Kids Magazine

These empowered women challenged conventions: International Women’s Day Special

These empowered women challenged conventions - International Women's Day Special

IWD Special: These empowered women challenged conventions Shoot At Sight: Nisha Pahuja – Empowered women [1] Documentary filmmaker Nisha Pahuja got relentless support from Indian filmmaker Anurag Kashyap for her docu-film, The World Before Her. Why? Because she challenged the conventions of women empowerment and regression on screen. Always socially conscious, Nisha took on the changing idea of women liberation …

Read More »

International Women’s Day Special: Women, it’s high time you own those 5 days

International Women's Day Special - Women, it's high time you own those 5 days

International Women’s Day Special: I skulked home one afternoon from school in a particularly muggy hot Delhi summer month and spent the day cursing fate that I was born a girl. I was 14 years old, in class ninth and had just discovered that my period, the first two awful days (!), were going to coincide with the two days …

Read More »

भारतीय स्वतंत्रता सेनानी चंद्रशेखर आजाद से जुड़ी बातें

Facts about Chandra Shekhar Azad चंद्रशेखर आजाद से जुड़ी बातें

भारतीय स्वतंत्रता सेनानी चंद्रशेखर आजाद से जुड़ी बातें: पण्डित चंद्रशेखर आज़ाद (23 जुलाई 1906 – 27 फ़रवरी 1931) ऐतिहासिक दृष्टि से भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम के स्वतंत्रता सेनानी थे। वे पण्डित राम प्रसाद बिस्मिल व सरदार भगत सिंह सरीखे क्रान्तिकारियों के अनन्यतम साथियों में से थे। सन् 1922 में गाँधीजी द्वारा असहयोग आन्दोलन को अचानक बन्द कर देने के कारण उनकी …

Read More »

Trendsetting Rajinikanth’s style statements

Trendsetting Rajinikanth's style statements

Superstar Rajinikanth, who turns 69 on 12th December 2020, has long since been synonymous with style. From the way he flips his cigarette to his signature walk, the man is known for his inimitable and unparalleled style in his movies. His style statements, which have turned trendsetters over the years, are a fashion school in their own right. Trendsetting Rajinikanth …

Read More »

दारुल उलूम हक्कानिया: पाकिस्तान की जिहाद यूनिवर्सिटी

दारुल उलूम हक्कानिया: पाकिस्तान की जिहाद यूनिवर्सिटी

दारुल उलूम हक्कानिया: वो यूनिवर्सिटी जहाँ से निकले ग्रैजुएट्स बनते हैं दुनिया के सबसे बड़े और खूंखार आतंकी दारुल उलूम हक्कानिया मतलब जिहाद यूनिवर्सिटी। प्रभाव इतना कि इमरान सरकार की ओर से आर्थिक संरक्षण दिया जाता है। 2016-2017 में 300 मिलियन रुपयों और साल 2018 में 277 मिलियन रुपए देकर यहाँ से… दारुल उलूम हक्कानिया: पाकिस्तान का नाम आतंकवाद को …

Read More »

Sushant Singh Rajput Case: Who’s Who

Sushant Singh Rajput Case: Who's Who

Sushant Singh Rajput Case: On 14 June 2020, Indian actor Sushant Singh Rajput was found dead at his home in Bandra, Mumbai, with the cause ruled as suicide. The official postmortem reports concluded that he died of asphyxia due to hanging. The Mumbai Police launched an investigation into the death, which was surrounded by rumours and speculation. Rhea Chakraborty Rhea …

Read More »

राहत इंदौरी: करोड़ों के शेर या दो कौड़ी का शायर

राहत इंदौरी: करोड़ों के शेर या दो कौड़ी का शायर

गोधरा पर मुस्लिम भीड़ को क्लिन चिट, घुटनों को सेक्स में समेट वाजपेयी का मजाक: एक राहत इंदौरी यह भी “अपने मुर्दे भी जो जलाते नहीं… जिंदा लोगों को क्या जलाएँगे” – गोधरा कांड पर हिंसक मुस्लिम भीड़ को अपने शेरों से बचाने की राहत इंदौरी की कोशिश। इसके अलावा घुटने को सिर्फ और सिर्फ सेक्स से जोड़ कर राहत …

Read More »

सिपाही गुरतेज सिंह: केवल कृपाण से 12 चीनियों को मारा

कृपाण से 12 चीनी सैनिकों को मारकर बलिदान हुए गुरतेज

सिपाही गुरतेज सिंह पर पीपुल्‍स लिब्रेशन आर्मी (पीएलए) के चार सैनिकों ने हमला बोला। गुरतेज जरा भी डरे नहीं बल्कि रेजीमेंट का युद्धघोष ‘बोले सो निहाल, सत श्री अकाल,’ चिल्‍लाते हुए उनकी तरफ बढ़े। गुरतेज ने दो को वहीं ढेर कर दिया जबकि दो ने उन्‍हें जान से मारने की कोशिश की। गुरतेज उनको पहाड़ी पर खींच कर ले गए …

Read More »

बाबासाहेब बी आर अम्बेडकर के बारे में कुछ रोचक तथ्य

बाबासाहेब बी आर अम्बेडकर के बारे में कुछ रोचक तथ्य

बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर का जीवन संघर्ष और सफलता की ऐसी अद्भुत मिसाल है जो शायद ही कहीं और देखने को मिले। Indian Caste System की बुराइयों के बीच जन्मे बाबासाहेब ने बचपन से ही उपेक्षा और असमानता का आघात झेला। कोई आम आदमी इन आघातों से कमजोर पड़ जाता पर बाबासाहेब तो कुछ अलग ही मिट्टी के बने थे; इन …

Read More »