निजामुद्दीन - मुस्लमान हैं और एक योग इंस्ट्रक्टर

निजामुद्दीन – मुस्लमान हैं और एक योग इंस्ट्रक्टर

योग और सूर्य नमस्कार को लेकर देश में विवाद काफी गर्माता जा रहा है। विवादों के बीच कई मुस्लिम संस्थाओं ने मुसलमानों से योग आसन न करने की अपील की है। अलग-अलग नेताओं के बयान एक नए विवाद को पैदा कर रहे है। भले ही योग को इस्लाम में इस्लाम विरोधी माना जाता है। लेकिन गुजरात के निजामुद्दीन शेख की कहानी इन सबसे बिल्कुल अलग है।

अहमदाबाद में योग टीचर के तौर पर काम रहे निजामुद्दीन एक योग इंस्ट्रक्टर हैं व 1987 से योग कर रहे है। और अपने साथ कुछ साथियों को भी योग सिखाते है। निजामुद्दीन को कई रुढि़वादी मुस्लिमों ने योग न करने की चेतावनी भी दी थी। और अन्य मुस्लिमों को भी उनकी क्लासेज जॉइन करने से रोका था। लेकिन विरोध के बावजूद भी व योग करते रहे और अपने साथियों को भी योग की ट्रेनिग देते रहे। कई हिन्दु भी उनसे योग की क्लास लेते है और व सभी से एक जैसा व्यवहार करते है किसी से भी मतभेद नहीं करते। उनका कहना है कि योग का किसी धर्म से कोई भी वास्ता नहीं है यह तो सिर्फ एक एक्सर्साइज है।

Check Also

स्वतंत्रता से जुड़े कुछ अनमोल वचन

स्वतंत्रता पर अनमोल वचन विद्यार्थियों और बच्चों के लिए

स्वतंत्रता पर अनमोल वचन: जब कभी भी हम 15 August का नाम सुनते है तो हमारे …