Home » Astrology » अगस्त 2017 मासिक राशिफल: Bejan Daruwalla
Rashifal

अगस्त 2017 मासिक राशिफल: Bejan Daruwalla

अगस्त 2017 मासिक राशिफल – Monthly Rashifal by Bejan Daruwalla

(नोट: यह वैदिक ज्योतिषीय फलकथन आपकी चन्द्र राशि या जन्म राशि पर आधारित हैं।)

मेष (Aries): सूर्य और मंगल आपकी राशि से चतुर्थ भाव यानि कर्क राशि में होने से आर्थिक विषयों, संतान के विषय में, प्रणय संबंध और अध्ययन के क्षेत्र में मध्यम परिणाम मिलेंगे। आपकी शारीरिक तथा मानसिक स्थिति मध्यम रहेगी। पैतृक संपत्ति के विवाद हल करने में अधिक प्रयास करने पड़ेंगे। नौकरीपेशा लोगों को फिलहाल भाग्य का साथ मिलने से पहले की तुलना में स्थिति में सुधार आएगा। हालांकि, पंचम स्थान में स्थित राहु और बुध की युति के कारण प्रेम संबधों में विशेष मजा नहीं आएगा। संतान संबंधी कोई विवाद उत्पन्न हो सकता है। आप मित्र मंडली में विपरीत लिंग वाले व्यक्तियों के अधिक निकट आएंगे फिर भी यह नए संबंधों की शुरुआत करने के लिए ठीक समय नहीं है। पुरानी बीमारी से पीड़ित व्यक्तियों को फिलहाल उपचार का असर कम दिखाई देगा। महीने के मध्य में सूर्य राशि बदलकर पंचम स्थान में राहु के साथ युति करेगा। इसके साथ बुध भी वक्री हो जाएगा। इस समय विशेषकर प्रिय व्यक्ति के साथ संबंधों में अहं का टकराव हो सकता है। संतान को लेकर समस्या बढ़ सकती है। शेयर बाजार से फिलहाल दूर ही रहें। धनेश तथा सप्तमेश शुक्र मिथुन राशि में है। इनका होना पारिवारिक संबंध, अंतरंग संबंध, सार्वजनिक जीवन, आर्थिक विषयों, दांपत्य जीवन तथा व्यवसाय से जुड़े संबंधों में प्रगति कराएगा। स्वास्थ्य के मामले में विचार करें तो लीवर, डायबिटीज, रक्तवाहिनियों, जंघा या पंजों में दर्द, मोटापा या पाचन संबंधी समस्याएं अधिक परेशान कर सकती हैं।

वृषभ (Taurus): महीने के प्रारंभ में शुक्र आपके धन स्थान में स्थित होने से आप आय में वृद्धि की आशा रख सकते हैं। आपमें पराक्रम भावना भी खूब अधिक रहेगी क्योंकि सूर्य और मंगल तीसरे स्थान में है। उत्तम सुख का अहसास होने का समय है। प्रेमी-प्रेमिकाओं का आपस में कम्युनिकेशन बढ़ेगा। आप नया मकान बनवाने या पुराने मकान में रेनोवेशन कराने में व्यस्त रहेंगे। 9-10 तारीख के दौरान शत्रु एवं प्रतिस्पर्धी वर्ग से सावधान रहें। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य राशि बदलकर चतुर्थ भाव में बुध और राहु के साथ युति में आएगा। बुध फिलहाल वक्री है। विद्यार्थियों की अध्ययन में अरुचि बढ़ सकती है। दलाली के कामकाज में सफलता मिलेगी, परंतु कोई भी सौदा करने में लापरवाही न रखें। महीने के अंत में इस अवधि के दौरान राहु राशि बदलकर आपके पराक्रम स्थान में आएगा। यह राहु अठारह मास आपकी राशि से तृतीय में भ्रमण करेगा और केतु भी आपके नौवें भाव में से भ्रमण करेगा। इस समय आपके भाई-बहनों और मित्रों के साथ संबंधों में सतर्कता रखनी पड़ेगी। मंगल-राहु की युति अंगारक योग जैसा फल प्रदान करेगी। इसके कारण साहसिक कार्यों में आपको पीछे हटना होगा। महीने के अंतिम दिनों में आपका मन विपरीत लिंग वाले व्यक्तियों की तरफ अधिक आकर्षित होगा।

मिथुन (Gemini): नए संबंध की शुरुआत करने वालों के लिए अथवा कलात्मक अंदाज में प्रेम की अभिव्यक्ति करने के लिए यह समय बेहतर है। संतान के इच्छुक व्यक्तियों के लिए भी आशापूर्ण समय है। विद्यार्थी जातक अध्ययन में अधिक बढ़िया तरीके से आगे बढ़ सकेंगे। प्रारंभिक समय में नौकरीपेशा लोग अथवा फुटकर कामकाज करने वाले व्यक्तियों को थोड़ी चिंता रहेगी। शुक्र के आपके विवाह स्थान में आने तथा इसकी दांपत्य स्थान पर सीधी दृष्टि होने से जीवनसाथी के साथ अधिक निकटता होगी। आप जीवनसाथी के साथ उत्तम समय बिता सकेंगे। वाणी में थोड़ी उग्रता रहेगी जिससे सेल्स और मार्केटिंग अथवा शिक्षण जैसे विषयों से जुड़े हुए जातक स्वभाव और वाणी पर नियंत्रण रखें। धार्मिक कार्य संपन्न होगा अथवा तीर्थस्थलों की लंबी यात्रा होगी। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य और बुध आपके पराक्रम स्थान में आएंगे जिससे प्रोफेशनल मोर्चे पर नई शुरुआत करने, नौकरी बदलने आदि की आपको इच्छा होगी। हालांकि, अंत तक आगे बढ़ने के बाद कहीं कुछ विलंब की संभावना भी है। मैत्री संबंधों में प्रगति होगी। विपरीत लिंग वाले व्यक्तियों के पीछे बिना सोचे-विचारे खर्च की संभावना रहेगी। व्यवसायिक मामलों में भी आप फिलहाल अधिक खर्च करेंगे। महीने के अंतिम सप्ताह में शुक्र के आपके धन स्थान में स्थित होने से आय में थोड़ी वृद्धि होने की संभावना है।

कर्क (Cancer): महीने के आरंभ में आपके विवाह स्थान में सूर्य और मंगल की युति, धन स्थान में राहु के साथ बुध की युति, पंचमस्थान में वक्री शनि, अष्टम स्थान में केतु और व्यय स्थान में शुक्र है। पैतृक संपत्ति संबंधित विवादों का हल करने के लिए अनुकूल समय है। प्रेम संबंध में अड़चनें और असफलता की संभावना रहेगी। बारंबार विवादों का कारण आप हमेशा के लिए प्रिय व्यक्ति से अलग होने का निर्णय ले सकते हैं। विद्यार्थी जातकों को फिलहाल अपेक्षित सफलता के लिए खूब मेहनत करनी पड़ेगी। इस समय आपको स्वास्थ्य की समस्या है तो इसका पक्का निदान नहीं हो पाने से योग्य उपचार से वंचित रहने की संभावना अधिक है। आपमें विलासी वृत्ति अधिक रहेगी इसके कारण विपरीत लिंग वाले व्यक्तियों पर खूब खर्च होगा। इसके सामने धन स्थान में बुध और राहु की युति होने से आमदनी खूब मर्यादित रहेगी। जीवनसाथी अथवा भागीदार के साथ वादविवाद में नहीं पड़ें। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य राशि बदलकर धन स्थान में आएगा। यह समय आपके लिए खूब महत्वपूर्ण है। इसके अलावा शुक्र भी राशि बदलकर आपकी राशि में भ्रमण करेगा जिसके कारण आप पर मानसिक रूप से अत्यधिक दबाव रहेगा। यात्रा में आपके निर्धारित कार्यक्रम में फेरबदल की संभावना रहेगी। आर्थिक लेनदेन में धोखाधड़ी होगी अथवा गलत दिशा में निवेश होने की संभावना अधिक रहेगी।

सिंह (Leo): महीने की शुरुआत में नौकरी पेशा जातकों को वरिष्ठ अधिकारियों से परेशानी का सामना करना पड़ेगा जिसके कारण नौकरी में स्थानांतरण होने का योग है। किसी दूसरे स्थान पर जाने की संभावना से भी इंकार नहीं किया जा सकता है। हृदय में अशांति और सुख की चिंता रहेगी। कष्टदायक दिन हो सकता है। माता के साथ मतभेद होने से हृदय को ठेस पहुंचने का अंदेशा है। आय में भी उल्लेखनीय वृद्धि होगी। तबीयत में सुधार महसूस होगा। हालांकि, चर्मरोग की संभावना को देखते हुए स्वास्थ्य का ध्यान रखें। गंभीर बीमारी वाले लोगों को इस समय अधिक तकलीफ रहेगी। मित्रों और बड़े-बुजुर्गों का बढ़िया सहयोग मिलेगा। काम में भी भाग्य का साथ मिलता हुआ महसूस होगा। हर काम बढ़िया ढंग से पूरा कर सकेंगे। छोटी यात्रा करने के लिए अच्छा समय कहा जा सकता है। यात्रा से लाभ भी होगा। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। सरकार के साथ वाले काम में सफलता की तरफ प्रयाण करेंगे। महीने के अंतिम चरण में मित्रों से सुख में वृद्धि होगी। स्त्री मित्रों से भी आपको लाभ होता महसूस होगा। पति-पत्नी के बीच कहासुनी होने का अंदेशा है। यात्रा करने का योग है जिसमें पर्याप्त आनंद उठा सकेंगे। गलत व्यक्तियों के साथ किसी प्रकार का संबंध रखने से बचना होगा। मनमुटाव होने का प्रसंग बनेगा।

कन्या (Virgo): महीने के प्रारंभ में प्रोफैशनल मोर्चे पर आप स्थानीय स्तर के बदले दूर स्थान से हो रहे कार्यों अथवा विदेश के कार्यों में अधिक बढ़िया सफलता प्राप्त कर सकेंगे। आर्किटेक्ट्स, डिजाइनिंग, अभिनय, फैशन आदि में आपको उत्तम अवसर प्राप्त होने की संभावना है। हालांकि, बैंकिंग, शिक्षण, एकाउन्टेंसी, लेखन, साहित्य अथवा गणना से संबंधित किसी भी कार्य में आपको विपरीत स्थिति का सामना करने की तैयारी रखनी पड़ेगी। विवाह के इच्छुक व्यक्तियों के लिए योग्य रिश्ता आएगा अथवा कहीं पहले से बातचीत चल रही हो तो उसमें प्रगति दिखाई देगी। प्रोफेशनल अथवा व्यक्तिगत कारणों से छोटी यात्रा का योग बन रहा है। रोग स्थान में स्थित केतु के कारण आपको स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता रखनी होगी। विशेष रूप से ऋतुगत समस्याओं द्वाराआपको घेर लेने की संभावनाएं अधिक रहेगी। नौकरी पेशा लोगों को अहित चाहने वाले लोग परेशान कर सकते हैं। नौकरी में संभलकर चलना आपके हित में रहेगा। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य के आपके व्यय स्थान में आने से सरकारी अथवा कानूनी विवादों में पीछे हटना पड़ेगा। घर में बुजुर्गों के स्वास्थ्य की चिंता बढ़ेगी और उनके ऊपर खर्च भी होगा। इस समय अपने अहं को नियंत्रण में रखना पड़ेगा। बुध के वक्री होने से आपके विचारों में भी नकारात्मकता अधिक होगी। हालांकि, राहु के अभी से आपके ग्यारहवें स्थान में आने से आप पिछले डेढ़ वर्ष से जिस मानसिक बैचेनी, अनिद्रा और बेकार की चिंता में फंसे हुए थे उसका समाधान होगा।

तुला (Libra): महीने के प्रारंभ में आपके भाग्य स्थान में शुक्र, कर्म स्थान में सूर्य व मंगल की युति, लाभ स्थान में राहु व बुध तथा व्यय स्थान में गुरु है। वहीं धन स्थान में वक्री शनि तथा पंचम स्थान में केतु है। शुरुआत का समय आर्थिक मोर्चे पर थोड़ी खींचतान कराएगा। प्रथम सप्ताह में छोटी दूरी की यात्रा करेंगे। कामकाज में भी वृद्धि हो सकती है। मैत्री संबंधों में प्रगति होगी। दसवें सूर्य तथा मंगल पिता के साथ संबंधों में निकटता बढ़ाएगा। कामकाज क्षेत्र में वरिष्ठजनों अथवा सरकारी अधिकारियों के साथ भी आपके संबंध सुदृढ़ बनेंगे। वक्री शनि अचल तथा पैतृक संपत्ति के मामले में अवरोध उत्पन्न करेगा। परंतु बारहवें भाव में स्थित गुरु अचल संपत्ति के हिसाब तथा पैतृक संपत्ति के लिए शुभ परिणाम प्रदान करेगा। द्वितीय सप्ताह में विद्यार्थी जातक पढ़ाई पर अधिक ध्यान दे सकेंगे। महीने के मध्य का समय दांपत्य जीवन में निकटता का संकेत दे रहा है। उत्तरार्ध में सूर्य राशि बदलकर ग्यारहवें स्थान में आएगा, जबकि शुक्र दसवें स्थान में आएगा। राहु और केतु भी राशि बदलकर क्रमशः दसवें और चौथे स्थान में आगामी डेढ़ वर्ष तक भ्रमण करेगा। गुरु की छठे तथा आठवें स्थान पर दृष्टि शारीरिक तंदुरस्ती मजबूत बनाएगी। इन दिनों में वाहन चलाने में ध्यान रखें। भाग्यवृद्धि से संबंधित अवसर प्राप्त होंगे। हालांकि, आपके मानसिक तनाव में वृद्धि हो सकती है।

वृश्चिक (Scorpio): बुध आपकी राशि से दसवें में अर्थात् कर्मस्थान में राहु के साथ युति में है। बुध का राहु के साथ भ्रमण आपकी बुद्धि को भ्रमित करेगा। आपको इस समय गलत मार्ग पर चलने की खूब इच्छा होगी। विशेष रूप से कैरियर से संबंधित कोई भी निर्णय लेने में फिलहाल खूब सतर्कता रखें। जहां तक संभव हो वहाँ तक कैरियर से संबंधित कोई भी निर्णय लेने से बचें। आप किसी लालच अथवा भ्रामक बातों में फंसेंगे अथवा धोखाधड़ी का शिकार बन सकते हैं। आयात-निर्यात के कार्य में अनुकूलता रहेगी। फिलहाल, विदेश में जाने के इच्छुक जातकों की गतिविधियां तेज हो सकती हैं। स्वास्थ्य का विचार करें तो विशेष रूप से त्वचा, गुप्तभागों और जोड़ों और स्नायु के रोगों से सावधान रहें। 8 और 9 तारीख के दिन पारिवारिक मामलों में चिंताएं बढ़ेगी। महीने के मध्य में विद्यार्थी जातक अध्ययन में अधिक एकाग्रता से आगे बढ़ सकेंगे। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य आपकी राशि से दसवें स्थान में अर्थात कैरियर के स्थान में भ्रमण करेगा और राहु-मंगल के साथ युति में कर्क राशि में नौवें भाव में भ्रमण शुरू करेगा। इसके साथ केतु भी तृतीय में अर्थात् पराक्रम भाव में भ्रमण करेगा, जो आपको बहुत अधिक फायदा और नुकसान कराएगा। मंगल और राहु का भाग्य स्थान में भ्रमण आपको अचानक अपना घर छुड़ाकर जन्म स्थान से कहीं दूर ले जाएगा। व्यवसायिक मोर्चे पर निवेश या विस्तार अथवा लंबी अवधि के निवेश के विषय में भी आप फिलहाल गंभीरता से विचार करेंगे।

धनु (Sagittarius): महीने के प्रारंभ में आपके अष्टम स्थान में सूर्य और मंगल की युति, भाग्य स्थान में बुध व राहु की युति, सप्तम स्थान में शुक्र तथा कर्म स्थान में गुरु है। जन्मभूमि से दूर अथवा माता-पिता से दूर रहकर अध्ययन करने वालों को अध्ययन में खलल पड़ सकता है। हर समस्या में से बाहर निकलने के लिए आपका मन धार्मिक स्थल पर जाने के लिए प्रेरित रहेगा। शुरुआत के समय में नींद तथा आराम में व्यवधान आएगा। बुजुर्गों के ऊपर अथवा प्रोफेशनल मोर्चे पर, कानूनी अथवा सरकारी मामलों में खर्च बढ़ेगा। सट्टे संबंधी कामकाज से दूर रहने की सलाह है। दूसरे सप्ताह में प्रणय संबंधों में अनुकूलता बढ़ती महसूस होगी। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य राशि बदलकर आपके भाग्य स्थान में राहु के साथ आएगा, जबकि शुक्र अष्टम स्थान में आएगा। बुध अभी भाग्य स्थान में वक्री रहेगा। व्यापार धंधे में अभी प्रतिकूल समय का सामना करना पड़ेगा। अष्टम स्थान में मंगल और राहु की युति होने से स्वास्थ्य का ध्यान रखना होगा। अंत में इस अवधि के दौरान शुक्र का कर्क राशि में भ्रमण तथा उसके साथ राहु, मंगल आने से मानसिक तनाव में भी वृद्धि होगी। नौकरी पेशा लोगों को नौकरी धंधे में थोड़ी प्रतिकूलता महसूस होगा। उच्च अध्ययन में रुचि रखने वाले विद्यार्थियों के लिए तारीख 23 के बाद का समय बेहतर है। आग तथा पानी से दूर रहने तथा दुर्घटना से बचने के लिए विशेष सतर्कता बरतें।

मकर (Capricorn): महीने के पूर्वार्ध में 1 और 2 तारीख के दौरान आपको धन प्राप्ति होगी। व्यवसाय में आप इच्छित प्रगति कर सकेंगे। 2 तारीख के दौरान मानसिक चिंता, बेचैनी रहेगी और नींद नहीं आएगी। 3, 4 और 5 तारीख के दौरान समय अनुकूल नहीं लगेगा। पैसे संबंधी मामलों को लेकर किसी के साथ झगड़ा हो सकता है। आत्मविश्वास में कमी आएगी। सुख-सुविधा की प्राप्ति में अड़चनें आएंगी। इस समय आपको नौकरी में कामकाज के अनुसार यश, कीर्ति, मान, प्रतिष्ठा नहीं मिल सकेगी। बीमारी होने की आशंका को देखते हुए खाने-पीने में ध्यान रखें। इस सप्ताह के मध्य भाग में पारिवारिक समस्याओं में वृद्धि हो सकती है। महीने के उत्तरार्ध में 17 और 18 तारीख के दौरान कहीं बाहर घूमने-फिरने जाने की योजना बनेगी अथवा किसी मित्र से मुलाकात होगी। आप अपने लिए किसी नई वस्तु अथवा कपड़े की खरीदारी करेंगे। खर्चों के बढ़ने की संभावना है। शेयर-सट्टे में ठगे जाने की संभावना होने से इस समय शेयर बाजार में निवेश नहीं करें। 23, 24 और 25 तारीख के दौरान सरकारी कामकाज में प्रगति होगी। सामाजिक कार्यों में भाग लेंगे। यह सप्ताह आपके लिए फलदायी रहेगा, स्वास्थ्य को नजरअंदाज ना करें। महीने के अंतिम समय में संतान की तरफ से खुशी मिलेगी। मित्रों के साथ मिलना-जुलना होगा। कुल मिलाकर आनंदपूर्वक जीवन बिता सकेंगे।

कुंभ (Aquarius): महीने के प्रारंभ में पंचम स्थान में स्थित शुक्र प्रेम संबंधों में उत्तम सफलता का संकेत दे रहा है। आप कलात्मक अंदाज में प्रेम की अभिव्यक्ति करेंगे। सामने वाले पक्ष से सकारात्मक जवाब मिलने की संभावना अधिक रहेगी। हालांकि, दांपत्य संबंधों में भी तनाव और नीरसता की संभावना रहेगी। भागीदारी के कार्य में विश्वासघात की आशंका को देखते हुए किसी भी प्रकार के करार अथवा दस्तावेज पर हस्ताक्षर करते समय किसी पर आँख मूंद करके विश्वास नहीं करें। नौकरीपेशा लोग अत्यधिक उत्साह के साथ काम करेंगे। वरिष्ठ अधिकारियों की कृपा से आप अधिकांश लक्ष्यों को हासिल करके प्रगति कर सकेंगे। नए वाहन की खरीदारी अथवा पुराने वाहन के विक्रय में आपको आर्थिक लाभ होने की उम्मीद है। महीने के मध्य में सूर्य आपके सप्तम स्थान में आकर जीवनसाथी के साथ अधिक तनाव का संकेत दे रहा है। कामकाज के स्थल पर विपरीत लिंग वाले व्यक्तियों के साथ आपकी निकटता बढ़ सकती है। धार्मिक कार्य अटके हुए हों तो इस समय इसका आयोजन कर सकेंगे। महीने के अंतिम चरण में मंगल के आपके सप्तम स्थान में आ जाने से भागीदारी के कार्य में वाणी व व्यवहार पर बहुत नियंत्रण रखना पड़ेगा। नौकरी पेशा लोगों के शत्रु अपनी चालों में असफल रहेंगे। आपकी सृजनात्मकता बढ़ेंगी और विचारों में भी नवीनता रहने से अच्छी प्रगति कर सकेंगे। फुटकर कार्य में भी बढ़िया ऑर्डर प्राप्त कर सकेंगे। विदेश गमन का भी योग बनेगा।

मीन (Pisces): हाल में आपके पंचम स्थान में सूर्य व मंगल दोनों ही उग्र स्वभाव के ग्रहों के होने की वजह से विशेष रूप से संतान संबंधी चिंता अधिक होगी। प्रेम संबंधों में भी तनावपूर्ण स्थिति पैदा होने के आसार हैं। फिलहाल, शेयरबाजार में किसी भी हालत में निवेश नहीं करने की सलाह है। जल्दबाजी में निर्णय लेने की आशंका को देखते हुए आगे चलकर नुकसान हो सकता है। भाग्य का भी सीमित साथ मिलने की आशंका है। विद्यार्थी जातकों को गहन अध्ययन में रुचि होगी। बैचेनी को दूर करके मानसिक स्थिरता बनाने के लिए मेडीटेशन करने की सलाह है। नौकरी पेशा लोगों को शत्रुओं के बीच से प्रगति का मार्ग निकालना पड़ेगा। हालांकि, आपमें बौद्धिकता की मात्रा उत्तम रहने से आप कुशलतापूर्वक आगे बढ़ सकेंगे। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य राशि बदलकर छठे भाव में आएगा जो नौकरीपेशा लोगों को उच्च अधिकारियों से सहयोग और लाभ का संकेत दे रहा है। अभी राहु के आपके पंचम स्थान में आ जाने से विशेष रूप से प्रेम संबंधों में आपके साथ विश्वासघात की संभावना अधिक रहेगी। कोई भी निर्णय सोचसमझ कर ही लें। महीने के अंतिम चरण में शुक्र पंचम स्थान में आएगा जो विपरीत लिंग वाले व्यक्ति के प्रति आकर्षण बढ़ाएगा, इसलिए अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखना पड़ेगा। नौकरी पेशा लोगों को अंतिम चरण में सरकारी कार्यों में सफलता और लाभ मिलेगा। महीने के उत्तरार्ध में जिन्हें विशेष रूप से सिरदर्द, ब्लडप्रेशर, हृदय के धड़कन से संबंधित समस्याए हैं उन्हें विशेष सावधानी बरतनी होगी।

Check Also

मासिक टैरो राशिफल - Monthly Tarot predictions

अगस्त 2017 मासिक टैरो राशिफल: Dr Radha Ballabh Mishra

अगस्त 2017 मासिक टैरो राशिफल: Dr Radha Ballabh Mishra मेष : इस अवधि में हालात …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *