Home » Poems For Kids » Poems In Hindi » ताला-चाबी – ओमप्रकाश बजाज
ताला-चाबी - ओमप्रकाश बजाज

ताला-चाबी – ओमप्रकाश बजाज

छोटे से छोटे से लेकर,
खूब बड़े ताले आते है।

मकान, दुकान, दफ्तर, फैक्टरी,
बक्स गाडी में लगाए जाते है।

ताला सुरक्षा का एक साधन है,
सदियों से इसका प्रचलन है।

अलीगढ़ के ताले प्रसिद्ध है,
अब तो कई जगह बनते हैं।

ताला अपनी चाबी से खुलता है,
नंबरों वाला ताला भी आता है।

चाबी सदा संभाल कर रखना,
इधर-उधर कही खो न देना।

~ ओमप्रकाश बजाज

Check Also

Child Labour Slogans

Child Labour Slogans

Child labour is a crime and practiced in India for many years. It is one …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *