Poems In English

Mirabai Devotional Hindi Bhajan मेरो तो गिरधर गोपाल: मीरा की कृष्ण भक्ति

Mirabai Devotional Hindi Bhajan मेरो तो गिरधर गोपाल: मीरा की कृष्ण भक्ति

मेरो तो गिरधर गोपाल दूसरा न कोई जाके सिर मोर मुकुट मेरो पति सोई छांड़ि दई कुल की कानि कहा करि है कोई सन्तन संग बैठि–बैठि लोक लाज खोई अंसुवन जल सींचि–सींचि प्रेम बेलि बोई अब तो बेल फैल गई आणन्द फल होई भगत देखि राजी हुई जगत देखि रोई दासी ‘मीरा’ लाल गिरधर तारौ अब मोहीं मेरो तो गिरधर …

Read More »

Short Hindi Poem about Selfishness शोर

Short Hindi Poem about Selfishness शोर

आज जीवन का ऐसा दौर आया है। हर तरफ इक अजीब मोड़ आया है। आज जीवन का ऐसा… तंगदिल हो गया ज़माना कि अब अपना भी लगे बेगाना, हर तरफ इक अजीब मोड़ आया है। आज जीवन का ऐसा… समय नहीं है, समय नहीं हैं, हर तरफ यहीं शोर छाया है हर तरफ इक अजीब मोड़ आया है आज जीवन …

Read More »