Home » Poems For Kids » Poems In Hindi » Hindi Poem on Yoga अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस – 21 जून
Hindi Poem on Yoga अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस - 21 जून

Hindi Poem on Yoga अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस – 21 जून

हे मानव! अपने जीवन में,
यदि नित्यदिन करोगे योगा।
तो बिना रुपइया खर्च किए,
शत प्रतिशत लाभ तुम्हें होगा।

हर कोई इसे कर सकता है,
छोटा, बड़ा, अमीर, गरीब।
न औषधि की आवश्यकता है,
न ही बीमारी आये करीब।

भांति-भांति के आसन हैं,
और भिन्न-भिन्न हैं नाम।
शरीर के हर एक हिस्से को,
मिलता इससे बहुत आराम।

आभार प्रकट करता हूँ मैं,
“मोदी जी” की सरकार का।
जिन्होंने बीड़ा उठा लिया है,
सब रोगों के उपचार का।

21 जून को प्रण कर ले हम,
प्राणायाम सभी अपनाएंगे।
बाबा रामदेव के आसन से,
जन जीवन समृद्ध बनाएंगे।

~ अंकित जैसवाल

आपको अंकित जैसवाल जी की यह कविता “अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस” कैसी लगी – आप से अनुरोध है की अपने विचार comments के जरिये प्रस्तुत करें। अगर आप को यह कविता अच्छी लगी है तो Share या Like अवश्य करें।

यदि आपके पास Hindi / English में कोई poem, article, story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें। हमारी Id है: submission@4to40.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ publish करेंगे। धन्यवाद!

Check Also

Uttar Pradesh Weird News: In Bareilly, Sacks Of Burnt ₹500 & ₹1,000 Notes Found

Uttar Pradesh Weird News: In Bareilly, Sacks Of Burnt ₹500 & ₹1,000 Notes Found

A day after Prime Minister Narendra Modi made the “shocking” announcement of demonetizing ₹500 and …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *