Home » Poems For Kids » Poems In Hindi » दिवाली आई, दिवाली आई: हिंदी बाल-कविता
Diwali Festival Hindi Rhyme दिवाली आई, दिवाली आई

दिवाली आई, दिवाली आई: हिंदी बाल-कविता

दिवाली आई, दिवाली आई, खुशियो की बहार लायी।

धूम धमक धूम-धूम, चकरी, बम, हवाई इनसे बचना भाई।

Diwali Aayi, Diwali Aayiदिवाली आई, दिवाली आई, खुशियो की बहार लायी।

पटाखे बाजे धूम-धूम, धूम-धूम।

आओ मिलकर नाचे गए हम और तुम…।

घर घर दीप जलेंगे, आएगी मिठाई।

दिवाली आई, दिवाली आई, खुशियो की बहार लायी।

धूम धमक धूम-धूम, चकरी, बम, हवाई इनसे बचना भाई।

दिवाली आई, दिवाली आई।

आपको यह बाल-कविता “दिवाली आई, दिवाली आई” कैसी लगी – आप से अनुरोध है की अपने विचार comments के जरिये प्रस्तुत करें। अगर आप को यह कविता अच्छी लगी है तो Share या Like अवश्य करें।

यदि आपके पास Hindi / English में कोई poem, article, story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें। हमारी Id है: submission@4to40.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ publish करेंगे। धन्यवाद!

Check Also

पता ही नहीं: कृष्ण बिहारी 'नूर' के चुनिन्दा शायरी

पता ही नहीं: कृष्ण बिहारी ‘नूर’ की चुनिन्दा शायरी

जिन्दगी से बड़ी सज़ा ही नहीं और क्या जुर्म है पता ही नहीं इतने हिस्सों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *