Home » Vastu Shastra » देवी लक्ष्मी और घर का वास्तुदोष
देवी लक्ष्मी और घर का वास्तुदोष

देवी लक्ष्मी और घर का वास्तुदोष

आज के प्रतिस्पर्धा युग में व्यक्ति को सर्वाधिक चिंता रोटी, कपड़ा और मकान की सताती है। यह चीजें मूलत: धन पर ही टिके हैं जिसकी कमी के कारण दरिद्रता के साथ-साथ आर्थिक तंगी का भी सामना करना पड़ता है। शास्त्रों के अनुसार धन की देवी की कृपा हर किसी पर नहीं बरसती जिसका कारण हमारी जीवनशैली के साथ-साथ घर का वास्तुदोष भी होता है।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुण्डली का दूसरा भाव धन को संबोधित करता है। चौथा भाव मकान को संबोधित करता है। सातवां भाव कपड़ों और गहनों को संबोधित करता है तथा ग्यारवां भाव लाभ को संबोधित करता है जिससे व्यक्ति की रोजी-रोटी चलती है। इन भावों के स्वामी का पीड़ीत होना अथवा उन भावों में क्रूर ग्रहों की दृष्टि के कारण व्यक्ति की रोटी, कपड़ा मकान की इच्छाएं पूरी नहीं होती। इन चीजों की व्यवस्था केे लिए सर्वाधिक अनुकुल लक्ष्मी साधना है। साथ-साथ घर के वास्तु दोष को दूर करके भी लक्ष्मी कृपा प्राप्त कर सकता है। आप भी ये उपाय करके लक्ष्मी कृपा प्राप्त कर रोटी, कपड़ा और मकान की इच्छा पूरी कर सकते हैं।

  • धन जमा करने के लिए तिजोरी का मुंह उत्तर दिशा की तरफ रखें।
  • घर में जितने भी बैडरूम हों उनके दरवाजों के सामने वाली दिवारों के बाएं कोने में धातु से बना स्वास्तिक लगाएं।
  • पानी टपकता है तो उसे ठीक करवा लें।
  • रद्दी अथवा कूड़ा न रखें।
  • छत पर और सीढ़ीयों के नीचे कभी भी कबाड़ न रखें।
  • शुक्रवार को देवी लक्ष्मी पर 16 मुखी आटे से बना दीपक जलाएं।
  • शुक्रवार को देवी लक्ष्मी को रोटी और दही का भोग लगाकर सफेद रंग की गाय को खिला दें।

Check Also

पिता का रूप - फादर्स डे स्पेशल हिंदी कविता

पिता का रूप – फादर्स डे स्पेशल हिंदी कविता

जन्म देती है माँ चलना सिखाते हैं पिता हर कदम पे बच्चों के रहनुमा होते …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *