Home » Vastu Shastra » Goddess Lakshmi brings prosperity लक्ष्मी पूजन बनाये धन लाभ का योग
Goddess Lakshmi brings prosperity लक्ष्मी पूजन बनाये धन लाभ का योग

Goddess Lakshmi brings prosperity लक्ष्मी पूजन बनाये धन लाभ का योग

प्रतिदिन घर और कार्य स्थान में लक्ष्मी पूजन अवश्य करना चाहिए। संभव न हो तो शुक्रवार के दिन अथवा महालक्ष्मी के प्रिय दिनों में पूजन करने से लक्ष्मी कृपा बनी रहती है। 15 अक्तूबर, 2016 शनिवार को शरद पूर्णिमा है और 30 अक्टूबर, 2016 को दीवाली है। यह दोनों दिन देवी लक्ष्मी को अत्यंत प्रिय हैं। धन लाभ की इच्छा रखने वाले जातको को इन दो दिनों में खास चीजों के साथ लक्ष्मी पूजन करना चाहिए। अगर आप पूजन करते समय इन चीजों का प्रयोग करेंगे तो कामयाबी की सीढ़ियां चढ़ेंगे, शादी-विवाह में भी आसानी होगी साथ ही धन लाभ के योग बनेंगे।
  • सुपारी
  • हत्था जोड़ी
  • श्री यंत्र
  • मोती शंख
  • लक्ष्मी कौड़ी
  • गोमती चक्र
  • आंकड़े की जड़
  • एकाक्षी नारियल
  • दक्षिणावर्ती शंख
  • लघु नारियल
  • कमल गट्टे
  • पारद लक्ष्मी चित्रपट अथवा स्वरूप
  • लक्ष्मी यंत्र
  • कुबेर यंत्र
  • स्फटिक का श्री यंत्र
  • श्रेतार्क गणेश
  • हल्दी  की गांठ
  • कुमकुम
  • नारियल
  • कमलगट्टे की माला
  • पीली कौड़ियां

रखें ध्यान

  • घर के मुुख्य प्रवेश द्वार पर लाल रंग के सिंदूर से स्वास्तिक का चिन्ह आगे व पीछे दाेनाें तरफ बनाएं ताकि आने आैर जाने वाले दाेनाें काे गणेश भगवान जी का आशीर्वाद मिले। सुख एवं समृद्धि का प्रवेश हाे एवं दुख आैर दरिद्रता घर से बाहर प्रस्थान करें।
  • रंग-बिरंगी रंगाेली से घर को सजाने के लिए पहले ही रंग बना कर रख लें और उन्हें अच्छी धूप दिखाएं। रंगोली से मां लक्ष्मी के स्वागत के लिए उनके चरणाें का स्वरूप इस तरह बनाएं कि वाे घर में आ रहे हाें।
  • आम के पत्ताें का बंधन बना कर मुख्य द्वार पर लगाएं।
  • घर के उत्तर तथा पूर्व की दिशा काे गंगा जल डालकर शुद्ध करें। गणेश जीे का श्री स्वरूप माता लक्ष्मी के दाहिनें तरफ रखें। दाेनाें स्वरूप बैठने की मुद्रा में हाेने चाहिए।

Check Also

How to draw bird

How To Draw Bird: Drawing Lessons for Students and Children

How To Draw Bird: Drawing Lessons for Students and Children – Step – by – …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *