Home » Tag Archives: Tiranga

Tag Archives: Tiranga

Hindi Shayari

Hindi Shayari

व्हात्सप्प से ली गयी – बेनाम शायरी दुश्मनों की महफ़िल में चल रही थी मेरे कत्ल की तैयारी… मैं पहुंचा तो बोले, “यार बहुत लम्बी उम्र हे तुम्हारी…” ———————————————– मै ये नही कहता की मेरा हाल पूछो तुम खुद किस हाल मै हो बस इतना बता दिया करो तुम…| ———————————————– काग़ज़ पे तो अदालत चलती है… हमने तो तेरी आँखो …

Read More »

26 January – Republic Day Greetings

26 January - Republic Day Greetings

26 January – Republic Day Greetings: Republic Day marks the adoption of the Constitution of India and the transition of India into a republic nation on 26th January, 1950. One of the three national holidays of India, this day is celebrated with true spirit of patriotism and brotherhood in our hearts. While the President hoists the flag in the capital, …

Read More »

15 August Images

15 August Images

Independence Day, (स्वतंत्रता दिवस) observed annually on 15 August, is a National Holiday in India commemorating the nation’s independence from the British Empire on 15 August 1947. Independence coincided with the partition of India, in which the British Indian Empire was divided along religious lines into the Dominions of India and Pakistan; the partition was accompanied by violent riots and …

Read More »

15 August Greetings

15 August Greetings

15 August Greetings: Independence Day, celebrate annually on 15 August, is a National Holiday in India commemorating the nation’s independence from the British Empire on 15 August 1947. India attained independence following an Independence Movement noted for largely nonviolent resistance and civil disobedience led by the Indian National Congress (INC). Independence coincided with the partition of India, in which the British …

Read More »

चलो तिरंगे को लहरा लें Patriotic poem in Hindi

चलो तिरंगे को लहरा लें Patriotic poem in hindi

अब सोया जन तंत्र जगा लें, जन-जन को विश्वास दिला लें। निर्भय होकर हम अम्बर में, चलो तिरंगे को लहरा लें॥ चौराहों पैर चीखें क्यों हैं, अर्थ-व्यवस्था मौन दिखती, मजदूरों की बस्ती में तो, अब रोटी क्यूँ गौण दिखती। रोटी के बदले में बोटी, छीन रहें हैं ये धन वाले – गिरगिट जैसे जमाखोर हैं, आओ इनको नाच-नचा लें। अब …

Read More »

झंडा ऊँचा रहे हमारा – श्यामलाल पार्षद

झंडा ऊँचा रहे हमारा – श्यामलाल पार्षद

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा झंडा ऊँचा रहे हमारा सदा शक्ति बरसाने वाला प्रेम–सुधा सरसाने वाला वीरों को हर्षाने वाला मातृभूमि का तन–मन सारा झंडा ऊँचा रहे हमारा स्वतंत्रता के भीषण रण में लड़ कर जोश भरे छन–छन में कांपे क्षत्रु देखकर मन में मिट जाये भय–संकट सारा झंडा ऊँचा रहे हमारा इस झंडे के नीचे निर्भय ले स्वराज्य हम अब …

Read More »

मुझे अभिमान हो – दिवांशु गोयल ‘स्पर्श’

मुझे अभिमान हो - दिवांशु गोयल ‘स्पर्श’

आज मुझे फिर इस बात का गुमान हो, मस्जिद में भजन, मंदिरों में अज़ान हो, खून का रंग फिर एक जैसा हो, तुम मनाओ दिवाली, मैं कहूं रमजान हो, तेरे घर भगवान की पूजा हो, मेरे घर भी रखी एक कुरान हो, तुम सुनाओ छन्द ‘निराला’ के, यहाँ ‘ग़ालिब’ से मेरी पहचान हो, हिंदी की कलम तुम्हारी हो, यहाँ उर्दू …

Read More »

अपनी आज़ादी को हम हरगीज मिटा सकते नहीं – लीडर

apni-azadi-ko-hum-hargiz-mita-sakte-nahi-leader

अपनी आज़ादी को हम हरगीज मिटा सकते नहीं सर कटा सकते हैं लेकीन सर झुका सकते नहीं हमने सदियों में ये आज़ादी की नेमत पाई है सैकडों कुरबानियां दे कर ये दौलत पाई है मुस्कुराकर खाई हैं सीनों पे अपने गोलियां कितने वीरानों जो गुजरे हैं पर जन्नत पाई है खाक में हम अपनी इज्जत को मिला सकते नहीं अपनी …

Read More »