Home » Poems For Kids » Poems In Hindi » जमाने के साथ – ओमप्रकाश बजाज – Hindi poem on stay updated
जमाने के साथ - ओमप्रकाश बजाज - Hindi poem on stay updated

जमाने के साथ – ओमप्रकाश बजाज – Hindi poem on stay updated

जमाने के साथ चलना,
जरूरी है समझदारी है।
वरना पिछड़ जाने का,
खतरा बहुत भारी है।

आज का युग इलैक्ट्रोनिक,
उपकरणों के प्रयोग का है।
कम्प्यूटर लैपटॉप मोबाइल,
‘आन-लाइन’ उपयोग का हैं।

वाटस-एप फेसबुक ट्विटर,
से काफी सुविधा हो जाती है।
सम्प्रेषण संपर्क, बातचीत,
पलक झपकते हो जाती है।

इनको सीखने इस्तेमाल में,
टालमटोल न करना, देर न लगाना।
पिछड़ जाने का जोखिम,
हरगिज-हरगिज न उठाना।

~ ओमप्रकाश बजाज

आपको ओमप्रकाश बजाज जी की यह कविता “जमाने के साथ” कैसी लगी – आप से अनुरोध है की अपने विचार comments के जरिये प्रस्तुत करें। अगर आप को यह कविता अच्छी लगी है तो Share या Like अवश्य करें।

यदि आपके पास Hindi / English में कोई poem, article, story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें। हमारी Id है: submission@4to40.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ publish करेंगे। धन्यवाद!

Check Also

स्कूल ना जाने की हठ पर एक बाल-कविता: माँ मुझको मत भेजो शाला

स्कूल ना जाने की हठ पर एक बाल-कविता: माँ मुझको मत भेजो शाला

अभी बहुत ही छोटी हूँ मैं, माँ मुझको मत भेजो शाळा। सुबह सुबह ही मुझे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *