Home » Poems For Kids » Poems In Hindi » रंग-बिरंगे गुब्बारे
रंग-बिरंगे गुब्बारे

रंग-बिरंगे गुब्बारे

Rang Birange Gubbare

रंग-बिरंगे गुब्बारे,
लगते प्यारे प्यारे।

कोई लम्बा कोई गोल,
कोई मोटा जैसे ढोल।

गैस भरा उड़ जाता जो,
वापिस कभी न आता वो।

मम्मी पूरे घर में सजा दो,
ढेर गुब्बारे मुझे दिला दो।

Check Also

होली विशेष हिंदी बाल-कविता: हो हल्ला है होली है

होली विशेष हिंदी बाल-कविता: हो हल्ला है होली है

उड़े रंगों के गुब्बारे हैं, घर आ धमके हुरयारे हैं। मस्तानों की टोली है, हो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *