Home » Tag Archives: Goddess Saraswati

Tag Archives: Goddess Saraswati

प्रेरणादायी है माँ सरस्वती का स्वरुप

प्रेरणादायी है माँ सरस्वती का स्वरुप

वसंत पंचमी हिन्दू पंचांग के अनुसार माघ शुक्ल की पांच तारीख को मनाई जाती है। देवी भागवत में उल्लेख है कि माघ शुक्ल पक्ष की पंचमी को ही संगीत, काव्य, कला, शिल्प, रस, छंद, शब्द व शक्ति की प्राप्ति जीव को हुई थी। सरस्वती को प्रकृति की देवी की उपाधि भी प्राप्त है। पद्मपुराण में मां सरस्वती का रूप प्रेरणादायी …

Read More »

वसंत पंचमी की पौराणिक कथा

वसंत पंचमी की पौराणिक कथा

पौराणिक कथा के अनुसार वसंत पंचमी मां सरस्वती के आविर्भाव व विजय का दिन है। वाल्मीकि रामायण में उल्लेख है कि सरस्वती ने अपने चातुर्य से देवताओं को कुंभकर्ण से बचाया था। देवी वरदान प्राप्त करने के लिए राक्षसराज कुंभकर्ण ने करीब दस हजार वर्षों तक तपस्या की। जब ब्रह्मा प्रसन्न हुए और वरदान के लिए आए तो सभी देव …

Read More »

वसंत पंचमी कथा Basant Panchami Ki Katha

वसंत पंचमी कथा Basant Panchami Ki Katha

सृष्टि के प्रारंभिक काल में भगवान विष्णु की आज्ञा से ब्रह्माजी ने मनुष्य योनि की रचना की, परंतु वह अपनी सर्जना से संतुष्ट नहीं थे। तब उन्होंने विष्णु जी से आज्ञा लेकर अपने कमंडल से जल को पृथ्वी पर छिड़क दिया, जिससे पृथ्वी पर कंपन होने लगा और एक अद्भुत शक्ति के रूप में चतुर्भुजी सुंदर स्त्री प्रकट हुई। जिनके …

Read More »

वसंत पंचमी पूजा Basant Panchami Prayer

वसंत पंचमी पूजा Basant Panchami Prayer

माघ महीने के शुक्ल पक्ष की पंचमी से ऋतुओं के राजा वसंत का आरंभ हो जाता है। यह दिन नवीन ऋतु के आगमन का सूचक है। इसीलिए इसे ऋतुराज वसंत के आगमन का प्रथम दिन माना जाता है। साथ ही यह मां सरस्वती की जयंती का दिन है। इस दिन से प्रकृति के सौंदर्य में निखार दिखने लगता है। वृक्षों …

Read More »

बसंत पंचमी: सरस्वती आराधना का पर्व

बसंत पंचमी: सरस्वती आराधना का पर्व

भारतीय धर्म में हर तीज-त्योहार के साथ दिलचस्प परंपराएं जुड़ी हुई हैं। इसीलिए प्रत्येक पर्व-त्योहार के मद्देनजर गांवों-शहरों का स्वरूप कुछ बदल-सा जाता है और सभी समुदाय के लोग तरह-तरह की परंपराएं निभाते हुए हर त्योहार का मनपूर्वक मनाते हैं। यह तिथि देवी सरस्वती का प्राकट्य दिवस होने से इस दिन सरस्वती जयंती, श्रीपंचमी आदि पर्व भी होते हैं। वैसे …

Read More »

सांस्कृतिक सौहार्द का पर्व वसंत पंचमी: Hindu Culture & Traditions

सांस्कृतिक सौहार्द का पर्व वसंत पंचमी: Hindu Culture & Traditions

जीवन में परिवर्तन अति आवश्यक है। वसंत ऋतु परिवर्तन की घोतक है इसलिए इस ऋतु के आगमन को वसंत पंचमी पर्व के रूप में मनाया जाता है। शीत ऋतु से जड़त्व को प्राप्त हुई प्रकृति वसंत ऋतु के आगमन से चेतनता को प्राप्त हो जाती है। प्रकृति का माधुर्य वातावरण में नई उमंग तथा नवविवचार का सर्जन करता है। प्रकृति …

Read More »

Vasant Panchami: Birthday of Goddess Saraswati

Vasant Panchami: Birthday of Goddess Saraswati

As ‘Diwali‘ – the festival of light – is to Lakshmi, goddess of wealth and prosperity, and ‘Navaratri’ is to Durga, goddess of power and valor, Vasant Panchami is to Saraswati, the goddess of knowledge and arts. This festival is celebrated every year on the 5th day or ‘Panchami’ of the bright fortnight of the lunar month of Magha, which …

Read More »

Basant Panchami Greetings

Basant Panchami Greetings

Basant Panchami Greetings: Basant Panchami, also known as Shri Panchami, is a Hindu festival dedicated to goddess Saraswati. This popular festival is observed on the fifth day of the Hindu month of Magh. Being an important Hindu festival, all Hindus celebrate this day with much enthusiasm and religious activities. Also known as Saraswati Puja, it is considered to be the …

Read More »

Basant Panchami Facebook Covers

Basant Panchami Facebook Covers

Basant Panchami Facebook Covers: Vasant Panchami marks the beginning of the spring season. The festival of spring is celebrated with full vivacity and joy amongst the Hindu people. In Hindi language, the word ” basant / vasant” means ”spring” and ”panchami” means the fifth day. In short, Basant Panchami is celebrated as the fifth day of Spring Season. Vasant Panchami …

Read More »

Shree Brahmaji Mandir Pushkar श्रीब्रह्मा जी का मंदिर, पुष्कर, राजस्थान

shree-brahmaji-mandir-pushkar

जयपुर से 150 किलोमीटर की दूरी पर पुष्कर तीर्थ स्थित है। पुष्कर तीर्थ की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि पूरे भारत में सृष्टि के रचयिता श्री ब्रह्मा का यह इकलौता मंदिर है। दूर तक फैले पवित्र ब्रह्म सरोवर के दर्शन करने से भक्तों को मोक्ष की प्राप्ति होती है। कहा जाता है कि इस सरोवर में डुबकी लगाने से …

Read More »