Home » Poems For Kids » Poems In Hindi » अच्छे बच्चे – विजय अरोड़ा
अच्छे बच्चे - विजय अरोड़ा

अच्छे बच्चे – विजय अरोड़ा

Good Girlकहना हमेशा बड़ो का मानते
माता-पिता को शीश नवाते
अपने गुरुजनों का मान बढ़ाते
वे ही बच्चे अच्छे कहलाते !

Boy Bathingनहा-धोकर रोज शाला जाते
पढाई से जी न चुराते
परीक्षा में सदा अव्वल आते
वे ही बच्चे अच्छे कहलाते !

Two Friendsकभी न किसी से झगड़ा करते
बात हमेशा सच्ची कहते
उंच-नीच का भाव न लाते
वे ही बच्चे सच्चे कहलाते !

Boy Readingकठिनाइयों से कभी न घबराते
हमेशा आगे ही बढ़ते जाते
मीठी बातों से सबका मन बहलाते
वे ही बच्चे अच्छे कहलाते !

∼ विजय अरोड़ा

Check Also

बंदर जी - भूखे बन्दर पर हिंदी बाल-कविता

बंदर जी – भूखे बंदर पर हिंदी बाल-कविता

देख कूदते बंदर जी को इस डाली से उस डाली, हंसते शोर मचाकर बच्चे पीटे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *