Home » Tag Archives: Girl Child Stories for Students

Tag Archives: Girl Child Stories for Students

Rimjhim And Pigeon’s Eggs: Wisdom Story

Rimjhim And Pigeon's Eggs: Wisdom Story

“Mamma – mamma” – Rimjhim was screaming from the balcony. Mrs. Sharma could feel the joy and surprise in her daughter’s voice. “What happened”? she almost ran to the balcony and saw Rimjhim standing around the birds. Rimjhim was merrily clapping with loud giggle. Mamma smiled and asked – “What happened dear? You look quite happy”. “Look at that mamma” …

Read More »

Bangles On The Ears: Radhika Raman Prasad

Radhika Raman Prasad Singh

“Kiran, what have you on your ears?” “Bangles,” she said pushing aside the wayward locks from her ears. “What? Bangles on your ears?” And he saw for himself the two bangles around her ears. “Yes. Where else shall I wear them?” Bangles On The Ears: Classic Story in English Kiran was still very innocent. Not innocent as the world knows …

Read More »

हँस दी गुड़िया: आजादी पाने की चाह

हँस दी गुड़िया

शो केस पर सजी हुई रंगबिरंगी गुड़िया बहुत देर से सड़क की और देख रही थी। कितने दिन हो गए थे, उसे फ़ैक्टरी से बन कर आये हुए, पर कोई भी अब तक खरीदने नहीं आया था।काँच की दीवार में रहना उसे बिलकुल पसंद नहीं था।उसने साथ खड़े झबरीले पूँछ वाले से मोती कुत्ते से पूछा – “दुकान के सभी …

Read More »

उपकार: क्रिसमस पर बाल कहानी

उपकार Short Humorous Christmas story in Hindi

“पापा… आपको पता है ना कि परसों क्रिसमस है।”पापा ने मुस्कुराते हुए आठ साल के हैरी की तरफ़ देखा जो अपनी भूरी आँखें उनके चेहरें की ओर गड़ाए बैठा था। उसके गोरे चेहरे पर घुँघराले भूरे बाल धूप में चमकने के कारण सुनहरे लग रहे थे।उन्होंने उसे प्यार से उठाकर गोदी में बैठा लिया।हैरी लड़ियाते हुए बोला – “इस साल …

Read More »

क्रिसमस की कहानी

क्रिसमस की कहानी - Story of Christmas in Hindi

क्रिसमस एक ऐसा त्यौहार है जिसे शायद दुनिया के सर्वाधिक लोग पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं। आज यह त्यौहार विदेशों में नहीं बल्कि भारत में भी समान जोश के साथ मनाया जाता है। भारत की विविधतापूर्ण संस्कृति के साथ क्रिसमस का त्यौहार भी पूरी तरह घुल-मिल गया है। सदियों से यह त्यौहार लोगों को खुशियां बांटता और प्रेम और सौहार्द …

Read More »

क्रिसमस और सांता क्लॉज़ का तोहफा: मंजरी शुक्ला

Heart Touching Hindi Christmas Story क्रिसमस और सांता क्लॉज़ का तोहफा

बहुत समय पहले की बात हैं। एक गाँव में एक बूढ़ी औरत मारिया अपने दस वर्ष के पोते जॉर्ज के साथ रहती थी। उसने अपने बाग़ में ढेर सारे फूल जैसे चंपा, जूही, गुलाब, गेंदा, आईरिस, गुलमोहर और आर्किड लगा रखे थे और एक छोटा सा तालाब भी बनाया था जिसमें हल्के लाल और सफ़ेद रंग के कमल के फूल खिले रहते थे।वह दिन …

Read More »

नन्हें फ़रिश्ते: क्रिसमस के त्यौहार की दिल छू लेने वाली कहानी

Heart Touching Hindi Christmas Story Little Angels नन्हें फ़रिश्ते

क्रिसमस आने में सिर्फ़ दो दिन बाकी थे और हर साल की तरह पूरा शहर रौशनी में नहाया हुआ था। केक, पेस्ट्री और ताजे बिस्कुट की भीनी-भीनी महक से सबके कदम खुद ब खुद बेकरी की ओर खिंचे चले जा रहे थे। दर्ज़ी की दुकान में तो तिल रखने की भी जगह नहीं बची थी। बच्चे हो या बड़े, नए …

Read More »

क्रिसमस गिफ्ट: गरीबी में खुशी का त्यौहार

क्रिसमस गिफ्ट Inspirational Hindi Story about Christmas Gift

आज क्रिसमस का दिन था और मारिया अपनी बड़ी-बड़ी नीली आँखों से खिड़की के बाहर झाँक रही थी। उसकी आँखों में बार-बार आँसूं आ रहे थे, जिन्हें वह अपनी माँ से छिपाकर फ्राक से पोंछ रही थी। वह अभी केवल तेरह वर्ष की ही थी पर चेहरे की गंभीरता से वह बहुत बड़ी लग रही थी। उसे खिड़की पर खड़े …

Read More »

हास्यप्रद बाल-कहानी: ऐसे मना दशहरा

हास्यप्रद बाल-कहानी: ऐसे मना दशहरा

“दशहरे पर मैं रावण देखने जाऊंगी” दस साल की चित्राणी ने एलान कर दिया। “और मैं हमेशा की तरह नहीं ले जाऊँगा” पापा ने अखबार पढ़ते हुए ही जवाब दिया। “क्या हो जाएगा, अगर हम लोग रावण देखने चले जाएँगे… पूरी दुनिया तो जाती है” मम्मी ने हर साल की तरह रटा रटाया वाक्य दोहराया। मम्मी की बात पर चित्राणी …

Read More »

सआदत हसन मंटो की विवादास्पद कहानी: खोल दो

सआदत हसन मंटो की विवादास्पद कहानी: खोल दो

अमृतसर से स्पेशल ट्रेन दोपहर दो बजे चली और आठ घंटों के बाद मुगलपुरा पहुंची। रास्ते में कई आदमी मारे गए। अनेक जख्मी हुए और कुछ इधर-उधर भटक गए। सुबह दस बजे कैंप की ठंडी जमीन पर जब सिराजुद्दीन ने आंखें खोलीं और अपने चारों तरफ मर्दों, औरतों और बच्चों का एक उमड़ता समुद्र देखा तो उसकी सोचने-समझने की शक्तियां …

Read More »