Tag Archives: Children Stories for Children

हास्यप्रद बाल-कहानी: ऐसे मना दशहरा

हास्यप्रद बाल-कहानी: ऐसे मना दशहरा

“दशहरे पर मैं रावण देखने जाऊंगी” दस साल की चित्राणी ने एलान कर दिया। “और मैं हमेशा की तरह नहीं ले जाऊँगा” पापा ने अखबार पढ़ते हुए ही जवाब दिया। “क्या हो जाएगा, अगर हम लोग रावण देखने चले जाएँगे… पूरी दुनिया तो जाती है” मम्मी ने हर साल की तरह रटा रटाया वाक्य दोहराया। मम्मी की बात पर चित्राणी …

Read More »

सआदत हसन मंटो की विवादास्पद कहानी: खोल दो

सआदत हसन मंटो की विवादास्पद कहानी: खोल दो

अमृतसर से स्पेशल ट्रेन दोपहर दो बजे चली और आठ घंटों के बाद मुगलपुरा पहुंची। रास्ते में कई आदमी मारे गए। अनेक जख्मी हुए और कुछ इधर-उधर भटक गए। सुबह दस बजे कैंप की ठंडी जमीन पर जब सिराजुद्दीन ने आंखें खोलीं और अपने चारों तरफ मर्दों, औरतों और बच्चों का एक उमड़ता समुद्र देखा तो उसकी सोचने-समझने की शक्तियां …

Read More »

Janmashtami: Story of Lord Krishna’s birth

Janmashtami: Story of Lord Krishna's birth

Old King Ugrasena of Mathura (Uttar Pradesh, India) had two children, Prince Kamsa and Princess Devaki. While King Ugrasena was a good king, Prince Kamsa was a ruthless tyrant. Now Princess Devaki was to wed a nobleman named Vasudeva. Kamsa out of the love he bore for his sister decided to be the bride and groom’s charioteer for the day. …

Read More »

Three Ms for Freedom: Story of Young Freedom Fighters

India Independence Images, Struggle for Freedom Stock Photos

“Chandu wait. Let’s celebrate our victory,” Abdul requested. “I’ll just be back – I must tell Baba the news. It was his training that helped me win against the New English School Giants in the Kabaddi finals,” screamed Chandu. “I know, it was your stamina and speed that really worked,” Abdul said, “Thanks to Baba.” Chandu rushed home, “Baba, Baba! …

Read More »

Kabuliwala: Bengali short story written by Rabindranath Tagore

Kabuliwala - Rabindranath Tagore Classic English Short Story

My five years’ old daughter Mini cannot live without chattering. I really believe that in all her life she has not wasted a minute in silence. Her mother is often vexed at this, and would stop her prattle, but I would not. To see Mini quiet is unnatural, and I cannot bear it long. And so my own talk with …

Read More »

विश्व स्वास्थ्य दिवस पर विशेष बाल कहानी: बंटी की दादी

विश्व स्वास्थ्य दिवस पर विशेष

ना जाने कहाँ छुपा बैठा हैं ये, रोज का इसका यह तमाशा हैं… आवाज़ लगा लगा कर तो मेरा गला दुःख गया हैं… मीनू उसे ढूंढते हुए बगीचे तक आ गई थी। आम के पेड़ के पीछे छुपे बैठे तीन साल के बंटी को देखकर मीनू का गुस्सा सातवे आसमान पर पहुँच गया था। उसने ना आव देखा ना ताव …

Read More »