Home » Poems For Kids » Poems In Hindi » तपस्या – डॉ. रीटा हजेला ‘आराधना’
तपस्या - डॉ. रीता हजेला ‘आराधना’

तपस्या – डॉ. रीटा हजेला ‘आराधना’

एक लड़की ने भगवान से
माँगा वरदान,
मुझे भी दे दो पंख
मैं नापना चाहती हूँ आसमान।
भगवान ने कहा ठीक है मगर
तू सिर्फ सपने में उड़ सकेगी,
हकीकत के लिए तुझे करनी पड़ेगी
अभी और तपस्या।

लड़की ने भगवान से कहा
मुझे शक्ति दे दो
ताकि मैं चढ़ सकूँ पहाड़,
क्योंकि मैं चोटी पर बै
करना चाहती हूँ अपना नव निर्माण,
भगवान ने कहा ठीक है मगर
तू कर सकेगी र्सिफ दूसरों का निर्माण
अपने लिए तुझे करनी होगी
अभी और तपस्या।

लड़की ने भगवान से कहा
मुझे दे दो कुछ शोख रंगीनियां
ताकि मैं भी जीवन में भर लूं रंग,
भगवान ने कहा ठीक है मगर
अभी तू दूसरों के जीवन में ही रंग भर सकेगी,
अपने लिए तुझे करनी होगी
अभी और तपस्या।

लड़की ने भगवान से कहा
मुझे दे दो फूलों सी मुस्कान,
ताकि मैं भी हँस कर बिताऊँ
जिन्दगी की घड़ियाँ,
भगवान ने कहा ठीक है मगर
तुझे वो बिखेरनी होगी
अपने चारों ओर के लोगों को देनी होगी
अपने लिए तुझे करनी होगी
अभी और तपस्या।

लड़की ने भगवान से कहा
मुझे दे दो सुन्दर सलोने वस्त्र
ताकि मैं भी लगूं खुबसूरत,
भगवान ने कहा ठीक है मगर
सूरज उगने के बाद और सूरज ढलने तक ही
ये आएंगे तेरे काम
रात के लिए तुझे करनी होगी
अभी अभी और तपस्या।

तब लड़की ने भगवान से कहा
कम से कम मुझे दे दो एक स्वस्थ तन,
ताकि मैं कर तो सकूँ तपस्या।
भगवान ने कहा ठीक है मगर
यह होगी सिर्फ भा्रन्ति
अपनी अस्वस्थता को तू कभी नहीं जानेगी
सच में पाने के लिए स्वस्थ तन,
तुझे करनी होगी
अभी और तपस्या।

तब से लड़की कर रही है तपस्या
उड़ने के लिए
अपने निर्माण के लिए
जीवन की रंगीनियों के लिए
मुस्कुराने के लिए
हँसने के लिए
अपने को ढकने के लिए
स्वस्थ रहने के लिए
भगवान से हर रोज पूछती
कब पूरी होगी मेरी तपस्या।

~ डॉ .रीता हजेला “आराधना”

About Rita Hajela

Professionally I am a Doctor, a Senior Administrative Officer, a serious Personality at work with no nonsense behavior. At other times and at home I have a different face, indulging in all kinds of activities. Self help is at the top and finding time for whatever life has to offer and relishing it is my agenda. Priority setting and working is my style. I am true to my words I speak and follow truth. People say that my frank speaking sometimes hurts but they ultimately know that I am the most reliable person and even come to choose my personality as their IDOL. Now it is too much for self praise.

Check Also

Religious Facebook Covers

Islam Facebook Covers, Muslim FB Covers

Islam Facebook Covers, Muslim FB Covers: Muslims in India observe all the Islamic festivals that …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *