Home » Tag Archives: Holi

Tag Archives: Holi

Holi Festival Images for Facebook, WhatsApp

Holi Festival Images

Colorful Holi Festival images to reflect the verve, gaiety, enthusiasm and to create some wonderful memories. Holi pictures depict the importance of the festival and creates a special feeling. You may choose from our stupendous Holi image gallery and add flavor to your festival celebrations. Holi Festival Images for WhatsApp, Instagram & Facebook

Read More »

Holi Greetings

Holi Greetings

Holi Greetings: Holi is a spring festival, also known as the festival of colours or the festival of sharing love. It is an ancient Hindu religious festival which has become popular with non-Hindus in many parts of South Asia, as well as people of other communities outside Asia. Holi Festival Greetings for WhatsApp, Instagram & Facebook

Read More »

Holika Dahan: Poem about Holi Legends

Holika Dahan

Year after year purity of fire is challenged by evil, appeased with offerings A full moon looks on as winds stoke embers, flare flames to a flickering dance Right in the center of crimson blaze sits Holika, Prahlad in her lap – her arms a circle of heat White sparks fly from her hair, eyes smolder in fury; her mouth …

Read More »

होली त्यौहार के आगमन पर बाल-कविता – होली

होली त्यौहार के आगमन पर बाल-कविता - होली

चहुंदिश फैली चहल-पहल है, आनेवाली है होली। मन की मस्ती तन में गश्ती, लगा रहा है रंगोली। इन्द्रधनुष सी रंगी जा रही, गोरी की अंगिया चोली। मौसम युवा जवानी ॠतु की, बांट रहा है भर झोली। बिना वजह अंगडाई तन में, नहीं लगाती है बोली। फूलों के मुख रक्तिम-रक्तिम, गात में फैली है होली। सबके अधरों पर गुम्फित है, फाग …

Read More »

आओ खेलें आज होली – शशि पाधा

आओ खेलें आज होली - शशि पाधा

आतंक के प्रहार से सहमती है धरा भोली प्रेम के गुलाल से आओ खेलें आज होली। घट रही हैं आस्थाएँ क्षीण होतीं कामनाएँ आज धरती के नयन से बह रहीं हैं वेदनाएँ खो गई हँसी – ठिठोली कैसे खेलें आज होली। स्नेह का अबीर हो सदभाव की फुहार हो धूप अनुराग की फागुनी बयार हो हो राग-रंग की रंगोली ऐसी …

Read More »

Holi Special Hindi Filmi Song अरे जा रे हट नटखट

अरे जा रे हट नटखट - नवरंग

चि: धागिन धिनक धिन धागिन धिनक धिन धागिन धिनक धिन अटक-अटक झटपट पनघट पर चटक मटक इक नार नवेली गोरी गोरी ग्वालन की छोरी चली चोरी चोरी मुख मोरी मोरी मुसकाये अलबेली कँकरी गले में मारी कंकरी कन्हैया ने पकरी बाँह और की अटखेली भरी पिचकारी मारी स र र र र र र र र र भोली पनिहारी बोली …

Read More »

मल दे गुलाल मोहे आई होली आई रे – इन्दीवर

मल दे गुलाल मोहे आई होली आई रे- इन्दीवर

लता मंगेशकर: मल दे गुलाल मोहे -२ आई होली आई रे -२ किशोर कुमार: चुनरी पे रंग सोहे -२ आई होली आई रे -२ ल: सात रंग सात फूल आज मिले साथ रे कि: बजने लगी बाँसुरी जमने लगी बात रे ल : ओ भीगी-भीगी पवन सारी रे -२ आई होली आई रे -२ मल दे गुलाल मोहे… आज कोई …

Read More »

जंगल की होली – पवन चन्दन

जंगल की होली - पवन चन्दन

लगा महीना फागुन का होली के दिन आए, इसीलिए वन के राजा ने सभी जीव बुलवाए। भालू आया बड़े ठाठ से शेर रह गया दंग, दुनिया भर के रंग उड़ेले चढ़ा न कोई रंग। हाथी जी की मोटी लंबी पूँछ बनी पिचकारी, खरगोश ने घिघियाकर मारी तब किलकारी। उसका बदला लेने आया वानर हुआ बेहाल, लगा-लगाकर थका बेचारा चौदह किलो …

Read More »

बहक गए टेसू – क्षेत्रपाल शर्मा

बहक गए टेसू - क्षेत्रपाल शर्मा

बहक गए टेसू निरे, फैले चहुँ, छतनार मौसम पाती लिख रहा, ठगिनी बहे बयार अष्‍ट सिद्धि नौ निधि भरा, देत थके को छाँव नंद गाँव भी धन्‍य है, धन्‍य आप का गाँव पीले फूलों से सजी, सरसों की सौगात कहती ज्‍यों सौगंध से, छुओ न हमरे गात भीग गए ये कंठ पर, पलक न भीजें आज नैन झुके, झुकते गए, …

Read More »

होली की शुभकामनाएं – सुरेशचन्द्र ‘विमल’

होली की शुभकामनाएं - सुरेशचन्द्र ‘विमल’

होली का पर्व सुहाना यह, सारी खुशियाँ घर लाना है। अब निशा दुखों की विदा हुई, सुरभित दिनकर फिर आया है॥ धर्म, जाति, भाषा के हम, वाद – विवादों में पड़कर। अपनों को थे हम भूल गए, थे भटक गए थोड़ा चलकर॥ मंदिर – मस्जिद में हम अटके, मानवता को विस्मृत करके। निज स्वार्थ जाल में फंसे रहे, मन – मंदिर को कुलषित …

Read More »