Home » Stories For Kids

Stories For Kids

प्रायश्चित Heart-rending Story of Repentance

प्रायश्चित Heart-rending Story of Repentance

ज़रूरी नहीं है कि जैसे सपने कभी सच हो जाते हैं और उनींदी पलकों पर मोती बनकर ठहर जाते हैं, वैसे ही आँखें खोलने पर भी मुमकिन हो जाए। सत्य और असत्य का रिश्ता भी बहुत गहरा होता है। अपने आत्मविश्वास के साथ पूरे मन से अगर कोई असत्य बात भी कहता है, तो वह सत्य प्रतीत होती है। मेरे …

Read More »

नशा – पश्चाताप की कहानी

नशा - पश्चाताप की कहानी

क्या चाचा, लो जरा सा आईना तो देख लो… कितने दिन हो गए तुमने बाल भी नहीं सँवारे। सूरज की आवाज़ से मैं खिड़की से बाहर झाँकता हुआ जैसे नींद से जागा। मैंने पनियल आँखों से सूरज की ओर देखा, जो मेरा भतीजा था पर आज मेरे बेटे से बढ़कर मेरा साथ दे रहा था। वो मेरी मन-स्तिथि समझ गया …

Read More »

समृद्धि – अच्छी सीख देने वाली एक कहानी

समृद्धि - अच्छी सीख देने वाली एक कहानी

अनंतमूर्ति नाम के युवक ने किसी बड़ी कम्पनी में आवेदन किया। आवेदन किसी वरिष्ठ पद के लिए था। शुरुआती परीक्षाएं और इंटरव्यू पास कर लेने के बाद उसे फाइनल इंटरव्यू के लिए कम्पनी के निदेशक के पास भेजा गया। निदेशक ने उसके शैक्षणिक रिकार्ड देखे और पूछा, “क्या तुम्हें स्कूल-कालेज में छात्रवृति मिलती थी?” अनंतमूर्ति ने ‘नहीं’ कहा और यह …

Read More »

सपनों का गोला – एक रोचक बाल कहानी

सपनों का गोला - एक रोचक बाल कहानी

नीली घाटी के पीछे का हरा भरा मैदान में चूहों की बस्ती थी। चीची चूहा उनका मुखिया था जो बड़ा ही बहादुर और समझदार था और सबकी मदद करने में सबसे आगे रहता था। रोज़ की तरह आज भी वो अपने दोस्तों के साथ नदी के किनारे लम्बी हरी घास में लुका- छिपी का खेल खेल रहा था कि अचानक उसका संतुलन बिगड़ …

Read More »

The Lights Changed – Short story by Poile Sengupta

The Lights Changed - Short story by Poile Sengupta

I had meant it as a joke. A joke made up for a small ragged boy who sold newspapers at the Janpath crossing. Every time I cycled past he would run after me, holding out the English paper and screaming out the evening’s headlines in a mixture of Hindi and English words. This time, I stopped by the pavement and …

Read More »

Rishab’s Rama: Short story by Githa Hariharan

Rishab's Rama: Short story by Githa Hariharan

Rishab pushed open the door of his house and ran in. His bag flew from his back on to a nail on the wall. “First time!” he shouted gleefully. He had been practicing for months, and now the bag had flown to its right place almost on its own, as if it had a pair of wings. “Is that you, …

Read More »

साहस की जीत Hindi Wisdom Story on Courage

साहस की जीत Hindi Wisdom Story on Courage

साहस की जीत अरावली के जंगलो के पास मत्स्य नामक एक राज्य था। वहां के राजा वीरभान अत्यंत साहसी एवं नेक इंसान थे। राजा वीरभान दिन-रात प्रजा की चिंता करते रहते थे। ईश्वर की कृपा ऐसी भी कि राज्य  में किसी को कोई अभाव न था परंतु राजा वीरभान कई बार बैठे-बैठे  उदास हो जाते थे। दरबारीकरण महाराज से उनकी …

Read More »

होली के त्यौहार पर बाल कहानी: मुस्कान की होली

मुस्कान की होली - डॉ. मंजरी शुक्ला

घर भर में हड़कंप बचा हुआ था। आठ बरस की नन्ही मुस्कान गिरती पड़ती आगे-आगे भाग रही थी और दादा-दादी, मम्मी-पापा उसके पीछे-पीछे। आखिर दादी हांफते हुए बोली – “रुक जा बेटा, भरे बुढ़ापे में क्या मेरा घुटना तुड़वाकर ही मानेगी”? यह सुनकर मुस्कान खिलखिलाकर हंस दी ठुमकते हुए बोली – “दादी आप सब मेरे पीछे क्यों पीछे पड़े हो? …

Read More »

Children’s Hindi Wisdom Story About Holi Festival अनोखी होली

Children's Hindi Wisdom Story About Holi Festival अनोखी होली

होली का दिन था। अमन सुबह-सुबह अपनी साइकिल पर एक गली से गुजर रहा था। तभी किसी ने ऊपर से उस पर पानी फैंक दिया। अमन एकदम घबरा गया। उसने ऊपर देखा तो शरारती जग्गी खुशी से चिल्ला रहा था, “होली है“। अमन चुप रहा। वह ठिठुरता हुआ घर लौटा। दोबारा कपड़े पहन कर दूसरी गली से निकल गया। वास्तव …

Read More »

प्रतिशोध – नारी उत्पीड़न की कहानी

प्रतिशोध - नारी उत्पीड़न की कहानी

दूर से आती आवाज़ को कभी गौर से सुनना नहीं पड़ा और जो सामने था उसकी स्पष्ट आवाज़ कभी कानों में आई नहीं। क्या, क्यों और कैसे शब्दों का कोई अर्थ नहीं रह गया था। किसी शान्त नदी के किनारे या उफ़नते समुद्र के ज्वर भाटे उसे एक सा ही सुकून देते थे। उसे खुद भी नहीं पता होता कि …

Read More »