Home » Tag Archives: Mother

Tag Archives: Mother

रविवार की छुट्टी पर हिंदी बाल-कविता – आज हमारी छुट्टी है

रविवार की छुट्टी पर हिंदी बाल-कविता - आज हमारी छुट्टी है

रविवार का प्यारा दिन है, आज हमारी छुट्टी है। उठ जायेंगे क्या जल्दी है, नींद तो पूरी करने दो। बड़ी थकावट हफ्ते भर की, आराम ज़रूरी करने दो। नहीं घड़ी की ओर देखना, न करनी कोई भागम- भाग। मनपसंद वस्त्र पहनेंगे, आज नहीं वर्दी का राग। खायेंगे आज गर्म पराँठे, और खेलेंगे मित्रों संग। टीचर जी का डर न हो …

Read More »

Collection of Nida Fazli Couplets निदा फाजली के दोहे 2

Collection of Nida Fazli Couplets निदा फाजली के दोहे 2

मैं भी तू भी यात्री, आती जाती रेल अपने अपने गाँव तक, सब का सब से मेल। बूढ़ा पीपल घाट का, बतियाये दिन रात जो भी गुजरे पास से, सर पर रख दे हाथ। जादू टोना रोज का, बच्चों का व्यवहार छोटी सी एक गेंद में, भर दें सब संसार। छोटा कर के देखिये, जीवन का विस्तार आँखों भर आकाश …

Read More »

होली के त्यौहार पर बाल कहानी: मुस्कान की होली

मुस्कान की होली - डॉ. मंजरी शुक्ला

घर भर में हड़कंप बचा हुआ था। आठ बरस की नन्ही मुस्कान गिरती पड़ती आगे-आगे भाग रही थी और दादा-दादी, मम्मी-पापा उसके पीछे-पीछे। आखिर दादी हांफते हुए बोली – “रुक जा बेटा, भरे बुढ़ापे में क्या मेरा घुटना तुड़वाकर ही मानेगी”? यह सुनकर मुस्कान खिलखिलाकर हंस दी ठुमकते हुए बोली – “दादी आप सब मेरे पीछे क्यों पीछे पड़े हो? …

Read More »

मैं नारी – अंतरराष्ट्रीय नारी दिवस पर एक कविता

मैं नारी - अंतरराष्ट्रीय नारी दिवस पर एक कविता

मैं नारी सदियों से स्व अस्तित्व की खोज में फिरती हूँ मारी-मारी कोई न मुझको माने जन सब ने समझा व्यक्तिगत धन जनक के घर में कन्या धन दान दे मुझको किया अर्पण जब जन्मी मुझको समझा कर्ज़ दानी बन अपना निभाया फर्ज़ साथ में कुछ उपहार दिए अपने सब कर्ज़ उतार दिए सौंप दिया किसी को जीवन कन्या से …

Read More »

चेहरा College Love Story with a Twist

चेहरा College Love Story with a Twist

चाँद को क्या मालूम… कि उसे कुछ ही घंटों बाद चांदनी से जुदा होना पड़ेगा या फिर नादान काली बदली भला कहाँ जानती हैं कि बहती हवा के साथ कितनी बूँदें बरसाकर अपना आँचल खाली कर देने के बाद भी वो मुस्कुराते हुए अपनी तन्हाई किसी पर ज़ाहिर नहीं होने देगी… मासूम रातों में टिमटिमाता दिया अपने मद्धम प्रकाश के …

Read More »

Heartwarming Christmas Story of a Girl: Little Piccola

Heartwarming Christmas Story of a Girl: Little Piccola

Piccola lived in Italy, where the oranges grow, and where all the year the sun shines warm and bright. I suppose you think Piccola a very strange name for a little girl; but in her country it was not strange at all, and her mother thought it the sweetest name a little girl ever had. Piccola had no kind father, …

Read More »

Short Christmas Poetry in English: Old Carol

Short Christmas Poetry in English: Old Carol

He came all so still Where his mother was, As dew in April That falleth on the grass. He came all so till To his mother’s bower, As dew in April That falleth on the flower. He came all so still Where his mother lay, As dew in April That falleth on the spray. Mother and maiden Was never none …

Read More »

George Washington Quotes in Hindi जॉर्ज वॉशिंगटन के अनमोल विचार

George Washington Quotes in Hindi जॉर्ज वॉशिंगटन के अनमोल विचार

George Washington Quotes in Hindi जॉर्ज वॉशिंगटन के अनमोल विचार: जार्ज वाशिंगटन (Born: February 22, 1732, Westmoreland County, Virginia, United States – Died: December 14, 1799, Mount Vernon, Virginia, United States) संयुक्त राज्य अमेरिका के पहले राष्ट्रपति थे। उन्होंने अमेरिकी सेना का नेतृत्व करते हुए ब्रिटेन के ऊपर अमरीकी क्रान्ति (१७७५-१७८३) में विजय हासिल की। उन्हें १७८९ में अमरीका का …

Read More »

Mystery story of the Missing Pumpkin Pie: Who ate the Pumpkin Pie

Mystery story of the Missing Pumpkin Pie: Who ate the Pumpkin Pie

It was thanksgiving day and the whole family had gotten together. This was a very special thanksgiving because there were a few new family members. Mom had made her famous pumpkin pie the night before and sat it on the table to cool. The next day when we got up the pie was gone, not just the pie the plate …

Read More »

Heart Touching Story about a Thanksgiving Dinner: Bert’s Thanksgiving

Heart Touching Story about a Thanksgiving Dinner: Bert's Thanksgiving

At noon on a dreary November day, a lonesome little fellow stood at the door of a cheap eating house, in Boston, and offered a solitary copy of a morning paper for sale to the people passing. But there were really not many people passing, for it was Thanksgiving day, and the shops were shut, and everybody who had a …

Read More »