Tag Archives: Top 10 Inspirational Quotations in Hindi

गौतम बुद्ध के प्रेरणात्मक कथन

गौतम बुद्ध के प्रेरणात्मक कथन

महात्मा गौतम बुद्ध विश्व के प्राचीनतम धर्मों में से एक बौद्ध धर्म के प्रवर्तक थे। इनके बचपन का नाम सिद्धार्थ था। शाक्य नरेश शुद्धोधन के घर जन्मे सिद्धार्थ विवाहोपरांत नवजात शिशु राहुल और पत्नी यशोधरा को त्यागकर संसार को जरा, मरण और दुखों से मुक्ती दिलाने के मार्ग की तलाश में रात में राजपाठ छोड़कर जंगल चले गए। वर्षों की …

Read More »

गौतम बुद्ध के अनमोल विचार विद्यार्थियों के लिए

Name: Gautam Buddha / भगवान गौतम बुद्ध जन्म: 563 BC or 623 BC Lumbini, today in Nepal निधन: 483 BC or 543 BC (aged 80) Kushinagar, India जीवनसाथी: राजकुमारी यशोधरा बच्चे: राहुल पिता / माता: शुद्धोधन / मायादेवी गौतम बुद्ध एक श्रमण थे जिनकी शिक्षाओं पर बौद्ध धर्म का प्रचलन हुआ। उनका जन्म लुंबिनी में 563 ईसा पूर्व इक्ष्वाकु वंशीय …

Read More »

पानी बचाओ व जल संरक्षण पर अनमोल विचार व नारे

पानी बचाओ व जल संरक्षण पर अनमोल विचार व नारे

पानी बचाओ पर अनमोल विचार: पानी जीवन की basic necessity है। किसी और ग्रह पर भी जीवन खोजना होता है तो पहले वैज्ञानिक यही पता लगाते हैं कि वहां पानी है कि नहीं… और यहाँ पृथ्वी पर हम इस अमूल्य संसाधन का दुरूपयोग करते नहीं थकते… कहीं टंकियों से भर कर पीने का साफ पानी नालियों में गिराया जाता है …

Read More »

भगवान महावीर के अनमोल वचन विद्यार्थियों के लिए

भगवान महावीर के अनमोल वचन विद्यार्थियों के लिए

भगवान महावीर के अनमोल वचन विद्यार्थियों के लिए: पंचशील सिद्धान्त के प्रर्वतक एवं जैन धर्म के चौबिसवें तीर्थकंर महावीर स्वामी अहिंसा के मूर्तिमान प्रतीक थे। जिस युग में हिंसा, पशुबलि, जाति-पाँति के भेदभाव का बोलबाला था उसी युग में भगवान महावीर ने जन्म लिया। उन्होंने दुनिया को सत्य, अहिंसा जैसे खास उपदेशों के माध्यम से सही राह दिखाने की ‍कोशिश …

Read More »

तम्बाकू पर उद्धरण विद्यार्थियों और बच्चों के लिए

तम्बाकू पर उद्धरण

तम्बाकू पर उद्धरण विद्यार्थियों और बच्चों के लिए: 31 मई को तम्बाकू निषेध दिवस / World No Tobacco Day मनाया जाता है आइये इस अवसर पर हम संकल्प लें कि खुद भी नशा नही करेंगे और अन्य लोगो को भी नशा ना करने के लिये प्रोत्साहित करेंगे। पेश हैं तम्बाकू के बारे में कहे कुछ परषिद उद्धरण। आप को पसंद …

Read More »

महिलाओं पर उद्धरण विद्यार्थियों के लिए

महिलाओं पर उद्धरण - Women Quotes in Hindi

महिलाओं पर उद्धरण: महिला जिसे स्त्री, नारी, औरत, Women जैसे अनेक नामो से पुकारा जाता है। स्त्री ईश्वर की वह सबसे खुबसुरत रचना है जो की प्रकृति को चलाने में अग्रिम भूमिका निभाती है। लेकिन दया और ममता की मूर्ति स्त्री सदियों से ही पुरुषो के वर्चस्व के आगे दबी हुई दिखाई देती है। किसी देश की स्थिति का अंदाजा …

Read More »

पण्डित दीनदयाल उपाध्याय के अनमोल विचार

पण्डित दीनदयाल उपाध्याय के अनमोल विचार

पण्डित दीनदयाल उपाध्याय के अनमोल विचार – पण्डित दीनदयाल उपाध्याय (जन्म: 25 September 1916 Mathura – 11 February 1968, Mughalsarai) महान चिन्तक और संगठनकर्ता थे। वे भारतीय जनसंघ के अध्यक्ष भी रहे। उन्होंने भारत की सनातन विचारधारा को युगानुकूल रूप में प्रस्तुत करते हुए देश को एकात्म मानववाद जैसी प्रगतिशील विचारधारा दी। उपाध्यायजी नितान्त सरल और सौम्य स्वभाव के व्यक्ति …

Read More »

बाल गंगाधर तिलक के अनमोल विचार विद्यार्थियों के लिए

Lokmanya Bal Gangadhar Tilak Quotes in Hindi बाल गंगाधर तिलक के अनमोल विचार

उपनाम: बाल, लोकमान्य जन्मस्थल: रत्नागिरी जिला, महाराष्ट्र मृत्युस्थल: बम्बई, महाराष्ट्र आन्दोलन: भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम प्रमुख संगठन: भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस बाल गंगाधर तिलक के अनमोल विचार बाल गंगाधर तिलक (जन्म: 23 जुलाई, 1856 – मृत्यु: 1 अगस्त, 1920) हिन्दुस्तान के एक प्रमुख नेता, समाज सुधारक और स्वतन्त्रता सेनानी थे। ये भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम के पहले लोकप्रिय नेता थे। इन्होंने सबसे पहले …

Read More »

अटल बिहारी वाजपेयी के अनमोल विचार बच्चों के लिए

अटल बिहारी वाजपेयी के अनमोल विचार

अटल बिहारी वाजपेयी के अनमोल विचार विद्यार्थियों और बच्चों के लिए: राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार के पहले प्रधानमन्त्री और रिकॉर्ड 9 बार लोकसभा के लिए चुने गये अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म 25 दिसंबर 1924 को ग्वालियर, ब्रिटिश भारत में हुआ। इनके पिता का नाम पण्डित कृष्ण बिहारी वाजपेयी था जो मध्य प्रदेश की रियासत ग्वालियर में अध्यापक थे और हिन्दी …

Read More »

सरदार वल्लभभाई पटेल के अनमोल विचार

सरदार वल्लभभाई पटेल के अनमोल विचार

सरदार वल्लभभाई पटेल के अनमोल विचार: सरदार वल्लभ भाई पटेल (31 अक्टूबर, 1875 – 15 दिसम्बर, 1950) भारत के स्वतन्त्रता संग्राम सेनानी एवं स्वतन्त्र भारत के प्रथम गृहमंत्री थे। सरदार पटेल बर्फ से ढंके एक ज्वालामुखी थे। वे नवीन भारत के निर्माता थे। राष्ट्रीय एकता के बेजोड़ शिल्पी थे। वास्तव में वे भारतीय जनमानस अर्थात किसान की आत्मा थे। भारत …

Read More »