Tag Archives: Freedom Fighters History for Students

लाइफ ऑफ़ बैरिस्टर वीर विनायक दामोदर सावरकर

लाइफ ऑफ़ बैरिस्टर वीर विनायक दामोदर सावरकर

लाइफ ऑफ़ बैरिस्टर सावरकर: भारत माता के सर्वोत्तम पुत्रो में से एक वीर विनायक दामोदर सावरकर जी का जन्म दिवस (28 May, 1883 – 26 February, 1966) था, जिनको आज लोग, ‘वीर सावरकर’ के नाम से उद्बोधित करते है। सावरकर जी उन स्वतंत्रता सेनानियों और क्रांतिकारियों में से है, जिनके योगदान को, कांग्रेस की सरकारों और वामपंथी इतिहासकारो द्वारा स्वतंत्रता …

Read More »

वीर सावरकर की पत्नी यमुनाबाई: एक सच्ची देशभक्त

वीर सावरकर की पत्नी यमुनाबाई: एक सच्ची देशभक्त

गाँधी की हत्या के बाद गुंडों ने हमला किया तो अकेले लाठी लेकर भिड़ गई थीं वीर सावरकर की पत्नी यमुनाबाई: कहानी ‘त्या तिघी’ में से एक की पति को कालापानी ले जाए जाने से पहले मुंबई के डोंगरी जेल में वो उनसे मिली थीं। वीर सावरकर ने तब उनसे कहा था कि तिनके-तीलियाँ बटोर कर बच्चों के पालन-पोषण को …

Read More »

प्रीतिलता वड्डेदार: अंग्रेजों के खिलाफ क्रांति की अमर मिसाल

प्रीतिलता वड्डेदार: अंग्रेजों के खिलाफ क्रांति की अमर मिसाल

अंग्रेजों के खिलाफ क्रांति की अमर मिसाल प्रीतिलता वड्डेदार: महज 21 साल की उम्र में देश के लिए दिया सर्वोच्च बलिदान चिटगाँव स्थित शस्त्रागार में 18 अप्रैल 1930 छापा मारा गया और उस दौरान प्रीतिलता वड्डेदार ने सफलतापूर्वक टेलीफोन लाइनों, टेलीग्राफ कार्यालय को नष्ट कर दिया। भारत का इतिहास ऐसे कई उदाहरणों से भरा पड़ा है, जिसमें देश के स्वतंत्रता …

Read More »

How General Dyer was honoured by some Indians

How General Dyer was honoured by some Indians

General Reginald Dyer defending his actions on April 13, 1919, in Jallianwala Bagh How Reginald Dyer, the General who ordered Jallianwala Bagh massacre, was honoured by some Indians Jallianwala Bagh massacre by the British was one of the worst events in the history of India. As per British official records, 379 unarmed Indians were killed and 1100 were injured because …

Read More »

Sardar Vallabhbhai Patel Speech: Busts myth of ‘Muslims chose India’

Sardar Vallabhbhai Patel Speech: Busts myth of 'Muslims chose India'

Watch: The 1948 Calcutta Maidan speech of Sardar Patel that busts the myth of ‘Muslims chose India’ and is relevant even today While it has now become almost unforgivable to question the core tenet of Nehruvian Secularism, the political stalwarts of the Independence era were well aware that Muslims had not chosen to remain in India because they rejected the …

Read More »