Tag Archives: Courage Hindi Quotations

जवाहरलाल नेहरु के अनमोल विचार विद्यार्थियों के लिए

जवाहरलाल नेहरु के अनमोल विचार Jawaharlal Nehru Quotes in Hindi

पूरा नाम: जवाहरलाल मोतीलाल नेहरु जन्म: 14 नवम्बर 1889 जन्मस्थान: इलाहाबाद (उत्तर प्रदेश, भारत) पिता: मोतीलाल नेहरु माता: स्वरूपरानी नेहरु शिक्षा: 1910 में केब्रिज विश्वविद्यालय के ट्रिनटी कॉलेज से उपाधि संपादन की। 1912 में ‘इनर टेंपल’ इस लंडन कॉलेज से बॅरिस्ट बॅरिस्टर की उपाधि संपादन की। विवाह: कमला के साथ (1916 में) जवाहरलाल नेहरु के अनमोल विचार जवाहरलाल नेहरु के …

Read More »

भगत सिंह के अनमोल वचन विद्यार्थियों के लिए

भगत सिंह के अनमोल वचन

अमर शहीद सरदार भगत सिंह (जन्म: 28 सितंबर, 1907, लायलपुर, पंजाब – मृत्यु: 23 मार्च, 1931, लाहौर, पंजाब) का नाम विश्व में 20वीं शताब्दी के अमर शहीदों में बहुत ऊँचा है। भगत सिंह ने देश की आज़ादी के लिए जिस साहस के साथ शक्तिशाली ब्रिटिश सरकार का मुक़ाबला किया, वह आज के युवकों के लिए एक बहुत बड़ा आदर्श है। भगत सिंह …

Read More »

स्वतंत्रता पर अनमोल वचन विद्यार्थियों और बच्चों के लिए

स्वतंत्रता से जुड़े कुछ अनमोल वचन

स्वतंत्रता पर अनमोल वचन विद्यार्थियों और बच्चों के लिए: जब कभी भी हम 15 August का नाम सुनते है तो हमारे अन्दर देशभक्ति की लहर दौड़ जाती है और हमारा सीना गर्व से ऊँचा हो जाता है। यह होना स्वाभाविक है क्योंकि 15 अगस्त के दिन ही सन 1947 को हमारा देश अंग्रेजो की गुलामी से आजाद हुआ था। वास्तविक स्वतन्त्रता क्या होती …

Read More »

देशभक्ति उद्धरण विद्यार्थियों और बच्चों के लिए

Famous Patriotism Hindi Quotes देशभक्ति उद्धरण

देशभक्ति उद्धरण विद्यार्थियों और बच्चों के लिए: देशभक्ति का तात्पर्य अपने देश के साथ प्रेम करना है। यह मानव के हृदय में जलने वाली ईश्वरीय ज्वाला है जो अपनी जन्म भूमि को अन्य सभी से अधिक प्यार करने की शिक्षा देती है। देशभक्त अपने देश के लिए बड़े से बड़े त्याग करने के लिए आतुर रहते हैं और अपनी मातृभूमि के …

Read More »

माँ और मातृत्व पर उद्धरण विद्यार्थियों और बच्चों के लिए

माँ और मातृत्व पर उद्धरण - Famous Hindi Quotes on Mother & Motherhood

माँ और मातृत्व पर उद्धरण विद्यार्थियों और बच्चों के लिए: माँ एक अनुभूति, एक विश्वास, एक रिश्ता नितांत अपना सा। गर्भ में अबोली नाजुक आहट से लेकर नवागत के गुलाबी अवतरण तक, मासूम किलकारियों से लेकर कड़वे निर्मम बोलों तक, आँगन की फुदकन से लेकर नीड़ से सरसराते हुए उड़ जाने तक, माँ मातृत्व की कितनी परिभाषाएँ रचती है। स्नेह, …

Read More »