Home » Tag Archives: Grandmother

Tag Archives: Grandmother

इंदिरा गौड़ की लोकप्रिय बाल कविता: दादी वाला गाँव

इंदिरा गौड़ की लोकप्रिय बाल कविता: दादी वाला गाँव

पापा याद बहुत आता है मुझको दादी वाला गाँव, दिन दिन भर घूमना खेत में वह भी बिल्कुल नंगे पाँव। मम्मी थीं बीमार इसी से पिछले साल नहीं जा पाए, आमों का मौसम था फिर भी छककर आम नहीं खा पाए। वहाँ न कोई रोक टोक है दिन भर खेलो मौज मनाओ, चाहे किसी खेत में घुसकर गन्ने चूसो भुट्टे …

Read More »

हंडिया मेँ एक चावल देखा जाता है Folktale on Hindi Proverb

हंडिया मेँ एक चावल देखा जाता है-Folktale on Hindi Proverb

एक परिवार था। उस परिवार मेँ रोज रोटियां ही बनती थी। रोटी ओ के साथ के लिए कभी सब्जी बनती थी कभी दाल। लेकिन दो – चार दिन बाद एक समय चावल भी बन जाते थे। चावल अधिकतर दाल के साथ या कढ़ी के साथ खाए जाते। उस परिवार मेँ एक लड़की भी थी। जब उसकी दादी चावल पकाती तो …

Read More »

Rishab’s Rama: Short story by Githa Hariharan

Rishab's Rama: Short story by Githa Hariharan

Rishab pushed open the door of his house and ran in. His bag flew from his back on to a nail on the wall. “First time!” he shouted gleefully. He had been practicing for months, and now the bag had flown to its right place almost on its own, as if it had a pair of wings. “Is that you, …

Read More »

Short English Poetry about Thanksgiving: Over The River

Short English Poetry about Thanksgiving: Over The River

Over the river and through the wood To Grandmother’s house we go. The horse knows the way To carry the sleigh Through white and drifted snow. Over the river and through the wood Oh, how the wind does blow! It stings the toes And bites the nose, As over the ground we go. Over the river and through the wood …

Read More »

Heart Touching Story of A Boy and His Cat: A Cat to Remember

Heart Touching Story of A Boy and His Cat: A Cat to Remember

“Meow, meow.” The weak cry came from a drain at the side of the street just as Yusuf was passing by. He stopped and listened. The cry came again: “Meow, meow.” Yusuf looked into the drain. A kitten, thin, gray with dirt, and very wet, looked up beseechingly at him. Yusuf reached down into the deep drain, picked the kitten …

Read More »

दादी-दादा – व्रीती बिष्ट – Hindi Poetry about Grandparents

दादी-दादा - Hindi Poetry about Grandparents

एक हमारे दादा जी हैं, एक हमारी दादी। दोनों ही पहना करते हैं, बिलकुल भूरी खादी। दादी गाया करतीं, दादा जी मुस्काते। कभी-कभी दादा जी भी हैं, कोई गाना गाते। ~ व्रीती बिष्ट (LKG) – St. Gregorios School, Sector 11, Dwarka, New Delhi – 110075

Read More »

बचपन – वंश – Short Hindi Poetry about Childhood

बचपन - वंश - Short Hindi Poetry about Childhood

छीनकर खिलौनों को बाँट दिए ग़म, बचपन से दूर, बहुत दूर हुए हम। अच्छी तरह से अभी पढ़ना न आया, कपड़ो को अपने बदलना न आया। लाद दिये बस्ते भारी-भरकम, बचपन से दूर-दूर हुए हम। अंग्रेजी शब्दों को पढ़ना-पढ़ाना, घर आके दिया हुआ, काम निबटाना। होमवर्क करने से फूल जाए दम, बचपन से बहुत-बहुत दूर हुए हम। देकर के थपकी, …

Read More »

नमक का क़र्ज़ – डॉ. मंजरी शुक्ल

नमक का क़र्ज़ - डॉ. मंजरी शुक्ल

चारों ओर से धमाकों की आवाज़ आ रही थी। ऐसा लग रहा था मानो दीपावली हो, पर यह पटाखों की नहीं बल्कि हथगोलों और बंदूकों की आवाज़े थी। सन्नाटे को चीरती जब किसी जवान की बन्दूक चलने की आवाज़ आती तो मानों पनघट और चौबारे भी थरथरा उठते। इन्ही के बीच दस वर्षीय नन्हा बालक टीपू अपनी बूढी और अंधी …

Read More »

होशियार बकरा

होशियार बकरा

दादी कोई कहानी सुनाओ! अच्छा आओ! मेरे पास बैठो! में तुम्हे एक होशियार बकरे की कहानी सुनती हूँ! दूर पहाड़ो में घने जंगलो के बीच एक गॉव में सभी लोग प्यार से रहते थे! वे खेती करते थे और जानवर भी पालते थे- गाय-बैल-घोड़े, भैंसे और भेड़-बकरियां! वे मिमियाती रहती थीं लेकिन कोई भी नहीं जानता था कि वे क्या बातें करती …

Read More »

Grandparents: A Unique Bond of Love

Grandparents play a unique role in children’s life. They not only provide unconditional love but also symbolize the continuity and stability that are so important for a child. Grand-parents play a vital role in establishing the child’s basic mind set, beliefs and cultural ideas. They are the roots of the tree of life on which the child gleams like the …

Read More »