Tag Archives: Devotional Hindi Quotations

गौतम बुद्ध के प्रेरणात्मक कथन

गौतम बुद्ध के प्रेरणात्मक कथन

महात्मा गौतम बुद्ध विश्व के प्राचीनतम धर्मों में से एक बौद्ध धर्म के प्रवर्तक थे। इनके बचपन का नाम सिद्धार्थ था। शाक्य नरेश शुद्धोधन के घर जन्मे सिद्धार्थ विवाहोपरांत नवजात शिशु राहुल और पत्नी यशोधरा को त्यागकर संसार को जरा, मरण और दुखों से मुक्ती दिलाने के मार्ग की तलाश में रात में राजपाठ छोड़कर जंगल चले गए। वर्षों की …

Read More »

गौतम बुद्ध के अनमोल विचार विद्यार्थियों के लिए

Name: Gautam Buddha / भगवान गौतम बुद्ध जन्म: 563 BC or 623 BC Lumbini, today in Nepal निधन: 483 BC or 543 BC (aged 80) Kushinagar, India जीवनसाथी: राजकुमारी यशोधरा बच्चे: राहुल पिता / माता: शुद्धोधन / मायादेवी गौतम बुद्ध एक श्रमण थे जिनकी शिक्षाओं पर बौद्ध धर्म का प्रचलन हुआ। उनका जन्म लुंबिनी में 563 ईसा पूर्व इक्ष्वाकु वंशीय …

Read More »

भगवान महावीर के अनमोल वचन विद्यार्थियों के लिए

भगवान महावीर के अनमोल वचन विद्यार्थियों के लिए

भगवान महावीर के अनमोल वचन विद्यार्थियों के लिए: पंचशील सिद्धान्त के प्रर्वतक एवं जैन धर्म के चौबिसवें तीर्थकंर महावीर स्वामी अहिंसा के मूर्तिमान प्रतीक थे। जिस युग में हिंसा, पशुबलि, जाति-पाँति के भेदभाव का बोलबाला था उसी युग में भगवान महावीर ने जन्म लिया। उन्होंने दुनिया को सत्य, अहिंसा जैसे खास उपदेशों के माध्यम से सही राह दिखाने की ‍कोशिश …

Read More »

इस्लाम पर अनमोल विचार बच्चों के लिए

Famous Hindi Quotes on Islam इस्लाम पर अनमोल विचार

इस्लाम पर अनमोल विचार: इस्लाम एक एकेश्वरवादी धर्म है, जो इसके अनुयायियों के अनुसार, अल्लाह के अंतिम रसूल और नबी, मुहम्मद द्वारा मनुष्यों तक पहुंचाई गई अंतिम ईश्वरीय पुस्तक कुरान की शिक्षा पर आधारित है। कुरान अरबी भाषा में रची गई और इसी भाषा में विश्व की कुल जनसंख्या के 25% हिस्से, यानी लगभग 1.6 से 1.8 अरब लोगों, द्वारा …

Read More »

गुरु नानक देव जी के अनमोल विचार विद्यार्थियों के लिए

गुरु नानक देव जी के अनमोल विचार

गुरु नानक देव जी के अनमोल विचार: गुरू नानक देव या नानक देव सिखों के प्रथम गुरू थे। गुरु नानक साहब ने ही सिख धर्म की स्थापना किया था। गुरु नानक देव का जन्म 15 अप्रैल 1469 को पंजाब प्रान्त के तलवंडी ग्राम में हुआ था जो की वर्तमान में यह स्थान पाकिस्तान में है लेकिन कुछ मतो के अनुसार इनका …

Read More »

छठ पूजा उद्धरण और सन्देश विद्यार्थियों के लिए

छठ पूजा Chhath Puja

छठ पूजा उद्धरण और सन्देश: छठ पर्व या छठ कार्तिक शुक्ल की षष्ठी को मनाया जाने वाला एक हिन्दू पर्व है। सूर्योपासना का यह अनुपम लोकपर्व मुख्य रूप से पूर्वी भारत के बिहार, झारखण्ड, पूर्वी उत्तर प्रदेश और नेपाल के तराई क्षेत्रों में मनाया जाता है। प्रायः हिंदुओं द्वारा मनाए जाने वाले इस पर्व को इस्लाम सहित अन्य धर्मावलंवी भी …

Read More »

श्रीमद् भगवद् गीता के अनमोल वचन

श्रीमद् भगवद गीता के अनमोल वचन Shrimad Bhagavad Gita Quotes in Hindi

श्रीमद् भगवद् गीता के अनमोल वचन: श्रीमद्भगवद्‌गीता हिन्दुओं के पवित्रतम ग्रन्थों में से एक है। यह कोई मानवीय पुस्तक नहीं अपितु स्वयं भगवान् की वाणी है। महाभारत के अनुसार कुरुक्षेत्र युद्ध में श्री कृष्ण ने गीता का सन्देश अर्जुन को सुनाया था। यह महाभारत के भीष्मपर्व के अन्तर्गत दिया गया एक उपनिषद् है। इसमें एकेश्वरवाद, कर्म योग, ज्ञानयोग, भक्ति योग, …

Read More »

धनतेरस उद्धरण और सन्देश विद्यार्थियों के लिए

धनतेरस उद्धरण और सन्देश Dhanteras Quotes & SMS in Hindi

धनतेरस उद्धरण और सन्देश विद्यार्थियों के लिए: जिस प्रकार देवी लक्ष्मी सागर मंथन से उत्पन्न हुई थी उसी प्रकार भगवान धनवन्तरि भी अमृत कलश के साथ सागर मंथन से उत्पन्न हुए हैं। देवी लक्ष्मी हालांकि की धन देवी हैं परन्तु उनकी कृपा प्राप्त करने के लिए आपको स्वस्थ्य और लम्बी आयु भी चाहिए यही कारण है दीपावली दो दिन पहले …

Read More »

दिवाली उद्धरण और सन्देश विद्यार्थियों और बच्चों के लिए

दिवाली उद्धरण और सन्देश Diwali Quotes & SMS in Hindi

दिवाली उद्धरण और सन्देश विद्यार्थियों और बच्चों के लिए: दिवाली या दीपावली अर्थात “रोशनी का त्योहार” शरद ऋतु (उत्तरी गोलार्द्ध) में हर वर्ष मनाया जाने वाला एक प्राचीन हिंदू त्योहार है। दिवाली भारत के सबसे बड़े और प्रतिभाशाली त्योहारों में से एक है। यह त्योहार आध्यात्मिक रूप से अंधकार पर प्रकाश की विजय को दर्शाता है। भारत वर्ष में मनाए …

Read More »

माँ और मातृत्व पर उद्धरण विद्यार्थियों और बच्चों के लिए

माँ और मातृत्व पर उद्धरण - Famous Hindi Quotes on Mother & Motherhood

माँ और मातृत्व पर उद्धरण विद्यार्थियों और बच्चों के लिए: माँ एक अनुभूति, एक विश्वास, एक रिश्ता नितांत अपना सा। गर्भ में अबोली नाजुक आहट से लेकर नवागत के गुलाबी अवतरण तक, मासूम किलकारियों से लेकर कड़वे निर्मम बोलों तक, आँगन की फुदकन से लेकर नीड़ से सरसराते हुए उड़ जाने तक, माँ मातृत्व की कितनी परिभाषाएँ रचती है। स्नेह, …

Read More »