Tag Archives: Hinduism Hindi Poems

करवा चौथ का चाँद: Karva Chauth Festival Poem

Karva Chauth Festival Hindi Poem करवा चौथ का चाँद

करवा चौथ का चाँद: Karva Chauth Festival Poem – ‘करवा चौथ‘ शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है, ‘करवा’ यानी ‘मिट्टी का बरतन’ और ‘चौथ’ यानि ‘चतुर्थी’। इस त्योहार पर मिट्टी के बरतन यानी करवे का विशेष महत्व माना गया है। सभी विवाहित स्त्रियां साल भर इस त्योहार का इंतजार करती हैं और इसकी सभी विधियों को बड़े श्रद्धा-भाव से …

Read More »

Navratri Poems For Students And Children

Navratri Mantra: Hindu Culture & Tradition

Navratri Poems For Students And Children: Navratri is a nine-day grand celebration in India. During these days, devotees observe fasts and worship Goddess Durga. On this occasion several kinds’ of Jagraate, community poojas, community feasts and celebrations are organized in various parts of the country. In Hindus, this festival is given immense importance and treated as a festival of the …

Read More »

Navratri Fast: Vrat Procedure For Households

Navratri Fast - Hindu Culture & Tradition

Navratri Fast: Vrat Procedure For Households – Navratri literally means ‘nine nights’ and during these nine days which mark the celebration of Durga Puja in India, different incarnations of the Goddess Shakti, Adi Shakti, or the original creator, observer and destroyer of the universe, are worshiped. The festival is an integral part of the Hindu tradition and different regions in the …

Read More »

Navratri Bhajans: Navratri Bhakti Sangeet

Navratri Bhajans: Hindu Culture & Traditions

Navratri Bhajans: Navratri Bhakti Sangeet – There are two Navratri celebrations in India. The first Navratri is called the Chaitra Navratri and the second is called Ashwin Navratri. The first one is celebrated in the month of March- April and the second is celebrated in the month of September – October according to the Gregorian calendar. The celebrations of both these …

Read More »

Navratri Aarti: Navratri Devotional Bhajans

Mahendra Kapoor Navratri Special Bhajan: Maa Jaya Aadhya Shakti

Navratri Aarti: Navratri Devotional Bhajans And Songs: India is a land of colorful and vibrant festivals. Out of the clutter of festivals, Navratri stands as a prominent occasion, celebrated by people across the length and breadth of the country. It is celebrated in different ways, though the reason is the same – to commemorate the victory of good over the …

Read More »

Navratri Date: Chaitra & Sharad Navratri Dates

Navratri Date - Hindu Culture & Tradition

Navratri Date: Navratri is an important Hindu festival, celebrated with religious fervor and great enthusiasm by the Hindus in different parts of the country. It is celebrated twice a year – in March-April (as Chaitra Navratri) and in October-November. While the ninth day of Chaitra Navratri is celebrated as Rama Navami, the festival celebrated in September-October (Sharad Navratri) commemorates the …

Read More »

हिंदूवादी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर वीर रस कविता

हिंदुवादी पीएम नरेंद्र मोदी पर वीर रस कविता

हिंदूवादी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर वीर रस कविता: गुजरात विश्वविद्यालय से राजनीति विज्ञान में स्नातकोत्तर डिग्री प्राप्त नरेन्द्र मोदी विकास पुरुष के नाम से जाने जाते हैं और वर्तमान समय में देश के सबसे लोकप्रिय नेताओं में से हैं। माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट ट्विटर (Twitter) पर भी वे सबसे ज्यादा फॉलोअर वाले भारतीय नेता हैं। उन्हें ‘नमो’ नाम से भी जाना जाता है। TIME …

Read More »

रक्षा बंधन: राखी के त्यौहार पर हिंदी बाल-कविता

रक्षा बंधन: अन्वेषा साईं

रक्षा बंधन: हिन्दू पंचांग के अनुसार प्रमुख त्योहारों में राखी का खास महत्व है। भाई-बहनों का यह त्योहार हर साल हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। रक्षाबंधन का पर्व श्रावण मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है। राखी के दिन बहनें अपने भाई की कलाई पर रक्षासूत्र बांधती हैं और भाई बहनों को उपहार देते हैं और हमेशा उनकी रक्षा …

Read More »

भये प्रगट कृपाला: तुलसीदास द्वारा रचित श्री राम स्तुति

भये प्रगट कृपाला - गोस्वामी तुलसीदास

भये प्रगट कृपाला, दीन दयाला, कौसल्या हितकारी। हरषित महतारी, मुनि मनहारी, अद्भुत रूप विचारी॥ लोचन अभिरामा, तनु घनस्यामा, निज आयुध भुज चारी। भूषन वनमाला, नयन बिसाला, सोभासिंधु खरारी॥ भये प्रगट कृपाला – भावार्थ: दीनों पर दया करने वाले, कौसल्या के हितकारी कृपालु प्रभु प्रकट हुए। मुनियों के मन को हरने वाले उनके अद्भुत रूप का विचार करके माता हर्ष से …

Read More »

गोस्वामी तुलसीदास जी के दोहे हिंदी अनुवाद के साथ

तुलसीदास जी के दोहे

गोस्वामी तुलसीदास जी के दोहे अर्थ सहित (Tulisdas Ke Dohe With Meaning in Hindi) गोस्वामी तुलसीदास (जन्म- 1532 ई. – मृत्यु- 1623 ई.) हिन्दी साहित्य के आकाश के परम नक्षत्र, भक्तिकाल की सगुण धारा की रामभक्ति शाखा के प्रतिनिधि कवि है। तुलसीदास एक साथ कवि, भक्त तथा समाज सुधारक तीनों रूपों में मान्य है। श्रीराम को समर्पित ग्रन्थ श्रीरामचरितमानस वाल्मीकि …

Read More »