीखों पर मनाया जाता है।

कैसे हुई इसकी शुरुआत?

असल में बाल दिवस की नींव 1925 में रखी गई थी, जब बच्चों के कल्याण पर विश्व कांफ्रेंस में बाल दिवस मनाने की घोषणा हुई। 1954 में दुनिया भर में इसे मान्यता मिली। संयुक्त राष्ट्र ने दिन 20 नवम्बर के लिए तय किया लेकिन अलग-अलग देशों में यह अलग दिन मनाया जाता है। कुछ देश 20 नवम्बर को ही बाल दिवस मनाते हैं। 1950 से बाल संरक्षण दिवस यानी 1 जून भी कई देशों में बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है।

Check Also

हिंदी दिवस Short Poem on Hindi Divas

विश्व हिन्दी दिवस: 10 जनवरी

विश्व हिन्दी दिवस का उद्देश्य विश्व में हिन्दी के प्रचार-प्रसार के लिए वातावरण निर्मित करना, …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *