Home » Poems For Kids » Poems In Hindi » प्यारे बच्चे – गोविन्द भारद्वाज

प्यारे बच्चे – गोविन्द भारद्वाज

नन्हे-नन्हे प्यारे बच्चे,
एक जैसे हैं सारे बच्चे।

मुखड़े-सबके हैं भोले-भाले,
देश के बच्चे बड़े मतवाले।
न्यारे जग में प्यारे बच्चे,
नन्हे-नन्हे प्यारे बच्चे॥

पौधे हैं ये फुलवारी के,
रंग-बिरंगी सब क्यारी के।
आँखों के सब तारे बच्चे,
नन्हे-नन्हे प्यारे बच्चे॥

एक राह के ये सब राही,
भारत वतन के हैं सिपाही।
सुन्दर हैं इकसारे बच्चे,
नन्हे-नन्हे प्यारे बच्चे॥

∼ गोविन्द भारद्वाज

Check Also

How to draw bird

How To Draw Bird: Drawing Lessons for Students and Children

How To Draw Bird: Drawing Lessons for Students and Children – Step – by – …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *