Tag Archives: Fatigue Poems for Children

माँ की ममता: मातृ दिवस पर हिंदी कविताएँ

माँ की ममता - Mother's Day Special Hindi Bal Kavita

माँ की ममता जब मैं छोटी बच्ची थी, माँ की प्यारी दुलारी थी, माँ तो हमको दूध पिलाती, माँ भी कितनी भोली-भाली। माखन-मिश्री घोल खिलाती, बड़े मज़े से गोद में सुलाती, माँ तो कितनी अच्छी है, साड़ी दुनिया उसमें है। ∼ सुप्रीता झा

Read More »

मेरी माँ: प्रभगुन सिंह Short Hindi Poem on Mother

मेरी माँ - प्रभगुन सिंह - Short Hindi Poem on Mother

माँ से मैंने हँसना सीखा, माँ से गाना गाना। माँ से सीखा गिरकर उठना, आगे बढ़ते जाना। माँ ने अक्षर-ज्ञान कराया, मुझको पहली बार, जग से प्यारी, सबसे न्यारी, मेरी प्यारी-प्यारी माँ। इसलिए तो मैं करता हूँ। अपनी माँ से प्यार। ~ प्रभगुन सिंह (एल.के.जी.) St. Gregorios School, Sector 11, Dwarka, New Delhi – 110075

Read More »

माँ तो माँ होती है Mother’s Day Hindi Poem

माँ तो माँ होती है - ओम प्रकाश बजाज

मम्मी – अम्मी – अम्मा – माता – माम्, कुछ भी बुलाओ माँ तो माँ होती है। अपने बच्चों पर जान देती है, उनके लिए हर कष्ट सहती है। अपनी कोख से जन्म देती है, उन पर वारी – वारी जाती है। पाल पोस कर बड़ा करती है, गीले में सो कर सूखे में सुलाती है। माँ का आदर सदा …

Read More »

मेरी प्यारी माँ: Mother’s Day Special Bal Kavita

मेरी प्यारी माँ तू कितनी प्यारी है

मेरी प्यारी माँ तू कितनी प्यारी है जग है अंधियारा तू उजियारी है शहद से मीठी हैं तेरी बातें आशीष तेरा जैसे हो बरसातें डांट तेरी है मिर्ची से तीखी तुझ बिन ज़िंदगी है कुछ फीकी तेरी आंखो में छलकते प्यार के आंसू अब मैं तुझसे मिलने को भी तरसूं माँ होती है भोरी भारी सबसे सुन्दर प्यारी प्यारी

Read More »

माँ: दिल छू जाने वाली हिंदी कविता

माँ - दिल छू जाने वाली हिंदी कविता

मै तेरा गुनेहगार हूँ माँ मै तुझे भूल गया उन झूठे रिश्तो के लिए जो मैंने बाहर निभाए उन झूठे नातो के लिए जो मेरे काम ना आये मै तेरा गुनेहगार हूँ माँ बॉस के कुत्ते को कई बार डॉक्टर को दिखाना पड़ा पुचकार कर उसे खुद अपना हाथ भी कटवाना पड़ा पर तेरा चश्मा न बनवा पाया तुझे दवा …

Read More »

मां, मेरी मां, प्यारी मां मम्मा: कैलाश खेर का दसविदानिया फिल्म से गीत

मां, मेरी मां, प्यारी मां मम्मा - कैलाश खेर Hindi Film Song on Mother

Dasvidaniya (दसविदानिया) is a Bollywood film released on 7 November 2008. The name of the movie is a pun on the list of ten things to be done before death made by Vinay Pathak, and is a play on the Russian phrase до свидания (do svidaniya), meaning good bye. Amar Kaul (Vinay Pathak) is a 37-year-old accounts manager at a …

Read More »

माँ: अनिल शर्मा की मातृ दिवस स्पेशल हिंदी कविता

माँ - अनिल शर्मा

Mother is the most lovable and adorable person. No love can exceed or even match the love of a mother for her child. She is the best trainer and guide of her child, no less than God, always the first person whom we think of in our happy and not so happy times. She has been blessed with the power …

Read More »

माँ का रूप: माँ पर विद्यार्थियों और बच्चों के लिए हिंदी कविता

माँ का रूप - शाहीन अवस्थी Mother's Day Special Hindi Poem

हर एक के जीवन में माँ एक अनमोल इंसान के रुप में होती है जिसके बारे शब्दों से बयाँ नहीं किया जा सकता है।ऐसा कहा जाता है कि भगवान हर किसी के साथ नहीं रह सकता इसलिए उसने माँ को बनाया हालाँकि माँ के साथ कुछ महत्वपूर्ण क्षणोँ को वर्णित किया जा सकता है। एक माँ हमारे जीवन की हर …

Read More »

माँ भूखी रहती है: माँ पर हिंदी कविता

माँ भूखी रहती है Mother's Day Special Hindi Poem

इस दुनिया में किसी भी चीज को माँ के सच्चे प्यार और परवरिश से नहीं तौला जा सकता। वो हमारे जीवन की एकमात्र ऐसी महिला है जो बिनी किसी मंशा के अपने बच्चे को ढ़ेरा सारा प्यारा परवरिश देती है। एक माँ के लिये बच्चा ही सबकुछ होता है। जब हम मजबूर होते है तो वो हमेशा जीवन में किसी …

Read More »

My Role: Inspirational Poem On Builders And Labour

My Role - Inspirational Poem On Builders & Labour

Labour in India refers to employment in the economy of India. In 2012, there were around 487 million workers in India, the second largest after China. Of these over 94 percent work in unincorporated, unorganized enterprises ranging from pushcart vendors to home-based diamond and gem polishing operations. The organised sector includes workers employed by the government, state-owned enterprises and private …

Read More »