Home » Folktales For Kids » Folktales In Hindi » बिटौरे से तो उपले ही निकलेंगे-Folktale on Hindi Proverb
बिटौरे से तो उपले ही निकलेंगे-Folktale on Hindi Proverb

बिटौरे से तो उपले ही निकलेंगे-Folktale on Hindi Proverb

एक अहींरो का गाँव था| उसमे एक युवक था| उसकी चोरी करने की आदत छुटपन से ही पड़ गई थी| वैसे तो इस प्रवृत्ति के दो – चार व्यक्ति और भी थे इस गांव मेँ| उससे पूरा परिवार दुखी रहता था| चोरी – चकारी मे जब उसका नाम आता था, परिवार के लोगो की निगाहें नीची हो जाती थी| बड़ी बेइज्जती महसूस करता था वह परिवार|

एक दिन वह कहीँ से चोरी करके लाया| लूटा माल घर न लाकर कही बाहर छिपा आया| वह घरवालोँ से डरता था| कहीँ पोल न खुल जाए, इसलिए वह घर नहीँ लाया| इस माल के लूटने मेँ उस गांव के दो और व्यक्ति शामिल थे| रात को ही उन्होंने अपना – अपना बटवारा कर लिया था| लेकिन उनमेँ से एक चोर था चंट था ओर वह उसका पीछा करता रहा ओर माल छुपाने की जगह को देखकर वापस चला गया|

उस गांव मेँ हल्ला मच गया कि पडोस के गांव मे चोरी हुई है| एक दिन सैनिक उस गाँव मेँ भी घूमकर चले गए थे|

कई दिन बाद उसने बिटौरा के उपले हटाना शुरु किए| उसका पिता भी उस समय आ गया था| उसका पिता उसे उपले हटाते हुए देखता रहा| संयोग से उसका वह चोर साथी भी आ गया जिसने उस बिटौरे मे माल छुपाते देखा था|

जब बिटौरे के थोड़े उपले उठाने को रह गए, तो उसके पिता को कुछ शक हुआ| और वे यह भी समझ गए कि माल रखते हुए किसी ने देख लिया होगा| बाद मेँ उसने माल निकाल लिया होगा|

अंत मेँ उसके बाप ने कहा, “बेटा क्या ढूंढ रहे हो? ‘बिटौरे से उपले ही निकलेंगे’|”

इतना सुनते ही वह अपने बाप को आँखे फाड़कर देखता रहा|

Check Also

नींबू का अचार Funny Hindi story - Lemon Pickle

नींबू का अचार Funny Hindi story – Lemon Pickle

रीना मर्तबान से नींबू का अचार निकाल रही थी और पूसी दरवाजे की झीरी से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *