Home » Tag Archives: Patriotic Poems for Students

Tag Archives: Patriotic Poems for Students

4th of July Night: USA Independence Day Poetry

4th of July Night - Carl Sandburg

America’s Independence Day, also referred to as the Fourth of July or July Fourth, is a federal holiday in the United States commemorating the adoption of the Declaration of Independence on July 4, 1776. 4th of July Night: Independence Day Poem For Students The little boat at anchor in black water sat murmuring to the tall black sky A white …

Read More »

Fireworks: 4th Of July Poem For Students

Fireworks

Independence Day, also referred to as the Fourth of July or July Fourth, is a federal holiday in the United States commemorating the adoption of the Declaration of Independence on July 4, 1776. The Continental Congress declared that the thirteen American colonies regarded themselves as a new nation, the United States of America, and were no longer part of the …

Read More »

4th July Nursery Rhyme: Celebrate The Freedom

Celebrate The Freedom

Independence Day, also referred to as the Fourth of July or July Fourth, is a federal holiday in the United States commemorating the adoption of the Declaration of Independence on July 4, 1776. The Continental Congress declared that the thirteen American colonies regarded themselves as a new nation, the United States of America, and were no longer part of the …

Read More »

Chant To Netaji Subhas Chandra Bose: Ratan Bhattacharjee

Chant To Netaji Subhas Chandra Bose - An Inspirational Poetry

Subhas Chandra Bose was a most famous legendary figure and brave freedom fighter in the Indian history. His great contributions of freedom struggle are unforgettable in the history of India. He was a real brave hero of the India who had left his home and comfort forever for his motherland. He always believed in violence and chose way of an …

Read More »

रवीन्द्रनाथ टैगोर की प्रसिद्ध कविताओं का हिंदी अनुवाद

रवीन्द्रनाथ टैगोर की प्रसिद्ध कविताओं का हिंदी अनुवाद

बचपन से ही रवीन्द्रनाथ टैगोर की कविता, छन्द और भाषा में अद्भुत प्रतिभा का आभास लोगों को मिलने लगा था। उन्होंने पहली कविता आठ साल की उम्र में लिखी थी और 1877 में केवल सोलह साल की उम्र में उनकी लघुकथा प्रकाशित हुई थी। भारतीय सांस्कृतिक चेतना में नई जान फूँकने वाले युगदृष्टा टैगोर के सृजन संसार में गीतांजलि, पूरबी …

Read More »

रवीन्द्रनाथ टैगोर की लोकप्रिय कविताओं का हिंदी अनुवाद

रविन्द्रनाथ टैगोर की लोकप्रिय कविताओं का हिंदी अनुवाद

रवीन्द्रनाथ टैगोर ज्यादातर अपनी पद्य कविताओं के लिए जाने जाते है, टैगोर ने अपने जीवनकाल में कई उपन्यास, निबंध, लघु कथाएँ, यात्रावृन्त, नाटक और हजारों गाने भी लिखे हैं। टैगोर की गद्य में लिखी उनकी छोटी कहानियों को शायद सबसे अधिक लोकप्रिय माना जाता है; इस प्रकार इन्हें वास्तव में बंगाली भाषा के संस्करण की उत्पत्ति का श्रेय दिया जाता …

Read More »

जन गण मन: भारत का राष्ट्रगान – रबीन्द्रनाथ टैगोर

Rabindranath Tagore Jayanti

जन गण मन, भारत का राष्ट्रगान है जो मूलतः बंगाली में गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर (ठाकुर) द्वारा लिखा गया था। भारत का राष्ट्रीय गीत वन्दे मातरम्‌ है। राष्ट्रगान के गायन की अवधि लगभग 52 सेकेण्ड है। कुछ अवसरों पर राष्ट्रगान संक्षिप्त रूप में भी गाया जाता है, इसमें प्रथम तथा अन्तिम पंक्तियाँ ही बोलते हैं जिसमें लगभग 20 सेकेण्ड का समय …

Read More »

देश की माटी देश का जल: रबीन्द्रनाथ टैगोर

Rabindranath Tagore

देश की माटी देश का जल हवा देश की देश के फल सरस बनें प्रभु सरस बने देश के घर और देश के घाट देश के वन और देश के बाट सरल बनें प्रभु सरल बनें प्रभु देश के तन और देश के मन देश के घर के भाई-बहन विमल बनें प्रभु विमल बनें ∼ रबीन्द्रनाथ टैगोर अनुवाद – भवानी …

Read More »