Home » Poems For Kids » Poems In Hindi » अच्छे बच्चे – शिक्षाप्रद हिंदी बाल कविता
अच्छे बच्चे - शिक्षाप्रद हिंदी बाल कविता

अच्छे बच्चे – शिक्षाप्रद हिंदी बाल कविता

कहना हमेशा बड़ो का मानते
माता पिता को शीश नवाते,
अपने गुरुजनों का मान बढ़ाते
वे ही बच्चे अच्छे कहलाते।

नहा-धोकर रोज शाला जाते
पढ़ाई में सदा अव्वल आते
वे ही बच्चे अच्छे कहलाते।

कभी न किसी से झगड़ा करते
बात हमेशा सच्ची कहते,
ऊंच-नीच का भाव न लाते
वे ही बच्चे अच्छे कहलाते।

कठिनाइयों से कभी न घबराते
हमेशा आगे ही बढ़ते जाते,
मीठी बातों से सबका मन बहलाते
वे ही बच्चे अच्छे कहलाते।

~ विजय मैहन्दीरत्ता

आपको विजय मैहन्दीरत्ता जी की यह शिक्षाप्रद बाल-कविता “अच्छे बच्चे” कैसी लगी – आप से अनुरोध है की अपने विचार comments के जरिये प्रस्तुत करें। अगर आप को यह कविता अच्छी लगी है तो Share या Like अवश्य करें।

यदि आपके पास Hindi / English में कोई poem, article, story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें। हमारी Id है: submission@4to40.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ publish करेंगे। धन्यवाद!

Check Also

Father's Day Facebook Covers

Father’s Day Facebook Covers

Father’s Day Facebook Covers: We often rant on about how mothers are important in our …

One comment

  1. Prabhudayal shrivastava

    बाल गीतों में छंद का ध्यान भी आवश्यक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *